Home COVID-19 देश में कोरोना से अब तक 4,41,411 लोगों की मौत, तीसरी लहर...

देश में कोरोना से अब तक 4,41,411 लोगों की मौत, तीसरी लहर पर AIIMS ने कही बड़ी बात

13
0
Representative Demo Image
Highlights
  • भारत में कोरोना के मामले कम नहीं हो रहे हैं
  • एम्स ने तीसरी लहर की संभावना को खारिज किया है
  • बच्चे ‘अधिक संवेदनशील’ होंगे क्योंकि उनका टीकाकरण नहीं किया

 

देश में एक दिन में कोविड-19 के 37,875 नए मामले आने से संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 3,30,96,718 हो गयी जबकि उपचाराधीन मरीजों की संख्या कम होकर 3,91,256 हो गयी।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, 369 और मरीजों के जान गंवाने से मृतकों की संख्या 4,41,411 पर पहुंच गयी। उपचाराधीन मरीजों की संख्या संक्रमण के कुल मामलों का 1.18 प्रतिशत है।

स्वास्थ्य मंत्रालय बताया कि कोविड-19 से स्वस्थ होने वाले लोगों की राष्ट्रीय दर 97.48 प्रतिशत है। 24 घंटों में कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या में 1,608 मामलों की कमी दर्ज की गयी।

बताया जा रहा है कि अक्टूबर तक कोरोना की तीसरी लहर कभी भी आ सकती है। हालांकि अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के निदेशक रणदीप गुलेरिया ने देश में तीसरी लहर की संभावना को खारिज कर दिया है।

उन्होंने कहा है कि देश में तीसरी लहर आएगी या नहीं, यह काफी हद तक इस बात पर निर्भर करता है कि लोग कोविड मानदंडों का पालन कर रहे हैं या नहीं। उन्होंने कहा, ‘मुझे नहीं लगता कि हम तीसरी लहर देखेंगे जो दूसरी लहर जितनी खराब होगी।

क्या बच्चों को प्रभावित करेगी तीसरी लहर

इस बीच, इस आशंका के बारे में पूछे जाने पर कि संभावित तीसरी लहर बच्चों को अधिक संक्रमित कर सकती है, एम्स प्रमुख ने कहा कि बच्चे ‘अधिक संवेदनशील’ होंगे क्योंकि उनका टीकाकरण नहीं किया जा रहा था।

वयस्कों का टीकाकरण हो रहा है, बच्चों का टीकाकरण नहीं हो रहा है और इसलिए यदि कोई नई लहर आती है, तो यह उन लोगों को प्रभावित करेगी जो अधिक संवेदनशील हैं। बच्चे अधिक संवेदनशील होंगे। हालांकि, गुलेरिया ने विश्वास जताया कि अगले एक या दो महीने में बच्चों के लिए भी कोविड का टीका उपलब्ध हो जाएगा।

कोरोना संक्रमण से बचने के क्या उपाय हैं

यह पूछे जाने पर कि टीका लगवाने लोगों को संक्रमण क्यों हो रहा है, उन्होंने कहा- टीकाकरण के बाद संक्रमित होने वाले, जिसे हम सफलता संक्रमण कहते हैं, मुख्य रूप से एक मामूली संक्रमण हो रहा है। इसलिए टीके गंभीर बीमारी से सुरक्षा देने में प्रभावी हैं. टीके गंभीर बीमारी और कोविड-19 से होने वाली मौतों को रोकने में मदद कर रहे हैं।

उन्होंने खा कि संक्रमण अभी भी हो रहा है लेकिन संक्रमित लोग मुख्य रूप से वे हैं जिन्हें टीका नहीं लगाया गया है। इसलिए अधिक से अधिक लोगों को टीका लगवाने की जरूरत है ताकि कोरोना को रोकने में मदद मिल सके।