Home Jhabua सीसीबी बैंक में हुई चोरी की घटना में पुलिस ने आरोपी के...

सीसीबी बैंक में हुई चोरी की घटना में पुलिस ने आरोपी के घर से बरामद किये 8 लाख 20 हजार रूपये जप्त किये 320 किलोमीटर दूर चोरी करने आये थे बदमाष

101
0

पुलिस अधीक्षक ने प्रेसवार्ता कर लूट की घटना की दी विस्तार से जानकारी
झाबुआ । राकेष पोद्दार। नगर संवाददाता। मंगलवार को पुलिस कंट्रोल रूम में आयोजित पत्रकार वार्ता में विगत 29 जून को जिला सहकारी केन्द्रीय बेंक के काउंटर से 13 लाख से अधिक की चोरी की घटना को लेकर पुलिस द्वारा की गई कार्यवाही एवं सफलता के बारे में विस्तार से जानकारी दी । माईक -वन ने प्रेस को संबोधित करते हुए कहा कि 29 जून को को फरियादी रोहित व साथी लक्ष्मणसिंह रूपयों से भरा बैग लेकर बैंक में जमा कराने हेतु आये थे। करीब 3-12 बजे दोपहर बैंक में भीड़ होने से रूपयों से भरा बैग लेकर लक्ष्मण सिंह बैठा था। इतने में फरियादी रोहित बाथरूम करने के लिये चला गया। उसी समय फरियादी रोहित का साथी लक्ष्मणसिंह बैग को टेबल पर रखकर बैंक के बाहर लगी भीड़ को हटाने के लिये चला गया था। फिर दोनों बैंक के अंदर गये, देखा तो बैग जहां लक्ष्मणसिंह ने रखा था वहां पर नहीं दिखा। फरियादी व साथी लक्ष्मणसिंह द्वारा काफी तलाश करने पर कही कोई पता नहीं चला। कोई अज्ञात बदमाश टेबल पर रखा रूपयों से भरा बैग चुराकर ले गया। जिस पर थाना कोतवाली में अपराध क्रं. 633/2021 धारा 379 भादवि का पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

