Home Jhabua झाबुआ मे खेलो का महाकुम्भ युवाओ के लिए प्रोत्साहन का केन्द्र बन...

झाबुआ मे खेलो का महाकुम्भ युवाओ के लिए प्रोत्साहन का केन्द्र बन गया है- पुलिस अधीक्षक अगम जैन

12
0

झाबुआ ओलंम्पिक का हुआ समापन 18 अप्रैल से शुरू हुआ जे पी एल

झाबुआ। राकेश पोद्दार। सामाजिक महासंघ झाबुआ के तत्वाधान मे गत 6 दिनो से आयोजित किए जा रहे टंट्या मामा खेल महोत्सव के अंतर्गत झाबुआ ओलंम्पिक का पुरूस्कार वितरण समारोह के दौरान समापन हो गया।


इस अवसर पर झाबुआ जिला पुलिस अधीक्षक अगम जैन ने कहा कि जिले के युवाओ को एकजुट करने का माध्यम हमेशा से ही खेल रहा है। ओलंम्पिक के रूप में विभिन्न खेलो को शामिल कर जिले की खेल प्रतिभाओ को एक अचित मंच प्रदान करना काबिले तारीफ है। खेलो के माध्यम से ना केवल हमारा शरीर स्वस्थ्य रहता है बल्कि युवा चाहे तो अपना अपना कैरियर भी खेलो मे बनाकर अपना भविष्य सुरक्षित कर सकते है। लंबे वर्षो बाद झाबुआ ओलंम्पिक का आयोजन होना खेलो के भविष्य के लिये सुखद खबर है। इस आयोजन के लिए पुलिस अधीक्षक जैन ने सामाजिक महासंघ की प्रशंसा भी की। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में पद्मश्री रमेश परमार एवं उनकी पत्नी श्रीमती शांति परमार , आत्म निर्भर भारक के राष्ट्रीय संयोजक ओम शर्मा, डाॅ लोकेष दवे, डाॅ चारूलता दवे, लायंन्स क्लब रतलाम के अध्यक्ष हिम्मत सिंह पुरोहित, भू अभिेलख अधिकारी सुनिल राणा, समाजसेवी अशोक शर्मा, राजु पाटीदार उपस्थित थें
इस अवसर पर ओम शर्मा ने कहा कि खेलो के माध्यम से सभी के मन मे सामाजिक समरसता उत्पन्न की जा सकती है। यह खेल ही है जो हमको एक दूसरे से जोडता है।
कार्यक्रम के पूर्व पुरूष वर्ग एवं महिला वर्ग के विजेता एवं तृतीय स्थान के लिए कबड्डी का मैच खेला गया। जिसे दुधिया रोशनी मे शहर की जनता ने एकाग्रचीत होकर निहारा। तीसरे स्थान के लिये कन्या महाविद्यालय एवं नवीन छात्रावास के बीच जबर्दस्त मुकाबतला हुआ। जिसमें नवीन छात्रावास को तीसरे स्थान से संतुष्ट होना पडा। वही फायनली मुकाबला उ मा विद्यालय रोटला एवं कन्या महाविद्यालय के बीच खेला गया जिसमें उमा वि रोटला विजेता रही। पुरूष वर्ग कबड्डी में तीसरे स्थान पर आजाद क्लब धाबउपाडा रही। फायनल मे बजरंग क्लब राणापुर एवं स्टार एकेडमी झाबुआ के बीच कांटे का मुकाबला दर्शको ने देखा। जिसमें स्टार एकेडमी झाबुआ विजेता रही।

