Home Crime स​तना जिले में सनसनीखेज वारदात : सलाम-सद्दाम ने क्लच वॉयर से गला...

स​तना जिले में सनसनीखेज वारदात : सलाम-सद्दाम ने क्लच वॉयर से गला घोंट मार डाला: गैराज में दफन कर ऊपर हैंडपंप लगाया…क्राइम पेट्रोल से मिस्त्री को मिला दिमाग

40
0
रोहित की हत्या करने के बाद सलाम व सद्दाम ने शव को घर में गाड़ दिया

मध्य प्रदेश के स​तना जिले में 9 दिन पूर्व मोटरसाइकिल सुधरवाने निकला ऑटो चालक युवक रोहित कुशवाहा रहस्यमयी तरीके से लापता हो गया था, जिसकी हत्या उसके साथियों ने ही पैसे के लालच में कर दी। पुलिस ने पूरे मामले का खुलासा करते हुए दो मोटर मैकेनिक, पप्पू उर्फ सलाम खान और उसके साथी सद्दाम खान को गिरफ्तार किया है।

पुलिस ने बताया कि ऑटो चालक से दोनों आरोपी कर्ज लेना चाहते थे, लेकिन वह युवक कर्ज देने में टाल मटोल करने लगा तो क्लच वायर से उसकी हत्या करके लाश को अपने गैराज में ही दफना दिया और उस पर हैंडपंप लगा दिया।

ये मामला सतना जिला के नागौद थाना क्षेत्र के कुलगढ़ी का है। यहाँ का रहने वाला 19 वर्षीय रोहित कुशवाहा पिछले 9 दिनों से गायब था। पुत्र की सूचना नहीं मिलने पर पिता ने थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। पुलिस लगातार कई दिनों तक छानबीन करती रही, लेकिन उसे कोई सुराग हाथ नहीं लगा। थक-हार कर पुलिस ने साइबर सेल और सीसीटीवी फुटेज की मदद ली। जाँच में मिले अहम सुराग के आधार पर पुलिस ने पूछताछ शुरू की और दोनों ने चौंकाने वाला खुलासा किया।

पुलिस ने बताया कि मृतक रोहित कुशवाहा बीते 8 जून को बाइक की रिपेयरिंग कराने सतना आया था, लेकिन फिर घर नहीं लौटा। उसकी मोटरसाइकिल अगले दिन सीतपुरा में एक देसी शराब की दुकान के पास लावारिस हालत में मिली, जिस पर टी-शर्ट, रूमाल और गमछा टँगा हुआ था।

पुलिस ने बताया कि आखिरी बार दोपहर 2 बजे पिता के फोन करने पर रोहित ने पप्पू मिस्त्री के पास बाइक बनवा कर घर आने की बात कही थी। ऐसे में मैकेनिक से भी पूछताछ की गई, पर वह अनजान बना रहा।

रोहित की दफन लाश को निकलवाती पुलिस

ऐसे में एक तरफ मुखबिरों को सक्रिय किया गया तो दूसरी तरफ कुलगढ़ी से सतना और सितपुरा के बीच लगे सीसीटीवी कैमरों के फुटेज खँगाले जाने लगे। फुटेज के आधार पर यह स्पष्ट हो गया कि गायब होने के दिन लगभग साढ़े 11 बजे युवक अपनी गाड़ी से सिविल लाइन की तरफ आया था और शाम 4 बजे वापस जाता दिखाई दिया।

जब बारीकी से रिकॉर्डिंग देखी गई तो आते समय रोहित ने जो कपड़े पहने थे, वापसी में लोवर का रंग बदला हुआ पाया गया। साथ ही चलाने वाले का रंग और कद-काठी में भी अंतर मिला, चप्पल भी बदली हुई नजर आई। इससे पुलिस का संदेह गहरा गया। लिहाजा पप्पू मिस्त्री को हिरासत में लेकर कड़ाई से पूछताछ की गई तो उसने सद्दाम के साथ मिलकर हत्या का जुर्म स्वीकार कर लिया। पुलिस का कहना है कि वारदात करने और सबूत छिपाने का तरीका पप्पू को क्राइम पेट्रोल सीरियल देखने से मिला था।

लाश को निकलवाती पुलिस

पप्पू उर्फ सलाम ने पुलिस को बताया कि मृतक रोहित ऑटो चलाता था, तभी जान-पहचान हुई थी। बातों-बातों में उसने बताया था कि उसके और उसके पिता के खाते में बड़ी रकम है। इतना सुनने के बाद आरोपियों ने बतौर कर्ज 1-1 लाख रुपए रोहित से माँग लिए, लेकिन रोहित टालता रहा। कुछ दिन बाद रोहित ने फोन उठाना भी बंद कर दिया, लेकिन दोनों ने किसी तरह फिर से संपर्क स्थापित कर लिया।

जब 8 जून को वह बाइक बनवाने बाड़े में आया तो सलाम और सद्दाम ने उससे रुपयों को लेकर फिर बात की। इस बार भी उसने टाल दिया। इस बात से नाराज होकर आरोपियों ने क्लच वायर से गला घोंटकर हत्या कर दी और बाड़े में ही डेढ़ फीट चौड़ा और 3 फीट गहरा गड्ढा खोदकर लाश को पॉलीथिन में लपेट कर दफना दिया।

ऊपर से मिट्टी और डस्ट डालकर हैंडपंप का पुराना पाइप भी लगा दिया। लाश को दबाने से पूर्व मृतक की टीशर्ट, गमछा और रूमाल निकाल लिया। पुलिस अधीक्षक धर्मवीर सिंह ने बताया कि आरोपियों ने जुर्म स्वीकार कर लिया है।

रीवा से आई फॉरेंसिक टीम

जब पप्पू मिस्त्री उर्फ सलाम खान पुत्र कासिम खान (२७) और सद्दाम खान पुत्र इस्लाम खान (१८) दोनों निवासी गढि़या टोला ने अपराध कबूल कर लिया तो पप्पू को शव का पता बताने लाया गया। गढि़या टोला स्थित उसके बाड़े में शव का पता चलते ही तहसीलदार आशुतोष मिश्रा, टीआई थाना सिविल लाइन अर्चना द्विवेदी, टीआई थाना नागौद आरपी सिंह आरोपी को लेकर पहुंचे। यहां रीवा से फॉरेंसिक अधिकारी डॉ. आरपी शुक्ला को भी बुलाया गया। शव खनन के बाद उसे पोस्टमार्टम के लिए मेडिकल रीवा रेफर किया गया है।