Home Jhabua ब्रह्माकुमारी संस्था द्वारा ध्वजारोहण कर दिलवाया संकल्प

ब्रह्माकुमारी संस्था द्वारा ध्वजारोहण कर दिलवाया संकल्प

25
0

झाबुआ। राकेश पोद्दार। मध्य प्रदेश राजयोग एक मनोविज्ञान है जो मानसिक बल बढ़ाता है ब्रम्हाकुमारी जयंती प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरी विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित शिवजयंती स्नेह मिलन में उक्त विचार व्यक्त करते हुए ब्रह्माकुमारी जयंती दीदी ने संबोधित करते हुए कहा की वर्तमान समय 21वीं सदी जिससे तनाव की सदी कहा गया है। इस तनाव की सदी में मानसिक बल को यदि बढ़ाना है तो 24 घंटे में से कुछ समय हम सभी मनुष्य आत्माओं को राज योग द्वारा पावर हाउस परमपिता परमात्मा से मन को जोड़ने की नितांत आवश्यकता है और उसकी विधि है राजयोग आपने कहा की राजयोग आचार विचार और व्यवहार को संयमित करता है मानसिक संतुलन को बनाता है। राजयोग में किसी निश्चित आसन की आवश्यकता नहीं है मन और बुद्धि को एकाग्र कर बैटरी को चार्ज करना है। राजयोग हमारे संस्कारों का शुद्धिकरण और परिवर्तन करता है राजयोग से अशुद्ध संकल्पों का निवारण होता है राजयोग सभी योगों का राजा है।
इस शुभ अवसर पर सिल्वर मेडल विजेता बहन पार्वती किराड का भी सम्मान किया गया। अपने विचार व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि हर व्यक्ति के अंदर कुछ न कुछ विशेषताएं या कला छपी हुई है आवश्यकता है उसे पहचान कर दृढ़ता पूर्वक अपने लक्ष्य को पाने की आपने कहा ऐसा सम्मान मेरा पहले कभी किसी ने नहीं किया मैं इस सम्मान को पाकर भाव विभोर हो गई ब्रह्माकुमारी संस्था की विशेषता है कि यहां पर आत्मीय सम्मान अवश्य हर मनुष्य आत्मा को दिया जाता है इस अवसर पर शिव ध्वजारोहण किया गया एवं शिव ध्वज के नीचे सभी ने कुछ संकल्प अपने जीवन को परिवर्तन करने के लिए किए जैसे पर चिंतन पर दर्शन से दूर रहकर आत्म चिंतन एवं परमात्मा चिंतन की ओर ध्यान देंगे मन वचन कर्म से किसी को भी दुख ना देने का प्रयास करेंगे क्षमा भाव के गुणों को जीवन में धारण करेंगे सभी ने विशेष मेडिटेशन का अभ्यास किया। उक्त कार्यक्रम हॉस्पिटल परिसर में ब्रह्माकुमारीज के अग्रणी भ्राता रमेश सोलंकी जी के यहां संपन्न हुआ जहां ब्रह्मा कुमारीज परिवार एवं झाबुआ के प्रबुद्ध जनों ने अपनी गरिमामई उपस्थिति दर्ज की।