Home Bhopal मप्र के बहुचर्चित प्यारे मियां यौन शोषण मामले में SIT की रिपोर्ट...

मप्र के बहुचर्चित प्यारे मियां यौन शोषण मामले में SIT की रिपोर्ट में पुलिस को क्लीनचिट, लापरवाही के लगे थे आरोप

44
0

भोपाल. मध्य प्रदेश के बहुचर्चित प्यारे मियां यौन शोषण (Sexual Exploitation) केस में विशेष जांच दल (SIT) ने अपनी रिपोर्ट तैयार कर ली है. SIT की इस रिपोर्ट में पुलिस को क्लीनचिट दी गई है. पुलिस पर मामले में लापरवाही बरतने का आरोप था. पुलिस मुख्यालय ने कमला नगर स्थित बालिका गृह में पीड़ित बच्ची के मौत के मामले में एसआईटी का गठन किया था. एसआईटी का चीफ दीपिका सूरी को बनाया गया था. दीपिका सूरी ने इस मामले में जांच पूरी करने के बाद अपनी रिपोर्ट पुलिस महानिदेशक (DGP) विवेक जौहरी को सौंप दी है. डीजीपी अब इस रिपोर्ट को गृह विभाग को सौंपेंगे.

इस पूरे मामले में आरोपी प्यारे मियां पर एफआईआर (FIR) से लेकर उसकी गिरफ्तारी और इस पूरे मामले की जांच से लेकर चार्जशीट पेश करने में पुलिस पर कई गंभीर आरोप लगे थे. पुलिस के अधिकारियों पर लापरवाही बरतने का आरोप था. इस मामले में डीजीपी ने एसआईटी का गठन किया था. एसआईटी की रिपोर्ट में पुलिस को क्लीनचिट दी गई है.

रिपोर्ट में पुलिस के किसी भी तरीके की लापरवाही को नहीं बताया गया है. पुलिस की जांच रिपोर्ट में भले अपने ही महकमे को क्लीनचिट दी गई है. लेकिन इससे पहले राष्ट्रीय बाल आयोग ने अपनी रिपोर्ट में बालिका गृह के जिम्मेदारों के साथ भोपाल पुलिस की भूमिका को भी संदिग्ध बताया था.

 

रिपोर्ट में शेल्टर होम लापरवाही का खुलासा

एसआईटी की रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि पूरे मामले में बालिका गृह की अध्यक्षता और कर्मचारियों की भूमिका संदिग्ध है. सबूतों को इकट्ठा करने के लिए फुटेज खंगाले गए तो पता चला कि 15 जनवरी के फुटेज में से कुछ फुटेज गायब हैं. साथ ही यह भी पता चला कि पीड़ित बच्चियों के साथ सही व्यवहार नहीं किया जाता था. बालिका गृह में नियमों का पालन नहीं किया जा रहा था.