Home Jhabua अन्तरराष्ट्रीय दिव्यांग दिवस के अवसर पर खेलकूद एवं सामर्थ्य प्रतियोगिताओं का आयोजन...

अन्तरराष्ट्रीय दिव्यांग दिवस के अवसर पर खेलकूद एवं सामर्थ्य प्रतियोगिताओं का आयोजन सम्पन्न कलेक्टर श्रीमती रजनी सिंह ने बच्चो को किया पुरूस्कृत

27
0

दिव्यांगजनों ने उमंग उत्साह के साथ लिया प्रतियोगिताओं में भाग

झाबुआ। राकेश पोद्दार। जिला कलेक्टर श्रीमति रजनी सिंह के मार्गदर्शन में झाबुआ में जिला स्तर पर अन्तरराष्ट्रीय दिव्यांग दिवस 3 दिसम्बर 2022 के अवसर पर एक दिवसीय आयोजन किया गया, जिसमें दिव्यांगता की सभी श्रेणीयों में (अस्थि बाधित, दृष्टि बाधित, श्रवण बाधित, मानसिक रूप से अविकसित) एवं सिकलसेल की आयु वर्गवार खेलकूद प्रतियोगिताएॅं, एवं सामर्थ्य प्रदर्शन प्रतियोगिताए आयोजित की गई ।
उपसंचालक सामाजिक न्याय दिनेश वर्मा ने बताया कि इस आयोजन में 3 दिसम्बर को प्रातः 10 बजे से जिला विकलांग पुनर्वास केन्द्र झाबुआ के परिसर में दिव्यांगता की सभी श्रेणीयों में (अस्थि बाधित, दृष्टि बाधित, श्रवण बाधित, मानसिक रूप से अविकसित एवं सिकलसेल) विभिन्न आयु वर्ग के दिव्यांगजनों के लिए खेलकूद का आयोजन रखा गया जिसमें दिव्यांगजनों में उत्साह देखा गया प्रातः से ही विभिन्न विकासखण्डों से दिव्यांगजनो ने खेल एवं सामर्थ्य प्रतियोगिताओं में शामिल होकर आयोजित विभिन्न खेल प्रतियोगिताओं जलेबी दौड़, निम्बु दौड़, थैला रेस, चेयर रेस, 50 मीटर, 100 मीटर में मुक बधिर, सिकलसेल, अस्थिबाधित दृष्टिबाधित, एवं मानसिक रूप से दिव्यांगजन बड़ी संख्यॉं में विकलांग केन्द्र परिसर में पहुॅचे और बढ़ चढ़ कर आयोजित विभिन्न प्रतियोगिताओं में भाग लिया, खेलकूद एवं सांस्कृतिक व सामर्थ्य प्रतियोगिता में जिले के समस्त विकासखण्डों के शासकीय व अषासकीय विद्यालयों एवं स्वयं सेवी संस्थाओं के दिव्यांग छात्र-छात्राओं एवं विभिन्न अषासकीय संस्थाओं के दिव्यांगजनों ने भाग लिया ।

कार्यक्रम में अतिथि जिला कलेक्टर श्रीमति रजनी सिंह, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत अमन वैष्णव पेरेन्ट्स सोसायटी फॉर पर्सन्स विथ डिसएबिलिटीज के अध्यक्ष एवं जिला प्रबन्धन समिति विकलांग पुनर्वास केन्द्र के सदस्य यषवन्त भण्डारी, उपसंचालक सामाजिक न्याय एवं निःशक्तजन कल्याण, जिला परियोजना समन्वयक सर्व षिक्षा अभियान रालू सिंगाड़ थे । अतिथियों में सर्वप्रथम पेरेन्ट्स सोसायटी के अध्यक्ष यषवन्त भण्डारी ने जिला प्रषासन एवं उपस्थित बच्चों अभिभावकों एवं शिक्षक प्रशिक्षक गणें को स्वगत किया एवं आभार माना कि कोविड जैसी महामारी के उपरान्त जिले में दिव्यांगजनों के लिए इस पहले वृहत्त आयोजन में जिले के दूरस्थ ग्रामीण अंचलों से इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए आपबड़ी संख्यॉ में उपस्थित हुए।
मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत अमन वैष्णव ने ने बच्चों को आशिर्वाद स्वरूप उद्बोधन में कहा कि नर सेवा नारायण सेवा का रूप है दिव्यांगजनों की सेवा में रत सेवक जनो का सौभाग्य है कि उन्हे इन दिव्य आत्माओं की सेवा करने का सौभाग्य प्राप्त हुआ है और आपकी सेवा प्रत्यक्ष रूप से इन बच्चों की प्रस्तुतियों में दृष्टिगोचर हो रही है । बच्चों से पहले उनके षिक्षकों उनके अभिभावकों का साधुवाद।

