Home Jhabua शासकीय पोलीटेक्निक कॉलेज झाबुआ में पांच दिवसीय आपदा प्रबंधन प्रशिक्षण कार्यक्रम

शासकीय पोलीटेक्निक कॉलेज झाबुआ में पांच दिवसीय आपदा प्रबंधन प्रशिक्षण कार्यक्रम

39
0

समग्र आपदा प्रबंधन विषयक जिला स्तरीय प्रशिक्षण स्वंय सेवी संस्था हेतु आयोजित किया गया

झाबुआ। राकेश पोद्दार। मध्यप्रदेश शासन के निर्देशानुसार शासकीय पोलीटेक्निक कॉलेज झाबुआ में पांच दिवसीय भूकम्प विरोधी भवन निर्माण प्रशिक्षण कार्यक्रम म.प्र. के आपदा प्रबंधन संस्था के कार्यपालन संचालक व गृह संचिव रविन्द्र सिंह आई ए एस के नेतृत्व में किया गया। झाबुआ में पांच दिवसीय आपदा प्रबंधन प्रशिक्षण कार्यक्रम समग्र आपदा प्रबंधन विषयक जिला स्तरीय प्रशिक्षण स्वंय सेवी संस्था हेतु आयोजित किया गया। आज पुलिस अधीक्षक अगम जैन उपस्थित रहे।


श्री जैन ने अपने उद्बोधन में कहा कि कुछ चीजे जो अचानक होती है और इसका सामना हमें करना होता है जिले में पूर्व में जैसे पेटलावद में बलास्ट हुआ था, कोराना की महामारी, उतराखण्ड में बादल का फटना, बोरवेल में बच्चों का गिरना यह भी एक आपदा है, हम चाहते है इस प्रशिक्षण का आप फायदा ले, हो सकता है पुलिस आपदा के समय पर नहीं पहुंच पाए किंतु आप मोर्चो सम्माल ले और घटना को नियत्रंण में कर सकते है। इस प्रशिक्षण का पुरा लाभ ले और इसे शेयर भी करें जिससे जिले में यदि कोई आपदा आती है तो संयुक्त रूप से हम उसका सामना कर जनहानी रोक सकेंगे। इस अवसर पर डिस्ट्रिट कमाडेन्ंट होमगार्ड शशीधर पिल्लाई के द्वारा प्रेक्टिकल के माध्यम से बाढ में डुबे व्यक्तियों को बचाने के तरीके, आग से नियत्रंण के लिए कार्यवाही एवं भूकंप आदि आपदा के समय की जाने वाली कार्यवाही के संबंध में सभी को प्रशिक्षण दिया। सीविल डिफंेस के कार्यकताओं के द्वारा भी आपदा प्रबधंन के संबद्ध में प्रशिक्षण प्राप्त किया एवं आपदा के संबंध में किस तरह से कार्यवाही की जा सकती है इसके संबंद्ध में अवगत कराया।
उक्त प्रशिक्षण में संस्थान के संयुक्त संचालक डाॅ जार्ज व्ही जोसेफ गृह विभाग म.प्र. शासन ने कार्यशाला में पहुंचकर आपदाओं, विद्यमान खतरों एवं सवेदनशीलता के बारे में विचार रखे। अपने उद्बोधन में उन्होंने बताया की आपदाओं के प्रभाव को कम करना है। तो समुदाय को तैयार करना होगा तभी आपदाओं से होने वाले नुकसान को कम किया जा सकता है।
भूकम्प विरोधी भवन निर्माण प्रशिक्षण कार्यक्रम में आज एनजीओ, सरकारी इंजिनियर, प्राइवेट इंजिनियर, कान्ट्रेक्टर एवं इंजिनियर विद्यार्थियों को सम्मिलित किया गया है। प्रशिक्षण कार्यक्रम में भोपाल में आपदा प्रबंधन संस्थाएं से आए संयुक्त संचालन डॉ. जार्ज वी.जे. जोसेफ ने सभी प्रतिभागियों को आपदा बचाव व सुझाव कि जानकारी साझा कि, इस पांच दिवसीय कार्यक्रम में प्रतिभागियों को जागरूक किया जा रहा है, कि भूकम्प जैसी आपदा से अपने भवनों को सुरक्षित किया जा सकता है। एनजीओ के साथ इस प्रशिक्षण में यूनिसेफ से सुश्री स्वाति दे, सुश्री मिनाक्षी एवं शास्वत नायक, जिम्मी निर्मल, एनआरएलएम के 20 स्वयं सहायता समूह की महिला अध्यक्ष उपस्थित थे। कार्यक्रम का सफल संचालन कार्यक्रम के समन्वयक एवं संस्थान में पदस्थ श्री अभिषेक मिश्रा के द्वारा किया गया। तकनिकि विशेषज्ञ के रूप में श्रीमती नेहा श्रीवास उपस्थित थी।
प्रशिक्षक सत्र में अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत दिनेश वर्मा व प्राचार्य पॉलिटेक्निक कॉलेज झाबुआ गीरिश गुप्ता, कार्यपालन यंत्री लोक निर्माण विभाग श्रीमती रेशम गामड़, एसडीओ डब्लयूडी डी.के. शुक्ला, मध्यप्रदेश जन अभियान परिषद के जिला समन्वयक भीम सिंह डामोर के सहयोग से पांच दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का सयोंजन किया जा रहा है। इस प्रशिक्षण में भोपाल आपदा प्रबंधन संस्था से आये टीम के इंजीनियर नेहा श्रीवास्तव ने बताया कि जब हम भवन निर्माण करे तो भारतीय मानको का पालन करना चाहिये व ब्यूरो ऑफ इंडिया को पालन करना अनिवार्य है।