आयोजन में इसी तरह 15 अप्रैल को बेटमिटन के भी फायनल खेले गए जिसमें महिला वर्ग के सिंगल में भावना भूरिया प्रथम मिताली त्रिवेदी द्वितिय रही। डबल्स में भावना भूरिया मिताली त्रिवेदी प्रथम एवं नताशा एवं माया द्वितिय रही। मिक्सडबल्स में दिनेश श्रीवास्तव, भावना भूरिया प्रथम एवं दिलीप कुशवाह, नताशा द्वितिय रहे। वही पुरूषो में सिंगल मे सार्थक मेहता प्रथम एवं हर्ष गादिया द्वितिय रहे। डबल्स मुकाबले मे सार्थक मेहता, पुष्पेन्द्र भूरिया प्रथम एवं दिलीप कुशवहा , डाॅ राहुल गणावा द्वितिय स्थान पर रहे। 35 प्लस में औपन के लिए दिलीप कुशवाह, डाॅ राहुल गणावा प्रथम एवं दिनेश श्रीवास्तव , जगदीश भाबर द्वितिय रहे। 15 अप्रैल को ही स्थानीय डीआपी लाईन के फुटबाल मैदान पर फायनल मुकाबला एंजल क्लब झाबुआ एवं रातीतलाई क्लब के बीच खेला गया। जिसमें एंजल क्लब ने रोमांचक जीत दर्ज कराई।

पुरूस्कार वितरण समारोह में झाबुआ ओलंम्पिक के दौरान खेले गए 16 खेलो जिनमें कबड्डी, फुटबाल, बैटमिंटन ,तीरदांजी, पांवर लिफ्ंिटग, दौड-400 मीटर, 1600 मीटर, 5000 मीटर , भाला फेक, गोला फेक, हैण्डबांल, मुक्केबाजी, केरम , शतरंज, टेबल टेनिस एवं अन्य खेलो के खिलाडियो को पुरूस्कार देकर सम्मानित किया गया।
समापन अवसर पर सामाजिक महासंघ के अध्यक्ष नीरजसिंह राठौर एवं सचिव उमंग सक्सेना ने बताया कि झाबुआ ओलंम्पिक के 16 खेलो मे जिले के लगभग 850 खिलाडियो ने भागीदारी कर अपना अपना कौशल दिखाया है। अगला जिला ओलंम्पिक एक साल बाद 2024 मे ठंड के मौसम के कराया जाएगा। उनमे लगभग 40 खेलो को शामिल किया जाएगा। इस अवसर पर तीरंदाजलीी एसोसिएषन के अध्क्ष मनोज बाबेल, जैन सोश्यल गु्रप के अध्यक्ष पंकज मोगराख् हाथीपावा मोर्निग क्लब के अध्यक्ष कमलेश पटेल, सामाजिक महासंघ महिला ईकाइ की अध्यक्षा श्रीमती शीतल जादौन, हरिप्रीया निगम, प्रफुल्ल शर्मा, निलिमा चैहान, डाॅ किराड, डाॅ सावंत, हरिश लाला शाह आम्रपाली, विनोद जायसवाल, सुनिल चैहान, नलिन पाठक , हार्दिक अरोडा, एम एल फुलपगारे, अमजद खान विशेष रूप से उपस्थित थे। जे पी एल का आगाज 18 अप्रैल से शुरू हो जाएगा।

इनका रहा योगादान
इस पुरे आयोजन में खेलो से जुडे जिले के प्रमुख कुलदीप धबई, नरेश पुरोहित, जगत शर्मा, राकेश भूरिया, उदय बिलवाल, अमजद खान, मनोज पाठक, सुशील बाजपेयी, संतोष परमार, हरिश गोयल, जीमी निर्मलख् राजा चैहान, मोनू डांगी, अवधेश शर्मा, वैभव सुराना, प्रफुल्ल शर्मा, सैफाली मसीह, संजय शाह, दिलीप कुशवाह, मनोज बाबेल, दिनेश खराडी, जयंति परमार, राकेश गुंडिया, पार्वती किराड, योगेश गुप्ता, मुकेश बैरागी, भागीराि सतोगिया, पीडी रायपुरिया, गणेश उपाध्याय, सहित सभी लोगो का महत्वपूर्ण योगदान रहा जिनका पुरूस्कार वितरण समारोह में पुष्पहारो से स्वाका किया गया। अंत मे कार्यक्रम का आभार शरद शास्त्री द्वारा माना गया।