Home Jhabua टीकाकरण के लिये झाबुआ कलेक्टर ने प्रारंभ की खाटला बैठक खाटला बैठक...

टीकाकरण के लिये झाबुआ कलेक्टर ने प्रारंभ की खाटला बैठक खाटला बैठक के व्यापक परीणाम भी देखने को मिल रहे है

216
0

झाबुआ। राकेश पोद्दार। नगर संवाददाता। मध्यप्रदेश के आदिवासी बाहुल्य झाबुआ जिले में कोरोना संक्रणम की रोकथाम एवं आदिवासीयों में टीकाकरण को बढावा देने के लिये झाबुआ कलेक्टर सोमेश मिश्रा ने खाटला बैठकों का दौर प्रारंभ किया है और इसके व्यापक परीणाम भी देखने को मिल रहे है। झाबुआ कलेक्टर ने आदिवासीयों के बिच पैठ किस प्रकार बनाई जावें और उनसे सिधा जुडाव कैसे हो इस पात का पता लगाकर खाटला बैठके प्रारंभ की है जिसके परिणाम स्वरूप जहां जहां कलेक्टर ऐसी बैठके कर रहे है उन ग्रामीण क्षेत्रों में टीकाकरण का प्रतिशत बढ़ने लगा है और आदिवासी टीकाकरण कराने के लिये प्रेरित हो रहे है।
क्या होती है खाटला बैठक।
अमूमन झाबुआ जिले में खाटला बैठकों का प्रयोग विधानसभा और लोकसभा चुनावों में राजनैताओं द्वारा किया जाता है। जिसके तहत ग्रामीण क्षेत्रों में आदिवासीयों के बिच जाकर खटीया पर बैठक गांव के आदिवासीयों को एकत्र कर उनसे सिधा संपर्क कर संवाद स्थापित किया जाता है। जिससे आदिवासी अपने बिच आये प्रमुख व्यक्ति को पाकर खुश होता है और उसकी बातों को ध्यान से सुनकर उन पर अमल करता है साथ उसके मन में अगर कोई बात होती है तो वह भी उसे व्यक्ति से वह सिधे करता है, इससे भरोसा पैदा होता है। इसे ही खाटला बैठक कहते है, राजनैतिक लोग इन बैठकों में खाने पिने का प्रबंधन भी करते है। कलेक्टर यहां इनसे सिर्फ चर्चा कर उन्हे उन भ्रांतियों से दूर निकालने की कोशिश कर रहे है जोकि टीकाकरण को लेकर आदिवासीयों में पनपी हुई है कि टीकालगाने से बिमार पडेगें या फिर कोई बिमारी लगेगी कलेक्टर उन्हे बता रहे है की कोरोना से बचने के लिये टीका जीवन रक्षक है कलेक्टर ने पहली बैठक जिले की रानापुर तहसील के ग्राम पाडलवा में की और इसके परिणाम सुखद आये और गांव के अधिकांश लोगों ने टीकाकरण करवा लिया अब कलेक्टर पूरे जिले में घूूम-घूम कर इस प्रकार की खाटला बैठके करने के मूड में है।
कलेक्टर की पहल का आश्चर्यजनक परिणाम
मंगलवार को कलेक्टर सोमेश मिश्रा ने ग्राम पंचायत पाडलवा (राणापुर) में ग्रामीणों से खाटला बैठक में रूबरू चर्चा की थी। जिसका बुधवार को आश्चर्यजनक परिणाम सामने आया। ग्रामीणों ने टीकाकरण के लिए बढ़-चढ़कर टीकाकरण करवाया। बुधवार को 50 ग्रामीणों ने एक साथ टीकाकरण केंद्र पर पहुंच कर टीकाकरण करवाया। इस खाटला बैठक का असर शायद गुरुवार को यह प्राप्त होगा कि ग्राम पंचायत पाडलवा शत-प्रतिशत टीका लगाकर जिले के प्रथम ग्राम पंचायत बनेगी। ग्रामीणों ने कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा से खाटला बैठक में वादा किया था कि हम हर घर-घर में जाकर टीकाकरण के लिए प्रेरित करेंगे। जिसका असर बुधवार को 50 ग्रामीणों ने टीकाकरण करवाया कल पूरा ग्राम टीकाकरण करवाकर जिले में परचम लहराएगा हर ग्रामीण गर्व से कहेगा मैंने टीका लगवा लिया। मेरा घर सुरक्षित, मेरा गांव सुरक्षित, मेरा जिला सुरक्षित ,मेरा गांव मेरा गौरव। जीतेगा झाबुआ, हारेगा कोरोना।
वहीं दूसरी और गुरूवार का दिन झाबुआ जिले के लिये सुखद खबर यह भी लेकर आया की आज प्राप्त कोरोना संक्रणम रिपोर्ट में झाबुआ से की गई 791 परिक्षणों में से एक भी व्यक्ति कोरोना पाॅजीटीव नहीं पाया गया अर्थात रिपोर्ट जीरो आई इससे झाबुआ जिले में कोरोना पर विजय प्राप्त करने का मार्ग प्रशस्त हो रहा है।