Home Jammu & Kashmir सनसनीखेज खुलासाः पाकिस्तान से जम्मू की जेल तक बिछे हवाला के तार,...

सनसनीखेज खुलासाः पाकिस्तान से जम्मू की जेल तक बिछे हवाला के तार, इस बार किताब के जरिए होने जा रहा बड़ा खेल

203
0
Demo Pic

पाकिस्तान से जम्मू की सेंट्रल जेल तक आतंकी और हवाला नेटवर्क संचालित किए जाने की बड़ी साजिश का पर्दाफाश हुआ है। अंतरराष्ट्रीय सीमा के नजदीकी गांव चकरोई से गिरफ्तार आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के ओवर ग्राउंड वर्कर (ओजीडब्ल्यू) के खुलासे के बाद कोट भलवाल स्थित सेंट्रल जेल में पुलिस ने छापा मारकर चार से पांच मोबाइल फोन, सिम कार्ड और अन्य आपत्तिजनक सामग्री बरामद की है।

उत्तरी कश्मीर के हंदवाड़ा के बोधपोरा के गिरफ्तार ओजीडब्ल्यू मोहम्मद मुजफ्फर बेग के पास से पांच सिमकार्ड के साथ हवाला के पांच लाख रुपये भी बरामद हुए हैं। सूत्रों के अनुसार पूछताछ में इसने खुलासा किया है कि यह रुपये और सिम कार्ड जेल में बंद पाकिस्तानी आतंकियों को मुहैया कराने के लिए थे। वह इन आतंकियों से मोबाइल फोन के जरिए लगातार संपर्क में था।

इस सूचना के बाद कोट भलवाल जेल में छापा मारकर मोबाइल फोन, सिम कार्ड और अन्य आपत्तिजनक सामग्री जब्त की गई। पूछताछ में उसने बताया कि रुपये और सिम कार्ड किताब में छिपाकर आतंकियों तक पहुंचाए जाने थे। पुलिस यह भी जांच कर रही है कि जेल में बंद आतंकियों की ओर से हवाला राशि और सिम का कैसे और किस लिए उपयोग किया जाता।

जेल के अंदर मेमोरी कार्ड व सिम के साथ मोबाइल फोन कैसे पहुंच गए

जेल के अंदर से हवाला माड्यूल संचालित किए जाने की साजिश के तहत कुछ और गिरफ्तारियां की जा सकती हैं। पुलिस यह भी पता लगाने में जुटी है कि जेल के अंदर मेमोरी कार्ड व सिम के साथ मोबाइल फोन कैसे पहुंच गए। सूत्रों के अनुसार मुजफ्फर चकरोई गांव के लबा राम लाल की पत्नी से कोट भलवाल जेल में मिला था। इस जेल में मुजफ्फर का मामा सजा काट रहा था और लबा राम भी बंद था।

इस दौरान लबा राम की पत्नी उससे मुलाकात करने आती थी। यहीं मुजफ्फर से उसकी पहचान हो गई। एक माह पूर्व सजा पूरी होने पर लबा राम घर पहुंच गया था। इस बीच मुजफ्फर का लबा राम के घर कई बार आना-जाना हुआ। 20 मार्च को भी मुजफ्फर चकरोई में लबा राम के घर पर था। लॉकडाउन होने के कारण वह अपने घर नहीं पहुंच पाया। इसी दौरान सूचना मिलने पर पुलिस ने उसे पूछताछ के लिए उठाया। तब से मुजफ्फर से इस मामले में पूछताछ की जा रही थी।

पुलिस ने मामला दर्ज कर मकान मालिक को भी पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है। मकान मालिक के बैंक खाता व अन्य दस्तावेज कब्जे में लेकर जांच की जा रही है ताकि यह पता लगाया जा सके कि हवाला की राशि उसके खाते में तो नहीं आती रही है।