Home Bhopal Encroachers attacked forest department team with arrows 14 injured au568 | पेड़...

Encroachers attacked forest department team with arrows 14 injured au568 | पेड़ काटने से रोका तो वन विभाग की टीम पर तीर-गोफन से किया हमला, 14 घायल

11
0
पेड़ काटने से रोका तो वन विभाग की टीम पर तीर-गोफन से किया हमला, 14 घायल

Attack on Forest Department Team: बताया जा रहा है कि यह लोग बाहरी हैं. पिछली बार जब वन विभाग की टीम ने अतिक्रमणकारियों को जंगलों से खदेड़ दिया था. उन्होंने फिर से संगठित होकर अपनी पूरी ताकत के साथ अतिक्रमण कर लिया है.

अतिक्रमणकारियों ने किया वन विभाग की टीम पर हमला

Image Credit source: TV9 Network

बुरहानपुर: मध्य प्रदेश के बुरहानपुर के जंगलों में अतिक्रमणकारियों ने वन विभाग की टीम पर हमला कर दिया. सूचना मिलने पर वन विभाग की टीम अतिक्रमणकारियों को खदेड़ने के लिए पहुंची हुई थी. 200 से अधिक अतिक्रमणकारियों ने वन विभाग की टीम को घेरकर लिया. अतिक्रमणकारियों ने तीर और गोफन से हमला कर दिया. इस हमले में एक वन कर्मी और एक ग्रामीण को तीर लगा है. 14 वन कर्मी घायल बताए जा रहे हैं. घालय लोगों का बुरहानपुर के जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है. सूचना मिलने पर सीसीएफ आरपी राय भी घायलों को देखने अस्पताल पहुंचे.

दरअसल, 200 से अधिक अतिक्रमणकारियों के जंगल में पहुंच कर अतिक्रमण करने की सूचना वन विभाग को मिली थी. इसके बाद वन विभाग की टीम ने योजना बनाकर बुरहानपुर के नेपानगर के घाघराला के जंगल में दबिश दी. जैसे ही वन विभाग की संयुक्त टीम वहां पहुंची. उसके बाद अतिक्रमणकारियों ने टीम को घेर कर उन पर तीर और गोफन से हमला कर दिया.

यह भी पढ़ें: जंगल छोड़ इंसानी बस्ती में क्यों घुस रहे बाघ- तेंदुआ, क्या कह रहे वाइल्ड लाइफ एक्सपर्ट?

घायल लोगों का इलाज अस्पताल में चल रहा है. डॉक्टर अंसारी के अनुसार घायल अभी खतरे से बाहर हैं. इस मामले पर सीसीएफ आरपी राय ने जानकारी देते हुए कहा, “इसके पूर्व में वन अतिक्रमणकारियों को वनों से खदेड़ दिया था. ऐसी सूचना प्राप्त हुई कि वह 3 दिन पहले 150 से 200 वन अतिक्रमणकारी जंगलों पर पेड़ों की कटाई एवं अतिक्रमण करने के उद्देश्य से पहुंचे हैं. उनके पास देसी बम और बंदूकें भी हैं. कल रात उन्होंने डराने के उद्देश से फायरिंग और बमबारी भी की. इसकी सूचना कलेक्टर और एसपी को वन मंडल की ओर से लिखित में दे दी गई. इसी के चलते विभिन्न मंडलों से स्टॉप वहां जमा किया गया है. साथ ही 60 एसएसएफ के जवान हैं. 4 सोमारी इकट्ठा है बहुत जल्द ही अतिक्रमणकारियों को खदेड़ कर जंगलों से भगाने का प्रयास करेंगे.”

वन विभाग के कर्मियों के साथ की थी पिटाई

बता दें कि अभी कुछ दिन पहले ही अतिक्रमणकारियों ने वन कर्मियों के साथ मारपीट की थी. इसके बाद बुरहानपुर पुलिस में घेराबंदी कर 36 वन अतिक्रमणकारी जिसमें की महिला-पुरुष दोनों शामिल थे. उनको राउंडअप कर जेल भेज दिया गया था. हर 8 दिन से 15 दिन में अतिक्रमणकारी वनों में वन कटाई एवं अतिक्रमण करने के उद्देश्य से पहुंच जाते हैं.

संगठित होकर अतिक्रमणकारियों ने फिर से किया हमला

बताया जा रहा है कि यह लोग बाहरी हैं. पिछली बार जब वन विभाग की टीम ने अतिक्रमणकारियों को जंगलों से खदेड़ दिया था. उन्होंने फिर से संगठित होकर अपनी पूरी ताकत के साथ अतिक्रमण कर लिया है. अब तो उनके पास देसी बम और बंदूकें भी हैं. अगर इन अतिक्रमणकारियों का प्रशासन ने स्थाई समाधान नहीं निकाला तो वह दिन दूर नहीं जब अतिक्रमणकारी जंगलों में कब्जा कर लेंगे और वन नष्ट हो जाएंगे.

यह भी पढ़ें: राहल गांधी को राजनीति में नहीं मिले मौका, देश से बाहर किया जाए, फूटा प्रज्ञा ठाकुर का गुस्सा