Home Jhabua म0प्र0सरकार कर्मचारीयों के साथ धोखा कर रही है, प्रदेश सरकार अपने खर्च...

म0प्र0सरकार कर्मचारीयों के साथ धोखा कर रही है, प्रदेश सरकार अपने खर्च कम करें कर्मचारीयों एवं पेश्नरों को केन्द्र के समान मंहगाई भत्ता दे सरकार -विधायक कांतिलाल भूरिया

15
0

झाबुआ। राकेश पोद्दार। नगर संवाददाता। कर्मचारीयों एवं पेश्नरों के साथ प्रदेश की भाजपा सरकार सौतेला व्यवहार कर रही है, प्रदेश के कर्मचारीयों को विगत ढाई वर्षो से मंहगाई भत्ते का लाभ नहीं मिला है जबकि प्रदेश सरकार का यह दायित्व है कि जब जब केन्द्र सरकार ने महंगाई भत्ता बढाया है उसी समय राज्य सरकारों भी मंहगाई भत्ता बढाना है। महंगाई भत्ता नहीं बढने से कर्मचारीयों में भारी रोष व्याप्त है। भाजपा सरकार जन कल्याण औरसुराज के 20 वर्ष के नाम पर प्रदेश में करोडों रूपया अनावश्यक फुकं रही है। लेकिन कोराना काल के बाद महंगाई भत्ता नहीं बढा रही है साथ ही वार्षिेक वेतन वृद्वि का पैसा भी हजम कर गई भाजपा सरकार । नई भत्र्ती न होने से कर्मचारीयों पर काम का बोझ बढ रहा है,लेकिन सरकार कर्मचारीयों की समस्याओं पर ध्यान नहीं दे रही है।
उक्त आरोप प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से पूर्व केन्द्रीय मंत्री एवं झाबुआ विधायक कांतिलाल भूरिया ने प्रदेश सरकार पर लगाते हुए बताया कि वर्तमान में मध्यप्रदेश के कर्मचारीयों एवं पेश्नरों के साथ प्रदेश की भाजपा सरकार सौतेला व्यवहार कर रही है एक सरकार अपनी लोकप्रियता बताने के लिए आये दिन शासकीय खर्च से अपनी वाही वाही कर रही है वही कर्मचारीयों एवं पेश्नरों को महंगाई भत्ता देने हेतु सरकार के पास पैसा नहीं है। एक सप्ताह से भाजपा सरकार जन कल्याण और सुराज के 20 वर्ष के नाम पर प्रदेश में करोडों रूपया अनावश्यक फुकं रही है वही कर्मचारीयों को विगत ढाई साल से मंहगाई भत्ता नहीं दिया जा रहा है। कोरोना काल के नाम पर मंहगाई भत्ता रोका गया है अपने व अपनी सरकार के मंत्रीयों को सुविधा देने के नाम पर बेवजह खर्च कर शासन की राशि का दुरूउपयोग किया जा रहा है। कोरोना काल के पश्चात निकटस्थ राज्य राजस्थान एवं छत्तीसगढ सरकार ने मंहगाई भत्तों में बढोत्तरी काफी समय पहले कर दी किन्तु मध्यप्रदेश सरकार के पास कर्मचारीयों एवं पेश्नरों को देने हेतु राशि नहीं है। श्री भूरिया ने बताया कि जब कांग्रेस के कमलनाथ सरकार ने कर्मचारीयों को मंहगाई भत्ता दिया था वह भी भाजपा सरकार के आते ही निरस्त कर दिया वर्तमान में केन्द्र के मंहगाई भत्तें से म0प्र0 के कर्मचारी एवं पेशनर लगभग 16 प्रतिशत कम वेतन भत्ते प्राप्त कर रहे है।
भूरिया ने यह भी बताया कि मंहगाई तथा गैस टंकी, पेट्रोल -डीजल के दाम आसमान को छु रहे है जिससे कर्मचारीयों को जीवन यापन करने में कठिनाईयों का सामना करना पड रहा है, एक ओर अनेक कर्मचारी सेवानिवृतत हो गये है उनकी स्थान पर भत्र्ती भी नहीं की जा रही है एक कर्मचारी दो से तीन कर्मचारी का कार्य कर रहा है लेकिन प्रदेश की भाजपा सरकार जो कि कर्मचारीयों से हाडतोड मेहनत करके के शासन का कार्य कर रहे है लेकिन प्रदेश की सरकार उनकी ओर ध्यान नहीं दे रही है। भूरिया द्वारा मुख्यमंत्री शिवराजसिंह से तत्काल कर्मचारीयों को केन्द्र के समान महंगाई भत्ता देने की मांग की है।