Home Jhabua 15 नवंबर को भोपाल में होने वाला जनजाति महाकुंभ जनजाति समाज की...

15 नवंबर को भोपाल में होने वाला जनजाति महाकुंभ जनजाति समाज की तस्वीर और तकदीर बदलने वाला साबित होगा – सांसद जीएस डामोर

92
0

देष के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी दोपहर 1 से 2 बजे तक भोपाल से पूरे भारत को करेंगे संबोधित

संसदीय क्षेत्र से करीब 25-30 हजार लोगों की रहेगी सहभागिता

झाबुआ। राकेश पोद्दार। नगर संवाददाता। 15 नवंबर को मप्र की राजधानी भोपाल में होने वाला जनजाति समाज का महाकुंभ निष्चित तोर पर उक्त समाज की तकदीर और तस्वीर बदलने वाला साबित होगा। 15 नवंबर को जनजाति समाज के लिए संपूर्ण देश में यशस्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी उक्त समाज के उत्थान और विकास के लिए कई नई योजनाओं और नए प्रकल्पों को प्रारंभ करंेगे। साथ ही मप्र के मुख्यमंत्री के निर्देश पर ही 15 नवंबर से सिकल सेल अभियान, पूरे प्रदेष में बैकलांगों के लिए पदों पर भर्ती सहित कई नए कार्यों को अमलीजामा पहनाया जाएगा।
उक्त बात 12 नवंबर, शुक्रवार शाम 5 बजे से भाजपा जिला कार्यालय पर आयोजित पत्रकारवार्ता मंे रतलाम-झाबुआ-आलीराजपुर सांसद गुमानसिंह डामोर ने कहीं। क्षेत्रीय सांसद श्री डामोर ने बताया कि 15 नवंबर को मप्र के लिए वह ऐतिहासिक दिन होगा, जब राजधानी भोपाल में लाखों की संख्या में जनजाति समाज के लोग एकत्रित होकर अपनी संस्कृति एवं परंपरा को प्रदर्शित करते हुए अपने परिवेश में ढोल-मांदल आदि के साथ सम्मिलित होंगे। इस महाकूंभ में प्रधानमंत्री श्री मोदी के साथ मप्र के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चैहान सहित कई अन्य केंद्र एवं मप्र सरकार के मंत्री और वरिष्ठ भाजपा नेता-पदाधिकारी शामिल होकर जनजाति समाज के विकास और उत्थान पर इस दौरान चर्चा की जाएगी और कई ऐतिहासिक निर्णय भी लिए जाएंगे।
राशन आपके द्वार योजना का होगा शुभारंभ
सांसद श्री डामोर ने आगे बताया कि मप्र के मुख्यमंत्री श्री चैहान के निर्देश पर ही अब प्रतिवर्ष 15 नवंबर को शासकीय अवकाश घोषित किया गया है। पूरे प्रदेष में 15 से 22 नवंबर तक जनजाति गौरव सप्ताह मनाया जाएगाा। इस दौरान सत्त कार्यक्रमों का दौर चलेगा। राषन आपके द्वार योजना का शुभारंभ होगा। जिसके माध्यम से पात्र हितग्राहियांे को घर बैठे निःशुल्क राशन प्राप्त होगा। इसके साथ ही सिकल सेल अभियान वृहद पैमाने पर चलाया जाएगा। जिसमें समाज के ऐसे लोग जो इस तरह की जानलेवा और खतरनाक बिमारी से ग्रसित है, उनके उपचार की समस्त व्यवस्था रहेगी। वनाधिकार कानून लागू होगा। जिसमें पात्र हितग्राहियों को वन अधिकार पट्टे प्राप्त होंगे। देवालय योजना का भी शुभारंभ किया जाएगा। जिसके माध्यम से जनजाति समाज के देवी-देवताआंे और पूर्वजों से समाज के लोग भलीभांत परिचित हो सकेंगे। साथ ही पूर्व कमलनाथ सरकार में जनजाति समाज के लिए बंद की गई योजनाएं भी पुनः प्रारंभ की जाएगी।
आने-जाने एवं भोजन की व्यवस्था रहेगी निःशुल्क
सांसद ने बताया कि मप्र मंे 1 लाख बैकलांग पदांे पर समाज के लोगों की भर्ती की जाएगी। जिससे उन्हें रोजगार मुहैया हो सकेगा। इस महा-आयोजन की तैयारियांें के बारे में बताया कि संसदीय क्षेत्र में कुल 160 बसों और अन्य वाहनांे के माध्यम से समाज के लोगांे को भोपाल ले जाने एवं पुनः लाने की व्यवस्था रहेगी। वहीं सभी के लिए भोजन की व्यवस्था भी निःषुल्क रहेगी। इसके लिए प्रत्येक ब्लाॅक में प्रभारी भी बनाए गए है। इस महाकंुभ मंें झाबुआ जिले से करीब 10 हजार, आलीराजपुर से 4 हजार और रतलाम से 6 हजार समाज के लोग सहित अन्य भाजपा, अजजा मोर्चा के पदाधिकारी-कार्यकर्ताआं आदि करीब 25 हजार लोग पूरे ससंदीय क्षेत्र से सम्मिलित हांेगे।
कांग्रेस के समस्त आरोपो को नकारा
सांसद श्री डामोर ने कांग्रेस पर इस महाकंुभ के नाम पर राषि के दुरूपयोग एवं तमाम आरोपों की भी खारिज करते हुए कहा कि अब मप्र और देश की जनता ने कांग्रेस को पूरी तरह से नकार दिया है। कांग्रेस मप्र और देश में पूरी तरह अस्तित्वविहीन हो चुकी है। पत्रकारवार्ता मंें विशेष रूप से भाजपा जिलाध्यक्ष लक्ष्मणसिंह नायक, भाजपा के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य एवं पूर्व भाजपा जिलाध्यक्ष ओमप्रकाश शर्मा भी उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन भाजपा जिला मीडिया प्रभारी योगेन्द्र नाहर ने किया। आभार भाजपा आईटी सेल के जिला संयोजक अर्पित कटकानी ने माना।