Home National Manipur Election 2022: मणिपुर में दूसरे और आखिरी चरण का मतदान कल,...

Manipur Election 2022: मणिपुर में दूसरे और आखिरी चरण का मतदान कल, 92 उम्मीदवारों की साख दांव पर

2
0

Manipur Election 2022: भारत चुनाव आयोग के अनुसार पहले चरण में 78.09 प्रतिशत मतदान हुआ था.चुनाव में नेशनल पीपल्स पार्टी और नगा पीपल्स फ्रंट को चार-चार और एलजेपी, टीएमसी को एक-एक सीट मिली थी.

Manipur Election 2022: मणिपुर में दूसरे और आखिरी चरण का मतदान कल, 92 उम्मीदवारों की साख दांव पर

मणिपुर में कल होगा मतदान

देश के पांच राज्यों में चुनाव अब खत्म होने की तरफ हैं. 5 राज्यों में से मणिपुर  (Manipur) के लिए पहले चरण में 28 फरवरी को वोटिंग हुई और अब दूसरे चरण में कल यानी 5 मार्च को लोग अपने मताधिकार (Voting) का उपयोग करेंगे.इस चरण में 22 विधानसभा सीटों (Vidhansabha election) पर वोटिंग होगी. दूसरे चरण में दो महिला उम्मीदवार समेत कुल 92 उम्मीदवार चुनावी मैदान में हैं.सोमवार को राज्य की कुल 60 सीटों में से 38 सीटों पर वोट डाले गए. इसके नतीजे उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब और गोवा के विधानसभा चुनाव के परिणामों के साथ 10 मार्च को घोषित किए जाएंगे.

बता दें 28 फरवरी को, इंफाल पश्चिम, इंफाल पूर्व, बिष्णुपुर, कांगपोकपी और चुराचंदपुर के पांच चुनावी जिलों में 38 सीटों के लिए मणिपुर विधानसभा चुनाव के पहले चरण में मतदान हुआ था. भारत चुनाव आयोग के अनुसार पहले चरण में 78.09 प्रतिशत मतदान हुआ था. चुनाव में नेशनल पीपल्स पार्टी और नगा पीपल्स फ्रंट को चार-चार और एलजेपी, टीएमसी को एक-एक सीट मिली थी. सैकुल और सैतु के निर्वाचन क्षेत्र के कुछ मतदान केंद्रों पर बूथ कैप्चरिंग, ईवीएम को नष्ट करने, फर्जी मतदान और हिंसा के मुद्दे सामने आए हैं. सीईओ को पुनर्मतदान के लिए कुल 23 मतदान केंद्रों के नाम सौंपे गए.

वोटिंग में 208 ट्रांसजेंडर मतदाता भी शामिल 

वहीं, ट्रांसजेंडर मतदाताओं की संख्या 208 है. इनमें विकलांग मतदाताओं की संख्या 14 हजार 565 है, जबकि 80 साल से ज्यादा उम्र के मतदाताओं की संख्या 41 हजार 867 है. राज्य में मतदान केंद्रों की कुल संख्या 2959 है. चुनाव आयोग के मुताबिक 1 हजार 99 मतदान केंद्रों और 763 मतदान केंद्रों की पहचान संवेदनशील और महत्वपूर्ण के रूप में की गई है.

पिछले चुनाव का गणित

60 सीटों वाले राज्य मणिपुर की विधानसभा का कार्यकाल 19 मार्च 2022 को खत्म हो रहा है. ऐसे में इससे पहले राज्य में सरकार गठन करना होगा. 2017 में मणिपुर विधानसभा चुनाव में कांग्रेस 28 सीटें जीतकर सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी. जबकि बीजेपी 21 सीटों पर जीत दर्ज की थी. 2017 के चुनाव में कांग्रेस 28 सीटों पर जीत के साथ मणिपुर में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी और बहुमत से सिर्फ तीन सीट दूर थी. बावजूद वो इसके सत्ता से दूर रह गई थी. बीजेपी ने 21 सीटें जीतने के बाद नेशनल पीपल्स पार्टी (4), नगा पीपल्स फ्रंट (4), लोजपा (1) और दो अन्य विधायकों के सहयोग से मणिपुर में सरकार बनाई थी. राज्य में बीजेपी के एन बीरेन सिंह मुख्यमंत्री बने थे.

देश के 5 राज्यों- उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, गोवा और मणिपुर के विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान किया था. इनमें से उत्तराखंड, गोवा और पंजाब में वोटिंग हो चुकी है. उत्तराखंड और गोवा में 14 और पंजाब में 20 फरवरी को मतदान एक चरण में ही समाप्त हुआ. वहीं यूपी में 7 चरणों में मतदान होना था, अभी तक 6 चरण के लिए मतदान हो चुका है और अंतिम चरण के लिए 7 मार्च को वोटिंग हुई थी.

ये भी पढ़ें-Assembly Election 2022 News LIVE: चंदौली में बोले CM योगी- रिजल्ट आने से पहले ही SP-BSP के नेता कटाने लगे विदेश का टिकट