Home Bhopal विवेक सागर का होगा सम्मान:भारतीय हॉकी टीम का हिस्सा रहे हैं विवेक,...

विवेक सागर का होगा सम्मान:भारतीय हॉकी टीम का हिस्सा रहे हैं विवेक, टोक्यो ओलिंपिक में जीता ब्रॉन्ज मेडल; 12 अगस्त को मिंटो हॉल में CM शिवराज की मौजूदगी में होगा सम्मान

185
0
File Pic

गृहगांव में ऐसे होगा स्वागत, मां खिलाएंगी ये खास पसंदीदा मिठाई

 

इटारसी: टोक्यो ओलिंपिक में जर्मनी को हराकर 41 साल बाद पदक हासिल करनेवाली भारतीय हॉकी टीम स्वदेश लौट आई है। भारतीय हॉकी टीम ने ब्रॉन्ज मेडल जीता है। टीम का नई दिल्ली में अभूतपूर्व स्वागत किया गया। टीम में मध्यप्रदेश के इकलौते खिलाड़ी विवेक सागर प्रसाद भी शामिल हैं जिन्होंने भारतीय टीम की इस उपलब्धि में उल्लेखनीय योगदान दिया है। उनके स्वागत के लिए इटारसी और गृहगांव चांदौन में जबर्दस्त तैयारी की गई है।

टोक्यो ओलिंपिक में मप्र के नर्मदापुरम (होशंगाबाद) जिले के इटारसी के रहने वाले खिलाड़ी विवेक जो टीम के लिए मिडफील्डर के रूप में खेलते हैं। 12 अगस्त को मध्यप्रदेश सरकार विवेक का सम्मान करेगी। सीएम शिवराज सिंह चौहान की मौजूदगी में मिंटो हॉल में सम्मान समारोह आयोजित किया जाएगा।

 

भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने 41 साल बाद कोई मेडल जीता है। टीम ने ब्रॉन्ज मेडल जीतने वाले मैच में जर्मनी को 5-4 से हरा दिया था। इसी टीम में इटारसी के विवेक सागर भी शामिल थे। शानदार खेल की वजह से अन्य हॉकी खिलाड़ियों के साथ विवेक ने भी लोगों का दिल जीत लिया है। अब मप्र सरकार उनका सम्मान करने वाली है। इसके लिए मंगलवार को सीएम हाउस में फाइल पहुंची।

 

ग्राम चांदौन के विवेक ने इटारसी के मैदान से की प्रैक्टिस

विवेक सागर होशंगाबाद जिले की इटारसी तहसील के छोटे से के ग्राम शिवनगर चांदौन के रहने वाले हैं। बचपन से उसे हॉकी से प्रेम रहा है। विवेक ने हॉकी की शुरुआत इटारसी के हॉकी मैदान से की। विवेक ने हॉकी के सीनियर खिलाड़ी, कोच स्वर्गीय दीपक जेम्स, स्थानीय कोच कन्हैया गुरयानी सहित सीनियर्स के मार्गदर्शन में हॉकी खेलना शुरू किया।

 

आपको बता कि ओलिंपियन अशोक ध्‍यानचंद ने एक मुकाबले के दौरान विवेक की प्रतिभा को पहचाना और उसे मध्‍यप्रदेश अकादमी में प्रवेश दिलाया। यहां से विवेक ने पीछे मुडकर नहीं देखा। आज वह देश के चुनींदा हॉकी खिलाडि़यों में शुमार हो गया है। ओलिंपिक खेलने और ओलिंपिक में देश के लिए गोल करने का सपना भी उसने पूरा कर लिया है ।

सीएम शिवराज ने की थी 1 करोड़ रुपए देने की घोषणा

हॉकी टीम के ब्रॉन्ज मेडल जीतने के बाद मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने इटारसी के खिलाड़ी विवेक और मध्यप्रदेश हॉकी एकेडमी में ट्रेनिंग लेने वाले खिलाड़ी नीलकांता शर्मा को 1-1 करोड़ रुपए बतौर सम्मान निधि के रूप में देने की घोषणा की थी। 12 अगस्त को यह कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। विवेक के साथ नीलकांता भी आयोजन में शामिल हो सकते हैं।

विवेक सागर की उपलब्धियां

विवेक हॉकी की ओलिंपिक टीम में चुने जाने से पहले कई बड़ी प्रतियोगिताओं में भारतीय टीम का हिस्सा रह चुके हैं। विवेक सागर इंडियन जूनियर हॉकी टीम की कप्तानी भी कर चुके हैं। यूथ ओलिंपिक गेम 5 ए साइड टूर्नामेंट में भारतीय दल के कप्तान के रूप में सिल्वर मेडल, चैंपियंस ट्रॉफी नीदरलैंड में सिल्वर मेडल, एशियन गेम्स 2018 जकार्ता में ब्रॉन्ज मेडल आदि अंतर्राष्ट्रीय खेलों में पुरस्कार प्राप्त कर चुके हैं।

विवेक को एफआईएच राइजिंग स्टार अवॉर्ड 2019 और मध्यप्रदेश शासन के द्वारा एकलव्य अवार्ड 2018 से भी नवाजा जा चुका हैं। विवेक को ‘यूथ-ओलिंपिक’ में ‘बेस्ट-स्कोरर’ और ‘फाइनल सीरीज भुवनेश्वर’ में ‘बेस्ट जूनियर प्लेयर अवॉर्ड’ से भी सम्मानित किया जा चुका है। टोक्यो ओलिंपिक से पहले वे 62 अंतरराष्ट्रीय मैच भी खेल चुके थे।

हॉकी के इस हीरे की चमक अब दुनिया भर में फैल चुकी है। देश के लिए पदक जीतकर लौट रहे विवेक के स्वागत के लिए उनके फैंस, परिजन और गांववाले, सभी बेताब हैं। 13 साल के हॉकी प्लेयर प्रियांक चौधरी कहते हैं— विवेक भैया ने हमें गर्व से भर दिया है। हमारे तो वे रोल माडल बन चुके हैं। क्षेत्र के सभी खिलाड़ी यही बात कहते हैं। ऐसे में विवेक सागर का जबर्दस्त स्वागत करने की तैयारी चल रही है. विवेक के भाई विद्यासागर प्रसाद बताते हैं कि इटारसी में उनका जुलूस निकाला जाएगा जिसमें प्रशासनिक अधिकारी और राजनेता भी शामिल होंगे।

vivek_maa_2.jpg

साथ ही गांव में भी स्वागत किया जाएगा। विवेक के पदक लेकर लौटने पर उनकी मां कमला सबसे ज्यादा खुश हैं। वे विवेक को इस मौके पर उनकी पसंदीदा मिठाई गुलाबजामुन खिलाएंगी। मां बताती हैं कि विवेक बचपन से ही गुलाब जामुन का बेहद शौकीन है। वह आलू के परांठे भी चाव से खाता है पर गुलाब जामुन का तो जैसे दीवाना है. घर में जब गुलाब जामुन बनती है तो उसे छुपाकर रखना पड़ता है, वह अकेला ही घर के सभी लोगों के हिस्से की गुलाबजामुन चट कर जाता है।