Home Indore Online License में गलत जानकारी देने पर हो सकती है जेल,...

Online License में गलत जानकारी देने पर हो सकती है जेल, एक लाख का जुर्माना भी

266
0
Represemtative Demo Image

Highlights

  • खुद ही अपना लाइसेंस बनवाओ…पर होशियारी दिखाई तो खैर नहीं…
  • 1 अगस्त से प्रदेश में शुरू हुए ऑनलाइन लर्निंग लाइसेंस को लेकर परिवहन विभाग का कड़ा रुख

 

इंदौर। परिवहन विभाग द्वारा 1 अगस्त से प्रदेश में ऑनलाइन लर्निंग लाइसेंस (Online License) की व्यवस्था लागू की गई है। इससे आवेदक बिना आरटीओ (RTO) ऑफिस जाए घर बैठे ही लर्निंग लाइसेंस (learning license)  प्राप्त कर सकते हैं, लेकिन अगर कोई आवेदक इस सुविधा का दुरुपयोग करते हुए गलत जानकारी देकर लाइसेंस (License)  बनवाता है तो उसे जेल भी जाना पड़ सकता है और एक लाख तक का जुर्माना भी भरना पड़ सकता है।

आरटीओ जितेंद्र रघुवंशी ने बताया कि परिवहन विभाग (Transport Department) द्वारा ऑनलाइन लर्निंग लाइसेंस व्यवस्था में आवेदक को ही आधार कार्ड से अपने नाम, पते और उम्र की जानकारी अपडेट करने के बाद अपनी निजी जानकारी अपलोड करने की सुविधा दी है। आवेदक यहां गलत जानकारी भी भर सकता है, जिससे उसका लर्निंग लाइसेंस तो बन जाएगा, लेकिन जब वह परमानेंट लाइसेंस के लिए आरटीओ ऑफिस (RTO Office) आएगा तब उसके सभी दस्तावेजों और फिजिकल फिटनेस का वेरिफिकेशन (verification) होगा। इस दौरान अगर ऐसी कोई बात सामने आती है कि आवेदक ने गलत जानकारी देते हुए लाइसेंस बनवाया है, तब परिवहन विभाग ऐसे आवेदक के खिलाफ पुलिस में धोखाधड़ी सहित अन्य धाराओं में प्रकरण दर्ज करवाएगा। इसमें आवेदक को छह माह तक की जेल और एक लाख रुपए तक के जुर्माने की सजा हो सकती है।

दुरुपयोग न हो, इसलिए बनाई व्यवस्था

विभाग को उक्त योजना बनाए जाने के समय ही इस बात को लेकर शंका थी कि कोई आवेदक अगर ऑफिस नहीं आएगा तो वह ऑनलाइन व्यवस्था में अपने गलत दस्तावेजों को अपलोड कर सकता है। इसे देखते हुए ही विभाग ने सख्त कार्रवाई की व्यवस्था की है, ताकि कोई भी जानबूझकर गलत जानकारी दर्ज करते हुए लाइसेंस न बनवा सके। उन्होंने बताया कि जल्द ही विभाग ऑनलाइन लाइसेंस रिन्युअल और डुप्लीकेट कार्ड की व्यवस्था भी शुरू करेगा।