Home Jaipur मुख्यमंत्री सरकार नहीं जुगाड़ चला रहे हैं, राजस्थान के गांव भगवान भरोसे-...

मुख्यमंत्री सरकार नहीं जुगाड़ चला रहे हैं, राजस्थान के गांव भगवान भरोसे- राज्यवर्धन

81
0

जयपुर. भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता और जयपुर ग्रामीण सीट से सांसद कर्नल राज्यवर्धन राठौड़ ने मंगलवार को राज्य की कांग्रेस सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि फिलहाल वह सरकार की नहीं बल्कि विपक्ष की जिम्मेदारी निभा रही है। उन्होंने कहा कि कोरोनाकाल में राज्य सरकार सिर्फ केन्द्र को दोष देने का ही काम कर रही है, हाल ही में कांग्रेस का टूलकिट सबके सामने आया जिसके माध्यम से उसका (कांग्रेस) राजनीतिक दृष्टिकोण साफ दिखाई दिया।

उन्होंने मीडिया रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि सरकारी आंकड़ा कहता है कि 1 अप्रैल से 20 मई तक 3900 लोगों की मौत हुई है, जबकि मीडिया रिपोर्ट के अनुसार 14,400 से अधिक मौतें हुई हैं।

कर्नल राज्यवर्धन ने ऑनलाइन संवाददाता सम्मेलन में सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि राज्य सरकार अपनी जिम्मेदारी निभाने में पूर्णतया विफल रही है। एक साल पहले उसे केन्द्र से वेंटिलेटर मिले लेकिन उनके उपयोग का प्रशिक्षण देना तो दूर उन्हें कबाड़ में डाल दिया गया और खोला भी नहीं गया। कुछ स्थानों पर उन्हें निजी अस्पतालों को किराऐ पर दे दिए और निजी अस्पतालों ने गरीब जनता को जमकर लूटा।

उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार ने सितम्बर 2020 से मार्च 2021 तक देश के सभी मुख्यमंत्रियों के साथ तीन बार संवाद किया और आगाह किया कि महामारी आने वाली है आप सतर्क रहो।

राष्ट्रीय प्रवक्ता ने कहा कि राजस्थान के लिए 19 ऑक्सीजन प्लांट स्वीकृत हुए हैं लेकिन कोरोना की पहली लहर से दूसरी लहर के बीच राजस्थान सरकार ने एक भी ऑक्सीजन प्लांट नहीं लगाया। कोरोना की दूसरी लहर में जब हालात बेकाबू हुए और प्रदेश में ऑक्सीजन की अत्यधिक कमी आने लगी तब राजस्थान सरकार द्वारा ऑक्सीजन के लिए हल्ला मचाया गया।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ.सतीश पूनियां ने कहा कि राज्य सरकार कोरोनाकाल में मौतों व मरीजों के आंकड़े छुपा रही है, विशेषकर ग्रामीण इलाकों में राज्य सरकार स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को भगवान भरोसे छोड़कर आंकड़ों का खेल खेल रही है। उन्होंने मुख्यमंत्री गहलोत पर निशाना साधते हुये कहा कि, राज्य के लोगों को बेहतर इलाज मुहैया कराने में विफल सरकार का, क्या ये कोरोना कुप्रंबधन नहीं है, जहां सरकार खुद की विफलताओं को छिपाने के लिये मरीजों व मौतों के नाम पर आंकड़ेबाजी कर रही है।