Home Kolkatta बीरभूम में CBI की रेड, BJP समर्थक की हत्या के आरोप में...

बीरभूम में CBI की रेड, BJP समर्थक की हत्या के आरोप में TMC कार्यकर्ता के बेटे को किया गिरफ्तार

49
0
फाइल फोटोः पश्चिम बंगाल में हिंसा, सीबीआई, हाईकोर्ट.

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव बाद हिंसा मामले (West Bengal Post Poll Violence) में एक बीजेपी कार्यकर्ता की हत्या की जांच के लिए सीबीआई (CBI) की टीम ने बीरभूम जिले के मल्लारपुर थाने के कोर्ट गांव में सुबह करीब साढ़े चार बजे भारी संख्या में केंद्रीय बल के साथ पहुंची और आरोपी टीएमसी कार्यकर्ता के घर पर रेड मारी. जाकिर हुसैन नामक बीजेपी कार्यकर्ता की हत्या की जांच के लिए सीबीआई की टीम सोमवार सुबह बीरभूम के कोर्ट गांव पहुंची और आरोपी के बेटे को गिरफ्तार कर लिया. दूसरी ओर, हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ ममता सरकार (Mamata Government) की याचिका के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट  (Supreme Court) में अब 24 सितंबर को सुनवाई होगी. सुप्रीम कोर्ट ने सभी पक्ष से हलफनामा देने के लिए कहा है.

 

बता दें कि हाईकोर्ट के आदेश के बाद सीबीआई पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के बाद हिंसा के मामलों की जांच कर रही है और इस मामले में तीन दर्जन से अधिक एफआईआर दर्ज कर चुकी है और कई मामलों में चार्जशीट भी फाइल कर चुकी है. सीबीआई की टीम विभिन्न इलाकों में जाकर आरोपियों को गिरफ्तार कर रही है.

 

 

इस बीच, राज्य सरकार की ओर से हिंसा के मामले की सीबीआई जांच के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिका की सोमवार को सुनवाई हुई. राज्य सरकार के वकील कपिल सिब्बल ने कहा कि रेप और हत्या समेत पूरे मामले की जांच सीबीआई को सौंप दी गई है. अदालत ने पूछा कि क्या सीबीआई और एसआईटी अलग-अलग जांच कर रही हैं. सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि हम इस संबंध में 28 सितंबर को सभी पक्षों के ब्योरे पर सुनवाई करेंगे. SC ने कहा कि सभी पक्षों को इस संबंध में हलफनामा और दस्तावेज जमा करने होंगे. हम इस मामले पर अंतिम सुनवाई करेंगे. शुक्रवार तक शपथ पत्र व दस्तावेज जमा करने के निर्देश दिया गया है.

 

बीजेपी कार्यकर्ता की हत्या के आरोप में सीबीआई ने एक को किया गिरफ्तार

दूसरी ओर, बीरभूम मेंं सीबीआई अधिकारियों ने एक-एक कर 13 आरोपियों के घर पर रेड मारी. सीबीआई के घर पहुंचते ही फाजिया काजी नाम का आरोपित घर से फरार हो गया. उसकी पत्नी और बेटे से काफी देर तक पूछताछ की गई. बाद में आरोपी के बेटे आलमगीर काजी को सीबीआई गिरफ्तार कर ले गई. इस दिन सीबीआई के अधिकारियों ने कई गुटों में बंटकर जांच की. प्रत्येक दल में केंद्रीय बल के जवान भी थे. जब विशाल केंद्रीय बल और सीबीआई के अधिकारी गांव पहुंचे, तो इलाके में दहशत और दहशत फैल गई. बता दें कि बीजेपी कार्यकर्ता जाकिर हुसैन की आठ मई को कोर्ट गांव में हत्या कर दी गई थी. बाजार से घर जाते समय बीजेपबी बूथ कार्यकर्ता को गांव के फर्श के पास सड़क पर पीटा गया. काफी देर तक वह खूनी हालत में सड़क पर पड़ा रहा. स्थानीय लोगों ने उसे बचाया और रामपुरहाट मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया. बाद में वहां उसकी शारीरिक स्थिति बिगड़ गई. 16 मई को कलकत्ता जाते समय उनकी मृत्यु हो गई. हाईकोर्ट के निर्देश पर सीबीआई ने घटना की जांच शुरू कर दी है.