जिला कलेक्टर श्रीमती रजनी सिंह ने अपने उदबोधन में कहा कि दिव्यांगजनों के लिए जिले प्रशासन द्वारा उनके शैक्षणिक, सामाजिक एवं व्यावसायिक उन्नयन के लिए समग्र प्रयास किये जावेंगे जिससे कि वे प्रोत्साहित हो और उनमें उत्साह का संचार हो और साथ ही उनका आर्थिक उत्थान हो । उपरान्त खेलकूद एवं सामर्थ्य प्रतियोगिताओं में प्रथम व द्वितीस स्थान प्राप्त करने वाले प्रतियोगी दिव्यांगजनों को अतिथियों के द्वारा पुरस्कृत किया गया । कार्यक्रम हेतु जिले की समस्त जनपद मुख्यालयों से दिव्यांगजनों के आवागमन की व्यवस्था हेतु खण्ड स्त्रोत समन्वयक, एवं विकलांगता के क्षेत्र में कार्य कर रही संस्थाओं से इस आयोजन को सफल बनाने हेतु सहयोग कर कार्यक्रम के सफल आयोजन में पूर्ण सहयोग किया।
उक्त समस्त प्रतियोगिताएं सम्पन्न करवाने हेतु म.प्र। वौलेन्टियर्स हेल्थ एसोसिएशन जिला झाबुआ, आजाद विकलांग कल्याण समिति मेघनगर के मनोज वसुनिया, कमलेश राठौर एवं उनके साथियों, सारा सर्विस सोसायटी के जिम्मी निर्मल का विशेष सहयोग प्राप्त हुआ साथ इस कार्यक्रम में सर्व शिक्षा अभियान के एपीसी वित्त सांखला, राजेश सरनागत, सुभाष पाटीदार, सुनिल शर्मा दीप्ती अग्रवाल, भुषण झुनगरे, देवीचन्द पंवार जयसिमहेश बामनिया बीआरसी मोबाईल स्त्रोत सलाहकार शिक्षा विभाग के रामसिंह मोहनिया, विकलांग पुनर्वास केन्द्र के अरूण महाकुड़, प्रवीण भाबोर, मयूर वैशंपायन, रामबहादुर पटेल, महेश देवदा, दलसिंह ढाक शहनाज खान, समस्त स्टाफ ने पुरे मनोयोग से समस्त प्रतियोगिताओं के लिए से खेलकूद सामर्थ्य एवं सांस्कृतिक प्रतियोगिताए सम्पन्न करवाई । कार्यक्रम का संचालन विकलांग पुनर्वास केन्द्र के मैनेजर शैलेन्द्र सिंह राठौर ने किया ।
उपसंचालक सामाजिक न्याय दिनेश वर्मा ने बताया कि अन्तरराष्ट्रीय दिव्यांग दिवस के अवसर पर ही दिनांक 5 दिसम्बर सोमवार को प्रातः 10 बजे से जिला दिव्यांग पुनर्वास केन्द्र रंगपुरा में दिव्यांगजनों का परिक्षण कर उनके दिव्यांगता प्रमाण पत्र बनाये जावेंगे।कार्यक्रम के अन्त में आभार उपसंचालक सामाजिक न्याय दिनेश वर्मा ने माना।