Home Indore MP: पश्चिम बंगाल रवाना हुए लोग बोले- लॉकडाउन में भी इंदौरियों से...

MP: पश्चिम बंगाल रवाना हुए लोग बोले- लॉकडाउन में भी इंदौरियों से इनता प्यार मिला, कभी नहीं भूल पाएंगे

39
0

इंदौर. इंदौर-बर्धमान (पश्चिम बंगाल) के लिए मंगलवार को एक श्रमिक एक्सप्रेस ट्रेन इंदौर के प्लेटफॉर्म-1 से रवाना हुई। ट्रेन में 1500 यात्री सवार थे, जो लॉकडाउन के कारण दो महीने से ज्यादा समय से इंदौर में फंसे हुए थे। इंदौर के अलावा रतलाम, खंडवा, देवास, धार समेत अन्य जिलों से भी लोग पश्चिम बंगाल जाने के लिए स्टेशन पहुंचे। अपने घर रवाना होने से पहले सभी ने इंदौरियों और प्रदेश सरकार को धन्यवाद कहा। उन्होंने कहा- लॉकडाउन में भी इंदौर में इतना प्यार मिला, कभी नहीं भूल पाऊंगा। ट्रेन का स्टॉपेज दुर्गापुर में भी है। ट्रेन में पंजीकृत श्रमिकों को ही जिला प्रशासन द्वारा बनाई लिस्ट के अनुसार भेजा गया है। फ्लेटफार्म नंबर एक से रवाना हुई इस ट्रेन में सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए श्रमिकों को ट्रेन में सवार किया गया।

यात्रियों को खाना और पीने का पानी देकर रवाना किया गया।

दो महीने से इंदौर में फंसा था, यहां के लोगों ने बहुत प्यार दिया
नदिया के रहने वाले राजकुमार विश्वास ने घर रवाना होने के पहले इंदौरियों और प्रदेश सरकार को धन्यवाद दिया। प्रदेश सरकार ने हमारे लिए बहुत अच्छा काम किया है। उनकी वजह से हम अपनी अपनी फैमली से मिल पा रहे हैं। यह हमारे लिए यह बहुत बढ़ी बात है। इंदौर को मैं कभी नहीं भूल पाऊंगा। यहां के लोगों ने हमें जो प्यार दिया, उसे मैं कभी नहीं भूल पाऊंगा। उन्होंने बताया कि दो महीने पहले किसी काम से आया था। उसके बाद यहीं पर अटक कर रह गया था। हमारे जाने की व्यवस्था यहां से हो गई। इतना हमारे लिए बहुत है। ट्रेन में सवार शिवोदित गुप्ता ने बताया कि मैं कोलकाता का रहने वाला है। यहां मैं अक्सर आता हूं। इंदौरी बहुत अच्छे हैं। प्रदेश सरकार ने हमारे लिए यह व्यवस्था की इसके लिए उनका दिल से धन्यवाद।

1500 लोग ट्रेन से रवाना हुए
प्रशासन की ओर से बताया गया कि यहां रहने वाले छात्र, कामगार और श्रमिकों और अन्य लोगांे के लिए स्टेशल ट्रेन रवाना की गई। यह ट्रेन आसनसोल, दुर्गापुर और वर्धमान के करीब 1500 लोगांे को लेकर रवाना हुई। इनके लिए सेंटर पर ही खाने और पानी की व्यवस्था की गई। सभी को सोशल डिस्टेंसिंग के साथ जांच के बाद ट्रेन में सवार किया गया। इनके लिए मास्क और सैनिटाइजर की भी व्यवस्था की गई। इन्हें सेंटर से बस के द्वारा स्टेशन तक पहुंचाया गया। रतलाम, धार, देवास खंडवा सहित अन्य जिलों से भी करीब ढाई सौ लोग यहां पहुंचे थे, जिन्हें पूरी व्यवस्था के साथ ट्रेन में बिठाया गया।

सभी सुविधाओं के साथ ट्रेन को रवाना किया गया
रेलवे पीआरओ जितेंद्र कुमार जयंत के अनुसार यहां फंसे श्रमिकों को उनके घर पहुंचाने के लिए रतलाम रेल मंडल श्रमिक स्पेशल ट्रेन चला रहा है। इसके पहले दो ट्रेनों को लेकर श्रमिक ट्रेन यहां से जा चुकी है। रीवा गई ट्रेन में 1480 लोग अपने घर पहुंचे थे। वहीं दूसरी ट्रेन, कटनी, सतना और रीवा के श्रमिकों को लेकर गई थी। इसमें भी 1480 लोग अपने घर गए थे। मंगलवार को बंगाल के लिए रवाना हो रही ट्रेन का स्टॉपेज दुर्गापुर में भी है। ट्रेन में पंजीकृत श्रमिकों को ही जिला प्रशासन द्वारा बनाई लिस्ट के अनुसार भेजा जा रहा है।