Home Jhabua झाबुआ रतलाम मार्ग को बनाया जाएगा सुविधाजनक चैडिकरण के साथ साथ घुमावदार...

झाबुआ रतलाम मार्ग को बनाया जाएगा सुविधाजनक चैडिकरण के साथ साथ घुमावदार रास्ते होंगे सीधे

286
0

100 किलोमीटर लंबे रोड का सर्वे शुरू हुआ

झाबुआ।राकेश पोद्दार। नगर संवाददाता। विगत कई वर्षो से झाबुआ रतलाम मार्ग अव्यवस्थित होने के साथ ही जर्जर स्थिति में हो रहा था। जिसको लेकर कई बार स्थानिय लोगो के साथ सामाजिक एवं राजनैतिक स्तर पर भी आवेदन देकर सुधार की मांग की गई। वही लंबे समय के अंतराल के बाद अब झाबुआ रतलाम मार्ग का लगभग 100 किलोमीटर का पुरा रोड दुरस्त किया जाने का सर्वे शुरू हो चुका है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार झाबुआ रतलाम मार्ग का 100 किलोमीटर का रोड वर्तमान रोड से दुगुना चैडा होगा। साथ ही इस रोड पर स्थित घुमावदार टर्न को भी सीधे करने की प्लानिंग बनाई जा रही है। ताकि आवागमन में आसानी हो और दूर्घटना ना हो। इसी रोड पर तीन बायपास भी बनाए जाएगें ताकि कस्बो की बजाय वाहन सीधे बायपास से गुजर सकें ओर ट्रैफिक जाम ना हो। झाबुआ रतलाम से जोडने वाला रोड वर्तमान में 5.50 मीटर चैडा है। इसे 10 मीटर चैडा करने की प्लानिंग है ताकि दो ट्रक बगैर रूके आसानी से गुजर सके ओर टू व्हीलर वालो को भी ना रूकता पडे। अभ्ज्ञी दो बडे वाहनो को गुजरने में परेशानी होती है। साथ ही टू व्हीलर वालो को आगे निकलने के लिये ओवरटेक मे भी परेशानी आती है। इसे देखते हुये इस रोड को दोगुना तक चैडा करने की योजना है। वही इस रोड प जो घुमावदार टर्न है उन्हे सीधा करने की प्लानिंग है। साथ ही बायपास के लिए भी सर्वे किया जा रहा है। वही रास्ते मे आने वाले पुल पुलियाओ के लिए भी सर्वे किया जा रहा है ताकि रोड को चैडा किया जा सके। इसके बाद डीपीआर बनाई जाएगी और टेंडर जारी किए जाएगे। सालभर के भीतर टेंडर जारी होने की उम्मीद है इससे इस रोड पर आवागमन आसान होगा। मिली जानकारी के अनुसार झाबुआ रतलाम मार्ग को करवड, बामनिया, थांदला एवं मेघनगर वाले हिस्सो से बायपास बनाने की योजना बनाई जा रही है। वर्तमान में बनी सडक को विगत 7 वर्ष पूर्ण हो चुके है लेकिन मेंटेेनेंस नही होने के कारण स्थिति खराब हो गई है। इसके बाद से रोड का निर्माण नही हुआ है। झाबुआ से रतलाम के बीच कई स्थाो पर गड्ढे हो गए है। इससे लोगो को आवागमन मे दिक्कत आ रही है। रोड के सकरे होने के कारण कई बार दूर्घटनाओ की संभावनाएं भी बढ जाती है।
झाबुआ रतलाम मार्ग पर विगत 10 जुलाई से टेाल टैक्स भी शुरू हो गया है। जिसमे दो स्थानो पर टोल वसूली की जा रही है। इसमे से एक कलमोडा के पास और दूसरा मेघनगर मे अनास नदी के पास टोल वसूलली की जा रही है। एमपीआरडीसी की राशि से रोड की मरम्मत और फिर रोड बनाने की प्लानिंग है। इसी तर्ज पर रोड पर टोल शुल्क लिया जा रहा है। झाबुआ रतलाम मार्ग बनने से लोगो को आसानी होगी। वही जहां वर्तमान में दो घंटे लग रहे है उक्त रोड निर्माण के बाद यह ढेड घंटे में ही पहुचा जा सकेगा। उक्त मार्ग गुजरात के मार्ग को भी जोडता है जिससे आने जाने मे भी सुविधा होगी। वाहनो के ओवरटेक की परेशानी भी समाप्त हो जाएगी।
क्या कहना है
दो स्थानो पर टोल शुरू किए गए है। वही रोड निर्माण के लिए फिलहाल सर्वे चल रहा है। इसके बाद डीपीआर बनेगी। फिर बाद में निर्माण कार्य शुरू होगा जिसमे अभी समय लगेगा।
धर्मेन्द्र पाटीदार, एमपीआरडीसी झाबुआ रतलाम मार्ग के प्रभारी।