Home Jhabua युथ कांग्रेस जिलाध्यक्ष एवं जिपं सदस्य विजय भाबर ने ग्राम नाहरपुरा में...

युथ कांग्रेस जिलाध्यक्ष एवं जिपं सदस्य विजय भाबर ने ग्राम नाहरपुरा में स्थित प्राथमिक एवं माध्यमिक स्कूल में आकस्मिक पहुंचकर व्यवस्थाएं देखी

51
0

बच्चों से चर्चा कर उनकी समस्याएं जानी 

झाबुआ। राकेश पोद्दार। वैसे तो झाबुआ जिले में कई बड़े-बड़े नेताओ का बोलबाला भोपाल से दिल्ली तक रहा है और झाबुआ को कई पहचान भी दिलवाई है।
उसी को आगे बढ़ाते हुए झाबुआ विधानसभा के कुंदनपुर क्षेत्र से जिला पंचायत सदस्य एवं युथ कांग्रेस के जिलाध्यक्ष विजय भाबर लगातार उनके क्षेत्र में सक्रिय है। सुबह से ही प्लानिंग बनाकर अपने क्षेत्र के कस्बों और गांवों में निकल पड़ते है और क्षेत्र की जनता की समस्याएं प्राथमिकता से सुनकर उनके निराकरण की पहल करते है। विजय भाबर अपनी सरल और साफ छवि के कारण युवाओ में काफी लोकप्रिय है। साथ ही आम जनता से उनका सीधा संबाद और जनता की सेवा में हमेशा हाजिर रहने की छवि के चलते वह लगातार एक अच्छे जनप्रतिनिधि के रूप में प्रसिद्धी हासिल कर रहे है। जिपं सदस्य विजय भाबर बताते है कि उन्हें काफी अच्छा लगता है कि जब लोग उन्हें खुलकर अपने गांव और क्षेत्र की समस्या बताते है और उनके निराकरण की पहल कर उन्हें काफी सुकुन की अनुभूति होने के साथ आत्मीयता का अहसास होता है।

चित-परिचत अंदाज में ली स्कूली बच्चों की क्लास, स्कूल की समस्याएं जानी
जिला पंचायत सदस्य विजय भाबर 7 दिसंबर, मंगलवार दोपहर अपने क्षेत्र के गांव नाहरपुरा के शासकीय प्राथमिक और माध्यमिक विद्यालय में पहुंचे। यहां उन्होंने व्यवस्थाएं देखी और बच्चों से भी बात की। प्राइमरी स्कूल में बच्चों के बैठने के लिए फर्नीचर नहीं थे। टाटपट्टी पर बच्चे बैठे थे। यहां कक्षा की छत से सरिये झांक रहे थे। स्कूल बनने के बाद से इसका जीर्णोद्धार नहीं किया गया। यहां श्री भाबर ने बच्चों की स्वयं क्लास लेते बच्चों से पूछा – खाना मिलता है या नहीं … ? बच्चे बोले, मिलता तो है, लेकिन रोज बैंगन की सब्जी … ! युवा नेता एवं जनप्रतिनिधि ने शिक्षकों से कहा, सब्जी अलग-अलग दिया करिये। श्री भाबर ने बोर्ड पर अपना नंबर लिखा और बच्चों से कहा, ये नोट कर लो। किसी भी चीज की जरूरत हो, कॉपी, किताब चाहिए तो मुझे फोन करना। साथ ही बच्चों से उनके जनरल नाॅलेज संबंधी प्रष्न भी किए, जिनका बच्चों ने सटिक जवाब दिया।
जिला प्रषासन पर लगाया लापरवाही का आरोप
युकां अध्यक्ष एवं जिपं सदस्य विजय भाबर ने पत्रकारों से चर्चा में बताया कि जिले के अधिकांष गांवों में आज सरकारी स्कूलों में आदिवासी बच्चों के बैठने तक की समुचित व्यवस्था नहीं है। बच्चे षिक्षा ग्रहण करना चाहते है, लेकिन उन्हें स्कूलों में प्र्याप्त सुविधाएं नहीं मिल रहीं है। अव्यवस्थाओं एवं लापरवाही का बोलबाला है। जिला प्रषासन, आदिम जाति कल्याण विभाग, जिला षिक्षा विभाग सहित अन्य विभागों के अधिकारियों की मिलीभगत से ठेकेदारो द्वारा कभी ड्रेस घोटाला, कभी खिलोने में तो कभी एमडीएम में भ्रष्टाचार की षिकायते लगातार सामने आती रहंीं है। कहीं स्कूलों के भवन जर्जर है तो कहीं बिजली सुविधा नहीं है, तो कहीं स्टाॅफ का अभाव। आगामी मार्च माह में बच्चों की परीक्षा है, कई स्कूलों में शासन की योजना के तहत आदिवासी विकास विभाग एवं षिक्षा विभाग की ओर से बच्चों को अब तक छात्रृवत्ति, गणवेष एवं स्टेषनरी सामग्रीयां आदि भी प्रदाय नहीं की गई है। युवा कांग्रेस नेता एवं जनप्रतिनिधि विजय भाबर ने चेतावनी स्वरूप कहा कि यदि जिले में जल्द ही षिक्षा के स्तर में सुधार नहीं आया, तो युथ कांग्रेस के बेनर तले कलेक्टर कार्यालय का घेराव कर उग्र प्रदर्षन किया जाएगा। साथ ही लापरवाह एवं भ्रष्ट अधिकारियों पर सख्त कार्रवाई की भी मांग की जाएगी।