Home Bhopal Sudan Civil War: सूडान में छिड़े गृह युद्ध में फंसा भोपाल का...

Sudan Civil War: सूडान में छिड़े गृह युद्ध में फंसा भोपाल का जयंत, मां ने PM मोदी से लगाई गुहार; कहा मेरे लाल को बचाएं | Bhopal news Jayant trapped in civil war in Sudan mother pleads PM Modi

9
0
Sudan Civil War: सूडान में छिड़े गृह युद्ध में फंसा भोपाल का जयंत, मां ने PM मोदी से लगाई गुहार; कहा- मेरे लाल को बचाएं

Bhopal News: सूडान के गृहयुद्ध में फंसे भोपाल के व्यापारी जयंत को बचाने के लिए उसकी मां ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से गुहार लगाई है. उसने बताया कि वह लगातार संपर्क करने का प्रयास कर रहे हैं, लेकिन सरकार की ओर से कोई रिस्पांस नहीं मिला है.


भोपाल: सूडान में छिड़े गृहयुद्ध में मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल का रहने वाल 23 वर्षीय जयंत केवलानी भी फंस गया है. वहां हालात लगातार खराब होते जा रहे हैं. ऐसे में जयंत ने अपने परिजनों को सरकार से गुहार लगाने की अपील की है. वहीं उसके द्वारा भेजे वीडियो और तस्वीरें देखने के बाद जयंत की मां तमन्ना केवलानी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपने बेटे को बचा लेने की अपील की है. तमन्ना केवलानी ने बेटे के अलावा सूडान में फंसे अन्य भारतीयों को भी रेस्क्यू करने की अपील की है.

उन्होंने बताया कि वह लगातार सरकार से संपर्क करने का प्रयास कर रही हैं, लेकिन अभी तक सरकार ने उनसे कोई संपर्क नहीं किया है.
तमन्ना केवलानी ने बताया कि उनका 23 वर्षीय बेटा जयंत व्यापारी है और व्यापार से संबंधित काम से ही वह पिछले महीने 4 मार्च को सूडान गया था. उन्होंने बताया कि सूडान से उनकी लगातार बात हो रही है. कल भी बात हुई थी. उन्होंने वहां के कुछ वीडियो और तस्वीरें भेजी हैं.

इनसे पता चलता है कि वहां हालात कितने खराब हैं. तमन्ना केवलानी ने बताया कि सूडान में एयरपोर्ट को बर्बाद किया जा चुका है. पेट्रोल पंप पर बम फेंक कर उड़ा दिया गया है. ऐसे हालात को जानकर और देखकर पूरा परिवार डरा हुआ है. तमन्ना केलवानी ने इस संबंध में TV9 भारतवर्ष से बातचीत की. उन्होंने पीएम मोदी से अपील करते हुए कहा कि केवल जयंत ही नहीं, बड़ी संख्या में भारतीय नागरिक सूडान में फंसे हैं.

ये भी पढ़ें: सूडान में छिड़े गृहयुद्ध में फंसे हजारों भारतीय, जानें क्या हैं वजह

इन सभी को सुरक्षित भारत लाया जाना जरूरी है. उन्होंने बताया कि इसी संबंध में उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ से भी मुलाक़ात की है. उन्होंने बताया कि अब वह लगातार केंद्र सरकार, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्रालय से संपर्क करने का प्रयास कर रहे हैं. ट्वीटर और अन्य माध्यमों से मदद की गुहार की जा रही है.

ये भी पढ़ें: सूडान में भिड़े मिलिट्री और अर्द्धसैनिक बल, कई नागरिकों की हुई मौत

लेकिन अभी तक सरकार की ओर से किसी ने भी उनकी सुध लेने की कोशिश नहीं की है. तमन्ना केवलानी ने कहा कि उन्होंने सोशल मीडिया के जरिए प्रधानमंत्री मोदी से भी मदद के लिए आग्रह किया है. उन्होंने कहा कि इस मामले में तत्काल मदद की जरूरत है. देरी करने पर वहां जान माल का काफी नुकसान हो सकता है.