Home Madhya Pradesh पिता के शव को नहीं छू सकी बेटी, तस्वीर से लिपट फूटफूट...

पिता के शव को नहीं छू सकी बेटी, तस्वीर से लिपट फूटफूट कर रोने लगी

23
0

इंदौर। उज्जैन के नीलगंगा थाना टीआई यशवंत पाल का इंदौर में ही रामबाग मुक्तिधाम में अंतिम संस्कार किया गया।उनका परिवार भी इंदौर ही रहता है। आरआई जयसिंह तोमर के मुताबिक 59 वर्षीय यशवंत पाल की पत्नी मीना धार में तहसीदार है। दो बेटी फाल्गुनी और नीशा रजत जयंती कॉम्प्लेक्स विजयनगर में ही रहती है। निधन की सूचना मिलने पर उज्जैन संभाग आइजी राकेश गुप्ता,एसएसपी सचिन अतुलकर व इंदौर एसपी (मुख्यालय) सूरज वर्मा भी पहुंचे।

जैसे ही उनका शव मुक्तिधाम पहुंचा परिजन अंतिम दर्शन की जिद करने लगे। अफसर और परिजनों ने उनकी तस्वीर पर फूलचक्र अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। इस दौरान बड़ी बेटी तस्वीर से लिपट कर फूटफूट कर रोने लगी।

31 मार्च को हत्या के आरोपितों को पकड़ा था

टीआइ पाल मूल रूप से गांव सातोड़ तहसील खकनार (बुरहानपुर) के रहने वाले थे। नीलगंगा थाने पर वे 6 नवंबर 2019 को पदस्थ हुए थे।इससे पहले उज्जैन जिले में वे माकड़ोन, तराना, घट्टिया सहित अन्य थानों पर सेवाएं दे चुके थे। 31 मार्च को थाना क्षेत्र में हुई हत्या के मामले में भी टीआइ ने जांच की और आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया था।

अब तक नहीं आई परिवार की रिपोर्ट

एएसपी रूपेश द्विवेदी ने बताया कि टीआइ के कोरोना पॉजिटिव आने के बाद पत्नी व दोनों पुत्रियों को उज्जैन में ही एक होटल में क्वारंटाइन किया गया था।दोनों के सैंपल लिए गए थे, मगर दोनों की ही जांच रिपोर्ट अब तक नहीं आई है। इस संबंध में स्वास्थ्य अधिकारियों से चर्चा की थी।

थाना परिसर में दी श्रद्धांजलि

पाल की मृत्यु के समाचार से पुलिस महकमे में शोक छा गया। आइजी राकेश गुप्ता, डीआइजी मनीष कपूरिया, एसपी सचिन अतुलकर इंदौर के रामबाग मुक्तिधाम पहुंचे और श्रद्धांजलि अर्पित की, वहीं नीलगंगा थाने पर भी शहर के अन्य पुलिस अधिकारियों, स्टाफ ने श्रद्धासुमन अर्पित किए। श्रद्धांजलि सभा के दौरान एक महिला पुलिसकर्मी रो पड़ी।

पत्नी मीना पाल धार में नजूल तहसीलदार

टीआइ पाल की पत्नी मीना पाल धार में नजूल तहसीलदार हैं। हालांकि वे डेढ़ -दो माह से अवकाश पर हैं। इसके पूर्व वे सरदारपुर में तहसीलदार थीं। वहां से धार तबादला किया गया था। दो बेटियां 22 वर्षीय फाल्गुनी और 20 वर्षीय ईशा पढ़ाई करती हैं।