Home Jhabua ईसाइ धर्म से हमे कोई विरोध नही है हमारा विरोध विधि विरोध...

ईसाइ धर्म से हमे कोई विरोध नही है हमारा विरोध विधि विरोध धर्मान्तरण करने को लेकर है- आजाद प्रेमसिंह

100
0

विश्व हिन्दू परिषद् के आह्वान पर व्यापारी संगठन के द्वारा एक दिवसीय अपने प्रतिष्ठान बंद रखा गया

झाबुआ। राकेश पोद्दार। विश्व हिन्दू परिषद् के नेतृत्व में झाबुआ स्थित चर्च को लेकर अवैध बताया गया। जिसमे कैथोलिक डायोसिस चर्च द्वारा 25 मार्च को लोकार्पण कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। जिसे लेकर हिन्दू संगठन द्वारा 23 मार्च को स्थानीय सांई मंदिर पर एक प्रेस काॅफ्रेन्स आयाजित कर 24 एवं 25 मार्च को अवैध चर्च लोकार्पण को लेकर विरोध प्रदर्शन किया एवं उसके लोकार्पण के कार्यक्रम को स्थगित करने की मांग जिला प्रशासन के समक्ष रखी है। वही इस विरोध में 24 मार्च 2023 शुक्रवार को सकल व्यापारी संगठनो से चर्चा कर एक दिवसीय अपने प्रतिष्ठान भी बंद रखने का आव्हान किया है।

सर्व हिन्दू संगठन के प्रेमसिंह द्वारा बताया गया कि झाबुआ स्थित कैथोलिक डायोसिस द्वारा जो मिशन स्कूल प्रांगण में चर्च का निर्माण किया गया है वह पूर्ण रूप से अवैध निर्माण है जो कि मप्र भू राजस्व संहिता की धारा 165 (क) का सीधा सीधा उल्लंघन है। जिसे लेकर पूर्व में भी कई बार जिला प्रशासन सहित पुलिस प्रशासन को अवगत कराया गया है। उनका कहना है कि वही ईसाइ समुदाय के पास उक्त चर्च निर्माण के कोई पुख्ता दस्तावेज भी उपलब्ध नही है। उन्हे यह जमीन लीस पर शैक्षणिक कार्य के लिए दी गई थी ना कि धार्मिक स्थल के निर्माण के लिये। यह पूर्ण रूप से अवैध है। ऐसे में संपूर्ण हिन्दु संगठन के लोगो के द्वारा इसका जोर शोर से विरोध प्रदर्शन किया जा रहा हैं। 25 मार्च 2023 को उक्त चर्च के लोकार्पण कार्यक्रम से ईटली के विदेशी लोगो राजदूत को बुलाया जा रहा है जिसकी हम इसका विरोध करते है।
हिन्दू संगठन द्वारा 24 मार्च शुक्रवार को स्थानीय बस स्टैण्ड पर धर्मसभा कर उक्त चर्च को लेकर एवं विधि विरोध धर्मान्तरण को लेकर जिला प्रषासन की ओर से एसडीएम को ज्ञापन सौपा गया। बहुसंख्यक आदिवासी समाज की मांग यदि पूरी नही होने पर विश्व हिन्दू परिषद् बजरंग दल के नेतृत्व में सर्व हिन्दु समाज एवं संगठन जिम्मेदारो का पुतला दहन किया गया। वही 24 मार्च को नगर के व्यापारियो से शांतिपूर्ण बंद कर समर्थन किया गया। साथ ही 25 मार्च को संपूर्ण हिन्दू संगठन रोड पर आकर इसका कडा विरोध प्रदर्शन किया जाएगा। वही चर्च पर आने वाले दोनो मुख्य मार्ग विजय स्तम्भ एवं बस स्टैण्ड चैराहो पर सर्व हिन्दु समाज एकत्रित हो जाएगा। यदि किसी भी प्रकार की अप्रीय परिस्थिति बनती है या शांति भंग होती है तो संपूर्ण जवाबदारी शासन प्रशासन की रहेगी।