Home Jhabua सकल व्यापारी संघ ने प्रथम कोरोनाकाल में सहयोग देने वाले प्रथम 20...

सकल व्यापारी संघ ने प्रथम कोरोनाकाल में सहयोग देने वाले प्रथम 20 लोगो का रखा सम्मान समारोह

148
0

झाबुआ।राकेश पोद्दार।नगर संवाददाता। सकल व्यापारी संघ झाबुआ द्वारा विगत वर्ष 2020 में प्रथम कोरोनाकाल में मार्च माह से लगे लाॅकडाउन में जून माह तक 50 हजार से अधिक जरूरतमंत लोगों को उनके स्थान पर जाकर प्रतिदिन निःषुल्क भोजन के पैकेट और 80 हजार से अधिक पलायन से लौटने वाले ग्रामीण महिला-पुरूषांे को स्वादिष्ट थुल्ली के पैकेट वितरित किए। इस ऐतिहासिक और भव्य कार्य में विषेष सहयोग देने वाले कुल 157 लोगांे मंे कोरोकाल के चलते प्रथम 20 लोगों का सम्मान समारोह का आयोजन 25 अगस्त, बुधवार रात 8.30 बजे से पैलेस गार्डन पर रखा गया। अन्य सभी सहयोगियों को उनके घरों पर जाकर सम्मानित किया जाएगा।
उक्त समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में क्षेत्रीय सांसद गुमानसिंह डामोर, सेवानिवृत्त प्राचार्य एवं वरिष्ठ इतिहासकार डाॅ. केके त्रिवेदी, सकल व्यापारी संघ के वरिष्ठ संरक्षक एवं वरिष्ठ अधिक्ता रमेश डोषी तथा भील सेवा संघ के अध्यक्ष अजय डामोर उपास्थित थे। समारोह की अध्यक्षता सकल व्यापारी संघ अध्यक्ष अध्यक्ष नीरजसिंह राठौर ने की। प्रारंभ में अतिथियों का स्वागत व्यापारी संघ के सह-सचिव हरिष शाह लालाभाई, कोषाध्यक्ष राजेष शाह, वरिष्ठ ओम सोनी, विकास शाह, प्रवीण रूनवाल, कैलाषचन्द्र श्रीमाल, एमएल फुपलगारे, पं. गणेषप्रसाद उपाध्याय, मनोज कटकानी, नीरज गादिया, संजय कांठी, संजय शाह, प्रेमप्रकाष कोठारी, राजनारायण गुप्ता, मीडिया प्रभारी दौलत गोलानी, हार्दिक अरोरा आदि ने किया। बाद स्वागत उद्बोधन में सकल व्यापारी संघ अध्यक्ष श्री राठौर ने विगत वर्ष 2020 में मार्च माह से लेकर जून तक संस्था द्वारा किए गए विशेष कार्यों पर प्रकाष डाला तथा इसका आय-व्यय का ब्यौरा भी प्रस्तुत किया।
भूखे को तृप्त करने से बड़ा ओर कोई कार्य नहीं
मुख्य अतिथि सांसद श्री डामोर ने अपने उद्बोधन मेें सर्वप्रथम झाबुआवासियों की प्रसंषा करते हुए कहा कि यहां के लोग काफी मिलनसार और सेवाभावी है। सभी मिलकर कार्य करते है। जिसकी सराहना उनके द्वारा हमेषा भोपाल और दिल्ली में संसद भवन में अपने व्यक्तव्यों के दौरान भी की जाती है। बाद सकल व्यापारी संघ झाबुआ के कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि व्यापारी संघ ने पिछले वर्ष प्रथम लाॅकडाउन में जब देश के प्रधानमंत्री ने तीन महीने तक अत्यधिक सख्त लाॅकडाउन लगाया था, तब सभी लोग कोरोना के भय के कारण अपने घरांे से बाहर नहंी निकल रहे थे, इस बीच इस संस्था के पदाधिकारी-सदस्यों और उनसे जुड़े सेवाभावी कार्यकर्ताओं ने घर-घर जाकर सडकों पर घूमकर जरूरतमंदों को भोजन उपलब्ध करवाया। साथ ही राजस्थान और गुजरात से आने वाले हजारों भोलेभाले भटकते ग्रामीणों के लिए आहार की व्यवस्था की, इससे बड़ा पुनित कार्य ओर कोई हो नहीं सकता है। सांसद डामोर ने कहा कि इसके लिए मैं ह्रदय से पूरे संसदीय क्षेत्र की जनता की ओर से व्यापारी संघ का आभार व्यक्त करता हूॅ।
निःस्वार्थ सेवा करना हर किसी के बस की बात नहीं
सेवानिवृत्त प्राचार्य डाॅ. केके त्रिवेदी ने कहा कि आज के समय दिखावे के लिए सेवा कार्य बढ़े है, लेकिन निःस्वार्थ सेवा करना हर किसी के बस की बात नहीं होती है, वह कार्य सकल व्यापारी संघ ने किय हैा। मैं स्वयं इसका साक्षी हू और व्यापारी संघ के उक्त कार्यों की तहेदिल से बहुत प्रसंषा करता हूॅ। वरिष्ठ अधिवक्ता रमेश डोषी ने संक्षिप्त उद्बोधन में व्यापारी संघ द्वारा समय≤ पर किए जाने वाले सामाजिक, धार्मिक, रचात्मक कार्यों के साथ हर क्षेत्र में सहरानीय भूमिका का निर्वहन करने पर साधुवाद दिया।
इनका किया गया सम्मान
सकल व्यापारी संघ सचिव पंकज जैन मोगरा ने बताया कि प्रथम केोरोनाकाल में जिन कुल 157 लोगांे ने संस्था को प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष सहयोग प्रदान किया। किसी ने अर्थ के जरिये तो किसी ने सामग्री के जरिये तो किसी ने श्रमदान के जरिये भी दिन-रात अपनी सेवाएं देकर जरूरमंदों और पलायन पर जाने वाले ग्रामीणांे को पिटोल बेरियर एवं फुलमाल पर जाकर भोजन के पैकेट वितरित किए। उनमें प्रथम 20 में नुरूद्दीनभाई बोहरा, अषोक शर्मा, पवन सोनी, बाबुलाल कोठारी, राकेष त्रिवेदी, दिगंबर जैन समाज की ओर सभी सहयोग राशि प्रदान की गई थी, इस हेतु कार्यक्रम मंे उपस्थित निलेश शाह, श्रीमती आयषा कुरैषी, गोपाल सोनी, जगदीष सिसौदिया, प्रमोद भंडारी, संकल्प ग्रुप से भारती सोनी, श्री गिल बेटरी वाले, चंदरसिंह चंदेजल, रोहित नीमा, अमित सिसौदिया, धर्मेन्द्रसिंह सोलंकी आदि का सम्मान अतिथियों ने पुष्पमाला पहनाकर एवं उन्हें अभिनंदन-पत्र देकर किया। समारोह में बड़ी संख्या में व्यापारी संघ की कार्यकारिणी के पदाधिकारी एवं सदस्य उपस्थित थे। आभार व्यापारी संघ के वरिष्ठ उपाध्यक्ष कमलेश पटेल ने माना। समापन पर सभी ने राष्ट्रगान भी किया।