Home Jhabua राष्ट्रीय शिक्षा नीति वेबिनार में दर्शनशास्त्र के महत्व पर हुई चर्चा

राष्ट्रीय शिक्षा नीति वेबिनार में दर्शनशास्त्र के महत्व पर हुई चर्चा

120
0

झाबुआ।राकेश पोद्दार। नगर संवाददाता। भारतीय शिक्षण मंडल एवं अंबेडकर यूनिवर्सिटी महू के संयुक्त तत्वाधान में राष्ट्रीय वेबिनार का गूगल मिट पर आयोजन किया गया। जिसमें राष्ट्रीय शिक्षा नीति के विषयों के अंतर्गत दर्शनशास्त्र के महत्व को दर्शाते हुए विद्वान वक्ताओं ने अपने-अपने विचार रखे।
इस राष्ट्रीय स्तर के वेबिनार में भारतीय शिक्षण मंडल की संरक्षक एवं जिला-सह संयोजक डॉ. अर्चना राठौर को बाबा अंबेडकर यूनिवर्सिटी द्वारा विशेष रूप से सहभागिता करने हेतु आमंत्रित किया गया। अर्चना राठौर, फिलहाल मुंबई में है, किंतु वहीं से उन्होंने झाबुआ जिले का प्रतिनिधित्व करते हुऐ सहभागिता की। ऑनलाइन कार्यक्रम का प्रारंभ भारतीय शिक्षण मंडल के संयोजक नरेश मिश्रा के ध्येय वाक्य द्वारा किया गया। अंबेडकर यूनिवर्सिटी की उप-कुलपति आशा शुक्ला ने समस्त अतिथियों और वेबिनार में उपस्थित सहभागी सदस्यों का स्वागत अत्यंत ही आत्मीय उद्बोधन के द्वारा किया। अतिथि विद्वान वक्ताओं में डॉ. डीके वर्मा, डॉ. किस्मतकुमार, डॉ शैलेष, डॉ. ऋषिकांत पांडे, श्रीप्रकाश पांडे, तथा मुख्य अतिथि कुसुम कुमारी द्वारा उद्बोधन दिया गया। जिसमें सभी ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति के में दर्शन शास्त्र के महत्व को प्रतिपादित करते हुए शिक्षकों के महत्व पर प्रकाश डाला। सभी वक्ताओं का कहना था कि शिक्षकों से अगर शिक्षा का ही कार्य लिया जाए तो हमारे देश की शिक्षा में विद्यार्थियों का भविष्य सुरक्षितः है एवं देश को विश्व गुरु बनाए जाने की संकल्पना को धरातल स्थल पर किया साकार किया जा सकता है। वक्ताओं ने दर्शनशास्त्र के नियमों और उससे समाज पर होने वाले प्रभावों पर भी प्रकाश डाला। गूगल मीट प्लेटफार्म पर होने वाले इस वेबिनार का आयोजन कार्यक्रम समन्वयक मनोज द्वारा किया गया।
अध्यक्षीय भाषण में आशा शुक्ला उप-कुलपति अंबेडकर विश्वविद्यालय ने समस्त वक्ताओ द्वारा दिए गए प्रेरणादायी एवं समीक्षक वयक्तवयों की समालोचना की। साथ ही प्रोफेसर अनुपमा मोदी के पति संजय मोदी के आकस्मिक निधन पर सभी ने 2 मिनट का मौन रखकर उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की। अंत में पुनः भारतीय शिक्षण मंडल संयोजक नरेश मिश्रा ने कल्याण मंत्र के वाचन के साथ वेबीनार का समापन किया। आभार समन्वयक संजय ने माना।