Home Jhabua मप्र वन कर्मचारी संघ द्वारा मुख्यमंत्री के नाम सौपा कलेक्टर को ज्ञापन

मप्र वन कर्मचारी संघ द्वारा मुख्यमंत्री के नाम सौपा कलेक्टर को ज्ञापन

9
0

झाबुआ। राकेश पोद्दार। मप्र वन कर्मचारी संघ द्वारा अपनी मांगो को लेकर कलेक्ट्रेट कार्यालय रैली निकालर पहुचे। जहा पदाधिकारियो सहित बडी संख्या में वन कर्मचारी संघ के द्वारा कलेक्टर को मुख्यमंत्री के नाम अपनी मांगो के निराकरण को लेकर ज्ञापन सौपा गया।

वन कर्मचारी संघ के जिलाध्यक्ष राजेन्द्रसिंह अमलियार द्वारा बताया गया कि विगत कई समय से वन कर्मचारी संघ अपनी मांगो को लेकर आवाज उठा रहा है। लेकिन उसकी मांगो को पुरा नही किया जाकर अनदेखा किया जा रहा है। जिसके कारण आज रैली निकालकर एक बार फिर मुख्यमंत्री के नाम कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा गया है। उनकी द्वारा बताया गया कि मांगो में मप्र विन विभाग में कार्यरत कर्मचारियो को राजस्व ,पुलिस के समान वेतनमान एवं 13माह का वेतन प्रदान किया जावे। वन कर्मचारियो केा सशस्त्र बल घोषित करने हेतु आईपीसी एव ंसीआपी सी में संशोधन कर न्यायिक मजिस्ट्रेट के अधिकार प्रदान किये जायें। वन रक्षक से लेकर अपन प्रधान मुख्य वनरंक्षक स्तर तक के सभी अधिकारियों , कर्मचारियांे को वर्दी अनिवार्य की जाये तथा अपराध प्रक्रिया संहिता की धारा 45 की उन्मुक्ति प्रदान की जाए। समस्त वनरक्षकों को नियुक्ति दनिांक से ग्रेड -पे 1900/5680 का लाभ दिया जावे एवं जिन्हे लाभ प्राप्त हो गया है उनकी वसूली पर सर्वाच्च न्यायालय के निर्णय अनुसार वसूली पर रोक लगाई जावे। स्थाई कर्मी वनरक्षक एवं वन क्षेत्रपाल के संशोधित भर्ती नियम को स्वीकृति प्रदान कर लागू करवाया जाये।स्थाईकर्मी को चतुर्थ श्रैणी में मप्र शासन के आदेशानुसार समायोजित कर सांतवा वेतनमान अनुकंपा नियुक्ति एवं वर्दी प्रदान की जावे। वन अधिकार अधिनियत 2005 के शेष बचे आवेदना ेको समाप् तकर वन भूमि पर हो रहे अतिक्रमण राजनितिक संरक्षण/ भू माफिया, नक्शलाईट से सरंक्षण प्रदान किया जावे। वनकर्मचारियो को महाराष्ट्र सराकर की तर्ज पर 5000 रूपये वर्दी भत्ता प्रदान किया जावे। वनकर्मचारियो को 13 माह का वेतन , पोष्टिक भत्ता, नकसलाईट क्षेत्र में कार्य करने वाले कर्मचारियो को नक्सलाईट भत्ता एवं टाईगर रिजर्व की बीटो मे दो वनरक्षको की पदस्थिति की जावे। राष्ट्रीय उद्यान, टाईगर रिजर्व एवं अभ्यारण्य मे कार्यरत कर्मचारियो को केन्द्र शासन के निर्देशानुसार देय राशि एवं अन्य सुविधाओ का भुगतान किया जाये। आदि अन्य मांगो को ज्ञापन में प्रेषित किया गया है।
श्री अमलियार द्वारा बताया गया कि उक्त मांगो को लेकर कलेक्टर कार्यालय में पहुचकर ज्ञापन सौपा गया जिसमें मांगो को पुरा ना होने पर आगामी कार्यक्रम की भी सूचना दी गई। मांगो को पुरा नही होने पर ़िद्वतिय चरण में 15 मार्च 2023 को स्थानीय विधायक एवं सांसद को ज्ञापन सौपा जाएगा। तत्पश्चात तृतीय चरण में 15 अप्रैल 2023 को भोपाल में रैली एवं धरना प्रदर्शन किया जाएगा। चतुर्थ चरण में 1 मई 2023 से 5 मई 2023 तक शासकीय बंदुके, रिवाॅल्वर, शासकीय वाहन, शासकीय बस्ता जमा करवाया जायेगा। पंचम चरण में 5 मई 2023 से अनिश्चित कालिन हडताल की जाएगी।