Home National उमर अब्दुल्ला के धारा 370 को बहाल करने की मांग पर बोले...

उमर अब्दुल्ला के धारा 370 को बहाल करने की मांग पर बोले अमित शाह- 75 सालों से यही धारा लागू थी फिर शांति क्यों नहीं हुई

20
0

 

Amit Shah on Article 370: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने उमर अब्दुल्ला के बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि जम्मू कश्मीर में 75 साल से धारा 370 लागू थी, फिर क्यों वहां शांति नहीं आई.

गृह मंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah)

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कांफ्रेंस नेता उमर अब्दुल्ला (Omar Abdullah) के धारा 370 पर दिए बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि धारा 370 तो पिछले 75 सालों से कश्मीर में लागू थी, फिर क्यों शांति नहीं थी. अगर शांति और धारा 370 का कोई संबंध है तो 1990 में क्या धारा 370 लागू नहीं थी. गृह मंत्री ने कहा कि हमारे खिलाफ बातें होती थीं कि लंबे समय तक कर्फ्यू लगा रहा और इंटरनेट बंद रहा. लेकिन मैं जम्मू-कश्मीर गया था और वहां के युवाओं से पूछा कि हम कर्फ्यू खोल देते तो कौन मरता? जवाब मिला हम मरते यानी युवा मरते. युवाओं ने मुझसे कहा कि सरकार ने कर्फ्यू लगाकर हमें बचाया है.

एक कार्यक्रम में शामिल हुए गृह मंत्री ने कहा, जम्मू कश्मीर में जिस प्रकार का विकास इस समय हो रहा है, जिस प्रकार की कानून व्यवस्था वहां अब बनी है, इससे वहां पर्यटन भी बढ़ा है (Amit Shah on Article 370). जन कल्याण की योजनाओं का लाभ वहां के लोगों तक पहुंचाने में जम्मू कश्मीर आज अच्छा प्रदर्शन कर रहा है. बता दें कुछ दिन पहले उमर अब्दुल्ला ने कहा था कि 370 के निरस्त होने के बाद कहा गया अंबानी, टाटा और अडानी निवेश लाएंगे, जिससे रोजगार के अवसर पैदा होंगे, लेकिन कुछ नहीं हुआ. स्थानीय लोगों को परियोजनाओं से भी रोजगार नहीं मिल रहा.

हालात खराब करने का आरोप लगाया

उमर अबदुल्ला ने कहा था कि उनके शासन के समय जिन इलाकों से आतंकवाद का सफाया हुआ था, वहां अब फिर से आतंकवाद बढ़ रहा है. उन्होंने कहा कि ये आतंकी बाहर से नहीं आए, बल्कि कश्मीर के ही नौजवान हैं, जो गुस्से और अन्य कारणों से हथियार उठा लेते हैं (Omar Abdullah Comment on Article 370). उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि बीजेपी की केंद्र सरकार ने जम्मू कश्मीर के हालात फिर से खराब कर दिए हैं. उमर अब्दुल्ला ने इतना तक कहा कि अगर कांग्रेस तैयार नहीं है, तो नेशनल कॉन्फ्रेंस अनुच्छेद 370 की बहाली की लड़ाई खुद लड़ेगी.

पंजाब चुनाव पर क्या बोले गृह मंत्री?

गृह मंत्री ने पंजाब चुनाव (Punjab Elections) पर कहा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किसान आंदोलन को समाप्त करने के लिए बहुत बड़ा दिल दिखाकर तीनों कृषि कानूनों को वापस ले लिया. पंजाब में चुनाव विकास के आधार पर होगा. जिसका अच्छा प्रदर्शन होगा, उसकी सरकार बनेगी. अमित शाह ने आगे कहा, गठबंधनों से वोटों के गणित का आंकलन करना उचित नहीं है. पहले सपा और कांग्रेस के गठबंधन के बाद कहा जाता था कि अब क्या होगा, उसके बाद जब तीनों पार्टियां एक साथ हुईं तब भी ऐसे सवाल किए जाते थे. लेकिन दोनों बार बीजेपी जीती है. जनता अब जागरूक है.

यूपी में बहुमत से सरकार बनाने पर बोले

उन्होंने कहा कि मैं पूरे विश्वास के साथ कहना चाहता हूं कि उत्तर प्रदेश में हम प्रचंड बहुमत से सरकार बनाने वाले हैं. गृह मंत्री ने कहा, भारत की अर्थव्यवस्था अब दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ रही है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नीतियों के कारण हमारी अर्थव्यवस्था कोविड-19 (Economy in Covid-19) के प्रभाव से जल्द बाहर आ गई. मोदी सरकार ने अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए पिछले 2 साल में कई महत्वपूर्ण फैसले लिए हैं इसलिए कोरोना के बाद हम पर वैश्विक मंदी का ज्यादा प्रभाव नहीं पड़ा. भारत के अर्थतंत्र को उभरने में उतना समय नहीं लगा, जितना दुनिया के अन्य देशों को लगा है.

विशेषज्ञों से आंकड़ों का अध्ययन करने को कहा

अमित शाह ने कहा, कांग्रेस की सरकारें देश में कई वर्षों तक रहीं, समाजवादी विचारधारा के लोगों की सरकारें भी कई जगह रहीं, कम्युनिस्टों की सरकारें कई जगह रहीं. एनडीए (NDA) की सरकारें भी कई राज्यों और केंद्र में रही हैं. देश के विशेषज्ञों से मेरा निवेदन है कि आंकड़ों का एक तुलनात्मक अध्ययन कर देश की जनता के सामने रखें कि किस सरकार के आने पर देश में ज्यादा विकास होता है.