Home Jhabua संत रविदास बस्ती में सर्वसमाज के होली महात्सव से अभिभूत हुआ अनुसूचित...

संत रविदास बस्ती में सर्वसमाज के होली महात्सव से अभिभूत हुआ अनुसूचित जाति समाज देशभक्ती गीतों व भजन पर जमकर थीरके लोेग

29
0

मिशन सामाजिक समरसता 
अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर बस्ती की 30 महिलायों का हुआ सम्मान

झाबुआ। राकेश पोद्दार। सामाजिक महासंघ झाबुआ द्वारा पूरे वर्षभर सामाजिक समस्यता मिशन के अंतर्गत विभिन्न आयोजन किए जाते है। इसी उड़ी में 8 मार्च को संत रविदास बस्ती में सर्व समाज के वरिष्ट सदस्यों ने होली मिलन समारोह का अनुठा आयोजन किया। जिसमें शामिक होकर अनुसूचित जाति के युवा, बुजुर्ग महिलाएं एवं लड़किया काफी अभिभूत हो गई थी। सभी का कहना था कि यह पहला अपकर है जब झाबुआ का प्रतिष्ठित समाज हमारे बीच होली मनाने आया है। इस अवसर पर सभी लोग देशभक्ति गीतो एवं भजनों पर जमकर नृत्य किया। 18 मार्च को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मौके पर सामाजिक महासंघ के सदस्यो ने बस्ती की 30 महिलाअेंा का पुष्प- हार व गुलाल लगाकर सम्मान किया गया। इस दौरान आदिवासी गुडिया कला संस्कृति के लिये पद्मश्री पुरुस्कार से नवाजे गए परमार दम्पति रमेश परमार एवं श्रीमती शालि परमार का अभिनन पुष्प- हार गुलाल लगाकर प्रशस्ति-पत्र भेट किया गया।

होली महोत्सव के अवसर पर पद्मश्री रमेश परमार ने कहाँ कि रोजगार के मामलो मे सरकार के भरोसे ना रहते हुए खुद के बलपर छोटे-छोटे व्यवसाय लोक कला से जुड़ी विधाओं के माध्यम से स्वरोजगार पाया जा सकता है। पद्मश्री श्रीमती शांति परमार कहा कि सामाजिक महासंघ का यह नेक कार्य समाज एकीकरण में मील का पत्थर साबित होगा।
साहित्यकार एवं समाज सेवी यशवंत भण्डारी ने कहाँ कि व्यामाजिक समरसता के ऐसे आयोजन के लिए सामाजिक महासंघ साधुवाद का पात्र है ऐसे आयोजनो से समाज एक सूत्र में बंधता है।

स्वागत भाषण देते हुए सामाजिक महासंघ के जिलाध्यक्ष नीरजसिंह राठौर ने कहा कि समाज में व्याप्त कुरुतियों को दूर करने एवं सामाजिक असमानता ऊँच नीच जैसी बीमारियों को जड़ से समाप्त करने के लिए सामाजिक समरसता की आज देश में अधिक आवश्यकता है। सभी भारत माॅ की संतान है एवं जातियों की गरीबी अमीरी बेडियों को तोडकर एकजुट होकर ही नए समाज को गढ़ा जा सकता है।
इस अवसर पर सकंल्प ग्रुप की प्रमुख भारती सोनी ने महिला सशक्तिकरण पर जोर देते हुये कहा कि सभी समाज की महिलाएं एकजुट होगी तो एक सभ्य समाज का निर्माण आसानी से किया जा सकेगा।
संतरविदास बस्ती की 30 महिलाओं का किया सम्मान
होली महोत्सव के दौरान 8 सार्य अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस होने पर सामाजिक महासंघ के सदस्यों ने संत रविदास बस्ती में उपस्थित अनुसूचित जाति समाज की 30 महिलाओ को रंग-गुलाल लगाकर पुष्प – हारो से सम्मान किया। सम्मान किये जाने के बाद बस्ती की सभी महिलाएं काफी प्रसन्न नजर आ रही थी। इस अवसर पर हाउसिंग बोर्ड महिला मण्डल की सदस्या अनिता जाखड, हरिप्रिया निगम, ज्योति सानी, संलोष सोनी, किरण सोनी, विनीता नायक, सावित्री बारिया, दीपाली चैहान कल्पना दीदी, एवं लता देवल का भरपूर सहयोग रहा सभी ने बस्ती की महिलाओं के साथ जमकर रंग गुलाल खेला।
स्वल्पाहार का किया आयोजन
बस्ती में किया बिस्किट, चाकलेट एवं नमकीन के पैकेटों का वितरण किया गया। सामाजिक महाबंध के हरिश लाला शाह आम्रपाल एवं मनोज अरोरा ने बताया कि होली महोत्सव के दौरान 150 परिवारों में नमकीन एवं मिठाईयों के पैकेट वितरीत किये गयेू। नन्हे- मुन्ने बच्चो को भी रंग-गुलाल लगाकर बिस्किट एवं चाकलेट का वितरण किया गया। इस अवसर पर देशभक्ति गीतो एवं धार्मिक भजनो पर वहाँ उपस्थित सभी लोगों ने जमकर नृत्य किया। कार्यक्रम के दौरान भारत माता की जय वंदे मातरम, धर्म भूमि झाबुआ की जय संत रविदास जी की जय जैसे नारों से वातावरण पूर्णतः होलीमय हो गया था। इस अवसर पर सामाजिक महासंघ एवं सर्व गणेश उपाध्याय, नवीन पाठक, एम-एल फुलपगारे, हार्दिक अरोरा अजय सिंह पवार, अब्दुई रहिम पुरुषोत्तम तामे्रकर, सचिन मेहता, भेरूसिं चैहान, प्रकाश त्रिवेदी, नाथुलाल पाटीदार, डॉ संतोष प्रधान, ब्रजेश टवली, विनोद कुमार चैहान, शंकर लाल परमार संहिल बड़ी संख्या में गणमान्य लोग उपस्थित थ।े कार्यक्रम का संचालन शरद शास्त्री ने किया एवं आभार समाजसेवी अशोक शर्मा ने माना।