Home Jhabua पुलिस अधीक्षक अगम जैन द्वारा किया गया ग्रामीणो से संवाद

पुलिस अधीक्षक अगम जैन द्वारा किया गया ग्रामीणो से संवाद

12
0

दहेज दापा के विरुद्ध ग्रामीणों का शंखनाद

झाबुआ। राकेश पोद्दार। जिले में चल रही दहेज दापा प्रथा के विरुद्ध कई नगरों में इस प्रथा को समाप्त करने के लिए ग्रामीणों की बैठकें आयोजित की गई जिसका परिणाम आशानुकूल नहि रहा। जो इस प्रथा के विरोध में थे उन्होंने काफी मशक्कत और मेहनत की पर दापा प्रथा के प्रेमियों ने ग्रामीण युवाओं की मेहनत पर पानी फेर दिया।
ऐसे ही युवा साथी मुकेश सोलंकी,कालू टोकरियां,रत्ना भाई रकसिंग भाबोर जैसे अनेक युवाओं ने पूर्व में इस प्रथा को समाप्त करने का भरसक प्रयास किया और आज भी कर रहे हे। पुलिस अधीक्षक आगम जैन के द्वारा थाना परिसर राणापुर में ग्राम के सरपंच ,तड़वी और गणमान्य ग्रामीणों की बैठक ली गई जिसमें सभी लोग उपस्थित हुए और गांव में होने वाले शादी विवाह व दहेज दापा के संबंध में चर्चा की गई । सभी ने गांव में चल रही परंपरा को सुधार करने के लिए दहेज को कम करना तथा भांगड़ी प्रथा में होने वाली कार्रवाई में भी अंकुश लगाना तथा तथा शादी में डीजे बजने को लेकर भी विस्तृत चर्चा की गई।
सरपंच कालू टोकरियां,और मुकेश सोलंकी ने बहुत ही सुंदर चर्चा करते हुए प्रस्ताव रखे की जब अपनी लड़की कही चली जाती है तो लड़की वाले आक्रामक रूप अख्तियार कर लेते है,ऐसे में धन हानि तो होती है पर कभी कभी जन हानि भी हो जाती है।बाद में तोड़ कर लिया जाता है और एक दूसरे के समधी बन जाते हे। तो हमारे भाइयो को चाहिए की पांच दस लोग लड़के वाले के घर जाकर ही प्रेम से मशला हल करले। राणापुर की गुजरी,पानी की टँकी और मंडी के आस पास सेकड़ो लोग तोड़ करते हे इस प्रथा पर पुलिस द्वारा तत्काल पाबन्दी लगाने की मांग की। इन्होंने कहा कि हमारा समाज दिन दूनी तरक्की करे यही हमारा निवेदन है। हम फालतू के अनावश्यक खर्च पर अंकुश लगाये। रात्रि में पूरी रात तेज आवाज में डीजे बजता हे और नाचने वाले 15-20 से ज्यादा नहि होते ऐसे में पूरी रात के व्यय से बचने के लिए रात 11 बजे डी जे पर पूर्ण प्रतिबंध लगा दिया। यदि उलघन किया तो डी जे जप्त कर लिया जायेगा।
कार्यक्रम में पुलिस अधीक्षक आगम जैन, टी आई संजय रावत एव स्टाप के साथ बालु भूरिया, नागरसिंग भूरिया,आदि सेकड़ो सरपंच,तड़वी साहेबान उपस्थित थे।