Home Jhabua उधान की भूमि पर 165 की मंजूरी देकर भू-माफियाओं को खुला संरक्षण...

उधान की भूमि पर 165 की मंजूरी देकर भू-माफियाओं को खुला संरक्षण दे रहा राजस्व विभाग – पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं झाबुआ विधायक कांतिलाल भूरिया

156
0

पत्रकारवार्ता में विधायक श्री भूरिया ने भाजपा सरकार पर लगाए कई संगीन आरोप
तबादला नीति, बेरोजगारी, भारी भरकम बिजली बिल और खाद-बीज नहीं मिलने का उठाया मुद्दा

झाबुआ।राकेश पोद्दार। नगर संवाददाता। मप्र में भाजपा सरकार सत्ता के नशे में चूर है तथा कानून व्यवस्था का सरासर उल्लंघन कर रही है। साथ ही ध्वज संहिता का भी अपमान कर रहे है। पूरे भारत सहित प्रदेश और झाबुआ जिले में भी भय का माहौल पैदा किया जा रहा है। भाजपा नेताओं से आम जनता परेशान है। जिले में भाजपा नेताओं द्वारा प्रोटोकाॅल का उल्लधन करना तथा तबादला उद्योग चलाने का कार्य किया जा रहा है। बेरोजगारी, आम बात हो गई है। विगत 2 वर्षों से बेरोजगारों के लिए मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना अंतर्गत बैंकों में सब्सिडी नहीं डाली जा रही है। जिससे बेरोजगार युवा अपने खुद के व्यवसाय के लिए ऋण हेतु बैंकों के चक्कर लगा रहे है। सरकारी भूमि पर कब्जा कर बेची जाना आदि जैसे कार्य किया जा रहा है। भाजपा को जनता की परेशानियों से कोई मतलब नहीं है।
उक्त आरोप स्थानीय गोपाल काॅलोनी स्थित विधायक कार्यालय पर आयोजित पत्रकारवार्ता में पूर्व कंेद्रीय मंत्री एवं झाबुआ विधायक कांतिलाल भूरिया ने लगाए। श्री भूरिया ने आरोप लगाते हुए आगे कहा कि 15 अगस्त पर प्रोटोकाल का उल्लघंन हुआ। भाजपा के सांसद एवं जिला अध्यक्ष मंच पर सलामी लेने पहुंच गए। साथ ही संासद परेड निरीक्षण के वाहन में भी प्रभारी मंत्री के साथ पहुंच गए। कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक द्वारा भी उन्हे कोई समझाईश नहीं दी, जबकि सांसद एक बड़े शासकीय पद से सेवा निवृत्त हुए है, उन्हे भी प्रोटोकाॅल नहीं मालूम। वहीं भाजपा अध्यक्ष केवल अपनी नेतागीरी चमकाने पर लगे है, जबकि उनके चाल चरित्र से जिले सहित पूरा प्रदेश वाकिफ है।
राष्ट्रीय ध्वज का अपमान हो रहा, मनमाने तरीके से करवाएं जा रहे स्थानांतरण
पूर्व मुख्यमंत्री कल्याणसिंह की मृत्यु पर राष्ट्रीय ध्वज का प्रधानमंत्री की मौजूदगी में अपमान हुआ। राष्ट्रीय ध्वज के ऊपर भाजपा पार्टी का ध्वज लगाया गया। वहीं मप्र के आगर में राष्ट्रीय ध्वज के ऊपर भाजपा का झंडा फहराया गया। ऐसे में ध्वज सहिता का उल्लघंन का केस भाजपा नेताओं पर दर्ज होना चाहिए। जिले में तबादला उद्योग जोरो पर ह। मनमाने तरिके से स्थानांतरण किए जा रहे है। साथ ही स्वैच्छिक स्थानांतरण के बडी मात्रा में भाजपा नेताओं द्वारा लेन-देन किया जा रहा है। भाजपा के लोगों ने भाजपा समर्थक कार्यकर्ताओं के परिवार के सदस्यों के भी स्थानांतरण कर दिए। जिसमें उनमें भी आपकी विवाद हो रहे है।यह सब पैसों के लिए किया जा रहा है। एक सांसद प्रतिनिधि ने 168 नाम स्थानांतरण हेतु प्रेषित किए है, जिसमें यह विचारणीय होगा कि कुल कितने प्रस्ताव भाजपा नेताओं ने दिए होगें।