लूट का मास्टरमाइंड

बैंक चोरी की घटना के खुलासे के लिये की गयी कार्यवाही –
अज्ञात बदमाशों द्वारा बैंक से रूपयों से भरा बैग चोरी कर भागने जैसी वारदात को देखते हुए पुलिस अधीक्षक झाबुआ आशुतोष गुप्ता द्वारा थाना प्रभारी कोतवाली निरी. सुरेन्द्र सिंह गाडरिया को टीमे बनाकर इसका जल्द से जल्द खुलासा करने एवं इस तरह की मोडस आप्रेडिंग करने वाला गिरोह कहां का है इस हेतु आस-पास के जिलों से जानकारी प्राप्त कर मुखबीर मामूर करने के निर्देश दिये गये।
घटना का खुलासा –
पुुलिस अधीक्षक के अनुसार थाना कोतवाली की पुलिस टीम द्वारा तत्काल मौके पर पहुंचकर सीसीटीवी फुटेज के आधार पर मामले की छानबीन की गई। जिसमें संदिग्ध व्यक्तियों द्वारा बड़े ही शातिराना अंदाज से एक ऑटो किराये पर लेकर राजवाड़ा आकर उतरे व जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक झाबुआ में नाबालिग सा दिखने वाला आरोपी बैंक के अंदर जाकर बैंक कर्मी एवं ग्राहको की गतिविधियों पर नजर रखता है व दो अन्य आरोपी बैंक के बाहर व अंदर जाकर नजर रखते है। नाबालिग आरोपी द्वारा मौका देखकर फरियादी रोहित का बैग उठाकर रफूचक्कर होते हुए दिखाई दिये एवं राजवाड़ा आकर फिर से उन्होने बस स्टेण्ड के लिये एक ऑटो किराये पर लिया। तत्काल ही थाना कोतवाली की पुलिस टीम द्वारा ऑटो चालक से पुछताछ करने पर उसके द्वारा बताया गया कि ये तीन लोग थे जिन्होने राजवाड़ा से बस स्टेण्ड जाने हेतु 40/-रू. देकर ऑटो किराये पर लिया किन्तु वह बस स्टेण्ड ना जाकर जिला अस्पताल के सामने ही उतर गये। पुलिस टीम द्वारा जिला अस्पताल के आस-पास के सीसीटीवी फुटेज की छानबीन की गई। जिसमें तीनों आरोपियों द्वारा चर्च कॉलोनी के पास एक कार क्रं. एमपी04-इए-7830 खड़ी की थी उसका पता लगाकर संग्दिधों की पहचान की गई।
पुलिस अधीक्षक के अनुसार साथ ही साथ सभी मूखबीरों को अलर्ट किया गया व पता किया गया की ऐसी वारदात करने का मोडस आपरेण्टी किन आरोपियों का है। तो मूखबीर द्वारा पता चला कि जिला राजगढ़ ब्यावरा के थाना बोडा क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम कडिया सांसी क्षेत्र के लोगो के गिरोह बैंक में जाकर पीड़ितो का ध्यान किसी बहाने से हटा देते है व उनका रूपयो से भरा बैग लेकर धीरे से रफूचक्कर हो जाते है।
जिस पर मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक झाबुआ द्वारा स्वयं थाना प्रभारी कोतवाली एवं आसूचना संकलन की टीम को जिला राजगढ़ ब्यावरा भेजा गया। जहां पर जाकर लोकल थाने की मदद ली गई व पुलिस टीम द्वारा गोपनीय रूप से पुछताछ कर जानकारी एकत्रित की गई। दो दर्जन से अधिक लोगो से पुछताछ करने पर आरोपी की पहचान पुख्ता होने पर उनके घरो पर दबिश दी गई। परन्तु उनके घरों से आरोपी फरार हो गये थे। उनके घरों में छानबीन करने पर 8 लाख,20,हजारद रू. जप्त किये गये। जिस कार से वारदात करने झाबुआ आये थे उस कार मालिक को भी आरोपी बनाया गया है।
पुलिस अधीक्षक झाबुआ द्वारा उक्त चारों आरोपियों की गिरफ्तारी पर 10,000-10,000/-रू. की उद्घोषणा की गई है। इस तरह इस सनसनीखेज बैंक चोरी की घटना का खुलासा करने में पुलिस टीम को सफलता प्राप्त हुई। इस तरह चोरी गये 8,20,000/-रू. को जप्त करने में झाबुआ पुलिस को सफलता प्राप्त हुई।
आरोपियों के नाम – पुलिस ने उक्त सनसनीखेज चोरी में लिप्त अपरोधियों के नामों का भी खुलासा करते हुए बताया कि इनमें सावन उर्फ सावन्त उर्फ चप्पू पिता भारतसिंह सिसोदिया निवासी कडिया सांसी (फरार),काबरा पिता बंशीलाल सिंह सिसोदिया निवासी कडिया सांसी (फरार),रानीबाई पति दिलीप सिंह निवासी ग्राम जाटखेड़ी (कार मालिक फरार),एक नाबालिग आरोपी (फरार)

गमतुसिंह किराडियआरक्षक गमतुसिंह किराडिया के कार्य की पुलिस अधीक्षक ने कि प्रशंसा

सराहनीय कार्य में योगदान –
माईक वन के अनुसार संपुर्ण घटनाक्रम का खुलासा करने में थाना प्रभारी कोतवाली निरी. सुरेन्द्रसिंह गाडरिया, उनि नवलसिंह, प्रआर. 152 रमेश, आर. 524 मनोहर, आर. 30 गमतु एवं आर. 98 मंगलेश पाटीदार, आर. 552 महेश प्रजापति, आर. 573 संदीप बघेल, आर. 193 दीपक पटेल का सराहनीय योगदान रहा। वही पुलिस अधीक्षक आशुतोष गुप्ता ने बताया कि आरक्षक गमतुसिंह किराडिया द्वारा सीसीटीवी फुटेज को गंभीरता से जांच कर तुरंत ही पुलिस अधीक्षक को रातो रात फोन पर उक्त आरोपी की सूचना दी जिस पर से उनकी तत्परता से लूट के रूपयो को बरामद करने मे पुलिस को बडी सफलता मिली है। वही जल्द ही आरोपियो को भी धरदबौच लिया जाएगा। उक्त सराहनीय कार्य पर पुलिस टीम को पुलिस अधीक्षक झाबुआ द्वारा पुरूस्कृत करने की घोषणा की।