Home Bhopal MP की 50 फीसदी की सरकार का जुमला कांग्रेस का मास्टर स्ट्रोक...

MP की 50 फीसदी की सरकार का जुमला कांग्रेस का मास्टर स्ट्रोक या सेल्फ गोल? | Madhya pradesh assembly Election congress bjp fight over 50 percent commission

5
0
MP की 50 फीसदी की सरकार का जुमला कांग्रेस का मास्टर स्ट्रोक या सेल्फ गोल?

कांग्रेस नेता अरुण यादव

मध्य प्रदेश में जैसे-जैसे विधानसभा चुनाव का समय पास आ रहा है वैसे-वैसे राजनीतिक दल एक दूसरे पर तेज प्रहार कर रहे हैं. मध्य प्रदेश में इस वक्त एक पत्र को लेकर राजनीतिक घमासान मचा हुआ है. इसमें बताया गया है कि राज्य में बिना 50 परसेंट दिए किसी भी ठेकेदार का कोई भुगतान नहीं होता. लघु ठेकेदार संघ ने मुख्य न्यायाधीश को ये पत्र लिखा है, जिसमें कहा गया है कि मध्य प्रदेश में 50% कमीशन देने पर ही भुगतान मिलता है.

मध्य प्रदेश में दो महीने बाद विधानसभा चुनाव होना है, ऐसे में कांग्रेस लगातार भ्रष्टाचार के मुद्दे पर बीजेपी सरकार को घेर रही है. कांग्रेस को लगता है कि 40 फीसदी कमीशन के मुद्दे से उसको कर्नाटक में काफी चुनावी फायदा हुआ था इसलिए कांग्रेस मध्य प्रदेश में बीजेपी सरकार पर 40 नहीं बल्कि 50 फीसदी कमीशन लेने का आरोप लगा रही है.

कांग्रेस ने किया था ये ट्वीट

कांग्रेस नेता अरुण यादव ने एक पत्र को ट्वीट कर लिखा, ‘यह सबूत है कि मध्य प्रदेश में बिना 50 परसेंट दिए किसी भी ठेकेदार का कोई भुगतान नहीं होता. मध्य प्रदेश के लघु ठेकेदार संघ ने लिखा मुख्य न्यायाधीश को पत्र, मध्य प्रदेश में 50 फीसदी कमीशन देने पर ही भुगतान मिलता है. मुख्यमंत्री शिवराज जी क्या आपकी देखरेख में ही ये चल रहा है?’ इस ट्वीट के बाद मध्य प्रदेश में बवाल मच गया.

ये भी पढ़ें- कमीशन लेटर पर छिड़ा हंगामा, प्रियंका-कमलनाथ पर 41 जिलों में FIR

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इसे लेकर ट्वीट किया और कहा कि उन्होंने इस पूरे मामले की जांच करवाई मगर ना तो वो आदमी मिला ना वो संगठन. इसके बाद प्रियंका गांधी सहित अन्य कांग्रेस नेताओं पर FIR दर्ज हुई.

कांग्रेस नहीं दे पाई सफाई

इस मामले में कांग्रेस के नेता ठीक से सफाई नहीं दे पाए. कोई ये साबित नहीं कर पाया कि ये वायरल पत्र सही है. हर कोई सिर्फ 50 फीसदी कमीशन की ही बात करता हुआ नजर आया.

बीजेपी को बैठे बिठाए मिला मुद्दा

इस मामले में बीजेपी को बैठे बिठाए मुद्दा मिला. बीजेपी इस मामले को चुनाव तक लेकर जाएगी. बताएगी कि आखिर कैसे गलत जानकारी कांग्रेस नेताओं ने दी. कांग्रेस सिर्फ गलत आरोप बीजेपी सरकार पर लगाती है.

यह भी पढ़ें-इंदौर में प्रियंका गांधी और कमलनाथ पर FIR, जानें क्या है मामला?