भारी भरकम बिजली बिल एवं रोजगार की कमी बन रहीं परेशानी
विधायक श्री भूरिया ने आगे कहा कि जिले में महिलाओं एवं विकलांग कर्मचारियों को भी नहीं बक्शा गया है। उनके भी स्थानांतरण दूरस्थ स्थल पर कर दिए गए है, केवल बदले की भावना से स्थानांतरण किए गए है। शासन के नियमों एवं स्थानांतरण नीति का सरासर उल्घंन किया गया है। जिले में अधिकारीयों पर अनावश्यक दबाव डालकर स्थानान्तर हेतु धमकियां दी जा रही है। आज शासकीय कर्मचारी परेशान नजर आ रहा है। भारी भरकम वाली राषि के बिजली बिल किसान, आदिवासी एवं आमजनता को दिए जा रहे है, जबकि बिजली का इस समय कम उपयोग हो रहा है। ऐसे समय अधिक बिल आना नहीं चाहिए, आम जनता परेशान है। ग्राम पंचायतों में रोजागर की कमी है। किसी प्रकार के काम नहीं चल रहे है सरपंच एवं ग्रामीण जनता परेशान है। पेयजल हेतु हैंडपंप नहीं लगाए जा रहे है। मनमानी से लगाए जा रहे है। महंगाई भी चरम पर है। पेट्रोल, डीजल, गैस सिलेंडर और खाद्य सामग्रीयों के निरंतर बढ़ते भाव आमजन एवं मध्यम वर्ग की कमर तोड़ रहे है।
165 के तहत नियम विरूद्ध दी जा रहं जमीन की अनुमति
विधायक ने आगे कहा कि उचित मूल्य दुकानों पर निःशुल्क राशन वितरण में भारी गडबडी चल रही है। केंद्रीय एवं राज्य स्तरीय योजना का राशन हितग्राहियों को मिलना चाहिए, परंतु इसमें भी बहुत बड़ा घोटाला किया जा रहा है। योजना को कोई देखने वाला नहीं है यदि ईमानदारी से जांच की जावे तो बहुत बडा घोटाला सामने आएगा। जिले में भू-माफियाओं का भी बडा खेल चल रहा है। राजस्व अधिकारीयों की मिलीभगत से उद्यानों की भूमि पर 165 के अंतर्गत अनुमति दी जा रही है। जमीनों पर राजैनितिक दबाव से नियम विरूद्व कार्रवाई कर शासन को नुकसान पहुंचाया जा रहा है।
किसान खाद बीज और बेरोजगार योजनाओं के लाभ से वंचित
जिले में किसान खाद के लिए परेशान है। वही युवा बेरोजगारी से परेशान है, उन्हे किसी प्रकार का रोजगार प्रदान नहीं किया जा रहा है। शि़क्षकों की पात्रता परीक्षा उत्तीर्ण करने के पश्चात भी नौकरी नहीं दी जा रही है। वहीं मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजनांतर्गत ऋण की सब्सिडी नहीं आ रही है जिससे बैक द्वारा बेरोजगारों को आगामी ऋण देने में कठिनाई आ रही है तथा उन्हे मंहगा ब्याज से पैसा प्राप्त हो रहा है। पत्रकारवार्ता में मुख्य रूप से जिला कांग्रेस अध्यक्ष निर्मल मेहता, जिला कोषाध्यक्ष प्रकाश रांका, संभागीय कांग्रेस प्रवक्ता साबिर फिटवेल, युवक कांग्रेस जिलाध्यक्ष विजय भाभर, ग्रामीण अध्यक्ष देवेन्द्रप्रसाद अग्निहोत्री बंटू, शहर अध्यक्ष गौरव सक्सेना, पिछडा वर्ग के विशाल राठौर, जितेन्द्र शाह सहित अनेक कांग्रेसी पदाधिकारी मौजूद थे।