Home Jhabua टंट्या मामा खेल महोत्सव- जे पी एल पहला दिन झाबुआ जनजातिय कार्य...

टंट्या मामा खेल महोत्सव- जे पी एल पहला दिन झाबुआ जनजातिय कार्य विभाग- ’ए’ की टीम विजेता एवं जनजातिय कार्य विभाग -’बी’ की टीम उपविजेता रही

32
0

प्रोत्साहन करने पहुचे पुलिस अधीक्षक

झाबुआ। राकेश पोद्दार। सामाजिक महासंघ झाबुआ के तत्वाधान में टंट्या मामा खेल महोत्सव के अंतर्गत झाबुआ ओलंम्पिक के समापन के बाद 18 अप्रैल से झाबुआ प्रीमियर लीग रात्री कालीन 10 दिवसीय टेनिस बाल क्रिकेट प्रतियोगिता की शुरूआत हो गयी है।

इस प्रतियोगिता की सबसे खास बात यह रही कि पहले दिन 18 अप्रैल को महिला सशक्तिकरण को बढावा देने के लिए दुधिया रोशनी मे पहली बार कुल 4 टीमो के बीच 3 मैच खेले गये। सभी मुकाबले काफी रोचक रहे। जिसमें जनजातिय कार्य विभाग- ’ए’ की टीम विजेता एवं जनजातिय कार्य विभाग -’बी’ की टीम उपविजेता रही। जिन्हे ट्राफिया प्रदान कर पुरूस्कृत किया गया।

जानकारी देते हुये सामाजिक महासंघ के अध्यक्ष नीरज सिंह राठौर एवं महासचिव उमंग सक्सेना ने बताया कि जिले में कुपोषित बच्चो की सेवा के लिए आयोजित किए जा रहे जे पी एल की शुरूआत महिला सशक्तिकरण को बढावा देने से की गई। इस आयोजन मे 44 महिला खिलाडी ने भाग लिया। इसकी खासियत यह थी कि मंच पर अतिथि महिला, खिालाडी महिला, कामेन्टेटर महिला थी केवल दर्शक पुरूष थे।
कार्यक्रम का उद्घाटन मुख्य अतिथि नगर पालिका अध्यक्ष कविता सिंगार एवं मप्र स्त्री संगठन की प्रदेश अध्यक्ष किरण शर्मा ने खिलाडियो से परिचय प्राप्त कर किया। इस अवसर पर विशेष रूप से, गुड मोर्निग क्लब की अध्यक्ष प्रफुल्ल शर्मा, रोटरी इन्हरव्हील क्लब शक्ति की अध्यख रीतू सोडानी, सकल व्यापरी संघ महिला ईकाइ की अध्यक्ष कुंता सोनी, समाजसेवी रोटेरियन अर्चना सिसौदिया, सोनी समाज की चंचला सोनी, एवं राजपूत समाज की ममता पंवार विशेष अतिथि के रूप मे मौजूद थी। इन सभी का स्वागत सामाजिक महासंघ की महिला ईकाइ की अध्यक्ष श्रीमती शीतल जादौन द्वारा पुष्प हार से किया गया। इस दौरान चारो टीमो के कप्तानेा का भी पुष्प हारो से स्वागत किया गया।

सामाजिक महांसघ के उपाध्यक्ष हरिश लाला शाह आम्रपाली एवं सुनिल चैहान ने बताया कि 10 दिवसीय जे पी एल मे प्रथम विेजेता टीम को समाजसेवी जावेद लाला की ओर से एक लाॅख रूपये का नगद पुरूस्कार देकर सम्मानित किया जाएगा। इस बार खेलो मे महिलाओ की भागीदारी बढाने के लिए विशेष प्रयासा किए जा रहे है। जिससे जिले की महिलाओ को आगे बढने का मौका मिल सकेगा।
इस अवसर पर मुख्य अतिथि नगर पालिका अध्यक्ष कविता सिंगार ने महिला सशक्तिकरण के लिए किए जा रहे सामाजिक महासंघ के प्रयासो की जमकर तारीफ करते हुए कहा कि ऐसे आयोजनो से महिलाओ को हौसला मिलेगा व वह भी पुरूषो के भांति खेलो मे आगे बढकर परिवार एवं जिले का नाम रोशन कर सकती हैं।
मप्र भारतीय स्त्री शक्ति संगठन की श्रीमती किरण शर्मा ने कहा कि महिलाओ के लिए ऐसे मंच उपलब्ध कराना ही सबसे बडी उपलब्धी है। इससे जिले की महिलाओ को आसानी से आगे बढाया जा सकता है।
प्रोत्साहन के लिये पहुचे पुलिस अधीक्षक
सामाजिक महांसघ उपाध्यक्ष अशोक शर्मा एवं अजय रामावत ने बताया कि महिला सशक्तिकरण को बढावा देने के लिए पुलिस अधीक्षक अगम जैन भी दूसरे मैच में उत्कृष्ट विद्यालय मैदान पहुचकर खिलाडियो को प्रोत्साहित करने पहुचे। पुलिस अधीक्षक ने ना केवल आधा घंटा मैच देख व मैदान मे पहुचकर महिला खिलाडियो से परिचय प्राप्त करते हुए सभी का हौसला भी बढाया। अगम जैन ने कहा कि वास्तव मे ऐसे आयोजो से ही महिलाओ को आगे बढाने मे मदद की जा सकती है। खेलो के माध्यम से सभी स्वस्थ्य भी रह सकते है। हमे हमेशा मैदान मे उतरकर खेलो पर ध्यान देना चाहिए।
आयोजन के दौरान तीन मैच खेले गए
प्रथम मैच जनजातिय कार्य विभाग ए व महाविद्यालय झाबुआ के बीच खेला गया। जिसमें जनजातिय कार्य विभाग रोमांचक मुकाबले मे 6 विकेट से जीत दर्ज की। दूसरे मैच में जनजातिय कार्य विभाग बी की अीम का मुकाबला गुडमार्निंग क्लब से हुआ जिसमें जनजातिय कार्य विभाग बी ने मुकाबल जीता। फायनल मैच जनजातिय कार्य विभाग ए एवं बी के बीच खेला गया। जिसमें ए ने बी को 15 रनो से परास्त कर ट्राफी पर पहली बार अपना कब्जा कर लिया। 19 अप्रैल से युवाओ का महाकुभ जबर्दस्त उत्साह के साथ पुरूष वर्ग के मैच शुरू हो जाएगे।
इस आयोजन मे कमलेश पटेल, हार्दिक अरोडा, मनोज सोनी, संजय कांठी, हिमांशु त्रिवेदी, नवीन पाठक, मनोज पाठक, अर्पित तिवारी, कुलदीप धबई, अमजद खान, नरेश पुरोहित, पी डी रायपुरिया, सुनिल चैहान, योगेश गुप्ता, विनोद बढई, गजेन्द्र चन्द्रावत, लाला कप्तान, नजरू मेडा, सहित बडी संख्या मे समाजसेवी ने अपनी अपनी सेवाए प्रदान कर रहे है।