Home Jhabua कुपोषित बच्चों की सहायतार्थ आयोजित ओलम्पिक एवं क्रिकेट प्रतियोगिता खेलो के लिए...

कुपोषित बच्चों की सहायतार्थ आयोजित ओलम्पिक एवं क्रिकेट प्रतियोगिता खेलो के लिए मिल का पत्थर साबित होगी- प्राचार्य जे.बी. सिन्हा

54
0

झाबुआ। राकेश पोद्दार। कुपोषण से जंग-लडेंगे हम एवं हरेगा कुपोषण – जीतेगा झाबुआ के संकल्प को लेकर शहर ने अप्रैल माह के प्रथम एवं द्वितीय सप्ताह में झाबुआ ओलम्पिक एवं झाबुआ प्रीमियर लीग रात्री कालीन टेनिस क्रिकेट बाॅल का आयोजन किया जा रहा है। जिसको अंतिम रूप ‘देने के लिए शहर के समाज सेवियों, खेल प्रेमियो एवं खिलाडियों की सामुहिक बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें शहिद चन्द्रशेखर आजाद शासकीय स्नााकोत्तर महाविद्यालय के प्राचार्य जे.सी. सिन्हा ने कहाँ कि कुपोषित बच्चों की सहायतार्थ आयोजित किए जा रहे इस आयोजन के खेल का बढ़ावा देने का उचित स्थान मिल पाएंगा व साथ ही यह आयोजन खेलों के लिए जिले में मिल का पत्थर साबिल होगा। ऐसी सकारात्मक सोच के लिए सामाजिक महासंघ साधुवाद का पात्र है।

बैठक के दौरान मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी जयपाल सिंह ठाकुर ने कहा कि खेलो के माध्यम से कुपोषित को पोषण आहाहर देने का य तरीका काबिले तारिफ है। जिले मे लगभग 280 अति कुपोषित बच्चे एवं 5000 के लगभग कम कुपोषित का शिकार बच्चे है। महिला बाल विकास अधिकारी जी एस बघेल ने कहा कि शासन प्रशासन तो अपनी ओर से हम क्षेत्र में कार्य कर ही रहा है। लेकिन समाज सका इस ओर आना एक सुखद संदेश है।
इस दौरान भाजपा जिला खेल प्रकोष्ठ के अध्यक्ष बिट्टु सिंगार ने कहा कि इन खेेलाो से लोगो के स्वास्थ्य रहने की प्रेरणा मिलेगी। श्री सिंगार ने रंगपंचमी के दौरान निकाली जाने वाली रंगगैर में शामिल होने का भी सभी से अनुरोध किया।
इस अवसर पर सकल व्यापारी संघ के सचिव हिमांशु त्रिवेदी , कुलदीप धबई, प्रफुल्ल शर्मा, खेलअधिकरी विजय आलाम, समाससेवी अशोक शर्मा, जावेद लाल ने भी संबोधित किया। उमंग संक्सेना ने बताया कि बडे स्तर का मेघ स्वास्थ्य कैम्प 2024 मे जनवरी माह मे लगाया जाएगा।

इनका किया गया सम्मान
सामाजिक महासंघ के गणेश उपाध्याय एवं हरिश शाह आम्रपाली ने बताया कि आबुआ में खेलो के रूप में अपना भविष्य बनाने वाले एवं खेल को आगे बढ़ाने मे योगदान देने वाले खिलाडियों का सम्मान पुष्पहार पहनाकर किया गया। फूटबल के लिए मोनू डांगी, राजा चैहान, तीरंदाजी के लिए जयंतिलाल परवार हेंडबाल मे अवलोक शर्मा, खेल इंडिया के लिय देश मे प्रदेष का प्रतिनिधित्व करने वाले हैडबाॅल खिलाडी नाथूराम सोलंकी एवं राजेन्द्र खराडी, पीटी आई मनोज पाठक, कुलदीप धबाई, जुल्फकार अली सैयेद, कराटे में सूर्य प्रताप , उदय बिलवाल, लाला कलान, विनोद बडई, राष्ट्रीय स्तर पर अपना लोहा मनवा चुकी प्रफुल्ल शर्मा, श्रीमी डाॅ निलीमा चैहान, श्रीमती पार्वती किराड, रूचिका बारिया, विनीता बारिया, संतोषी अलावा एवं मेथा सिंगार का सम्मान किया गया।
ओलंपिक एवं क्रिकेट मे युवाओ का होगा महाकुम्भ
सामाजिक महासंघ के जिलाध्यक्ष नीरजसिंह राठौर एवं सचिव उमंग सक्सेना ने बताया कि झाबुआ ओलंम्पिक एवं रात्रि कालीन क्रिकेट प्रतियोगिता जे पी एल का आयोजन को लेकर जिले मे उत्साह का माहौल है। ओलम्पिक मे 10 से 12 खेल शामिल किये जाएगे जो अलग अलग स्थानो मे पर होंगे। रा.ी कालीन क्रिकेट स्पर्धा काॅलेज मैदान पर दुधिया रोशनी मे होगी। क्रिकेट के लिए प्रत्येक खिलाडी के पंजीयन का शुलक दो हजार रखा गया हैं। इसका प्रथम इनाम एक लाख रूपये एवं ़िद्वतिय ईनाम जावेद लाला की ओर से 51 हजार रखा गया हैं इस पुरे आयोजन के प्रायोजक बालाजी मोटर्स झाबुआ निलेश अशोक शर्मा रहेंगे।
रोटरी के उमंग सक्सेना का हुआ भव्य स्वागत
मनोज अरोरा एवं जयंत बैरागी ने बताया कि रोटेरियन उमंग सक्सेना का एक आयोजन के दौरान भोपाल में उनके द्वारा किये गये अनेक सामाजिक कार्यो के लिए रोटरी का सर्वाधित चर्चित पुरूस्कार एवन्यू आॅफ सर्विस अवार्ड से सम्मानित किया गया था। यह पुरूसकार 25 क्लबो में सर्वश्रैष्ठ कार्य करने वाले रौटेरियन को दिया जाता है। उमंग सक्सेना दो बार बेस्ट प्रेसिडेन्ट , एक बार असिस्टेंट गवर्नर एवं एक बार बेस्ट ईमेज का पुरूस्कार प्राप्त कर चुके है। साथ ही एक बार बेस्ट डिस्ट्रिक सेकेट्री भी रह चुके है। इन्ही उपलब्धियो के कारण यूएसए अमेरिका की ओर से पास्ट प्रेसिडेन्ट गजेन्द्र नारंग द्वारा भोपाल में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान यह सम्मान इन्हे दिया गया। इस उपलक्ष्य में झाबुआ मे इनका भव्य स्वागत पुष्प हारो से किया गया।
इस अवसर पर कमलेश पटेल, नवीन पाठक, श्रीमती भारती सोनी, नाथू लाल पाटीदार , वाहिद शेख, अजय पंवार, पीडी रायपुरिया, विनोद कुमार चैहान, विेनोद जायसवाल, राजेश शाह, एम एल फुलपगारे, सहित बडी संख्या मे गणमान्य लोग उपस्थित थें। कार्यक्रम का संचालन शरद शास्त्री ने किया एवं आभार समाजसेवी अशोक शर्मा ने माना।