Home Jhabua तीन कृषि काले कानून वापस लेने पर कांग्रेस ने मनाया विजय दिवस’...

तीन कृषि काले कानून वापस लेने पर कांग्रेस ने मनाया विजय दिवस’ ’आतिशबाजी नारेबाजी , ढोल ताशा बजाकर मनाया विजय दिवस’

25
0

झाबुआ। राकेश पोद्दार। नगर संवाददाता। केंद्र की मोदी सरकार ने राज्यसभा लोकसभा में चोरी छुपे किसान विरोधी तीन कृषि काले कानून 15 माह पूर्व थोपे गए थे देश भर के किसानों के आंदोलन में आंदोलन के दौरान 700 किसानों की मौत व भाजपा के गिरते जनाधार के चलते तीनों कृषि काले कानून केंद्र की भाजपा सरकार द्वारा वापस लिए गए । अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के निर्देशानुसार संपूर्ण देश में विजय दिवस मनाया जा रहा है । इसी कड़ी में कांग्रेस पार्टी ने किसानों के साथ विजय दिवस स्थानीय फव्वारा चैक बस स्टैंड पर आतिशबाजी कर ढोल ताशा बजाकर जय जवान जय किसान के नारों के साथ विजय दिवस मनाया गया ।
इस अवसर पर जिला कांग्रेस अध्यक्ष निर्मल मेहता ने कहा की मोदी सरकार के किसान विरोधी लाए गए तीनों काले कृषि कानून लागू होने के पूर्व ही किसानों के संघर्ष के आगे केंद्र की मोदी सरकार को नतमस्तक होकर माफी मांग कर किसान विरोधी बिल वापस लेने पर बाध्य होना पड़ा । जिससे उनका अहंकार हठधर्मी की हार हुई है व किसानों के अभिमान की जीत हुई व कांग्रेस नेता राहुल गांधी कि किसानों के हितों पर कही गई बात भी सत्यता साबित हुई है । कांग्रेस किसानों के हितार्थ अपनी लड़ाई आगे भी जारी रखेगी ।
संभागीय कांग्रेस प्रवक्ता साबिर फिटवेल ने केंद्र सरकार द्वारा तीनों कृषि काले कानून वापसी को अन्याय अत्याचार और शोषण पर लोकतंत्र की विजय बताते हुए कहा कांग्रेस हमेशा से किसानों के हित की बात करती आई है । आज इस बात की आवश्यकता है कि बढ़ती महंगाई में किसानों को भी उनके उत्पादन का सही मूल्य मिले ताकि उनके परिवार का भी वह अच्छे से पालन पोषण कर सके भाजपा सरकार सिर्फ वोट की चोट समझती है। उपचुनाव में हार के बाद पेट्रोल डीजल में रुपये 5 कम कर तीन काले कानून वापसी लेकर पांच राज्यों के चुनाव मैं नुकसान से बचना चाहती है ।
इस अवसर पर पूर्व जनपद अध्यक्ष मानसिंह मेडा, एनएसयूआई जिला अध्यक्ष विनय भाबर, विधानसभा युवा कांग्रेस अध्यक्ष हेमेंद्र बबलू कटारा, पूर्व पार्षद अविनाश डोडियार, प्रेम सिंह गुंडिया, कैलाश भूरिया, कीलू भूरिया, विशाल राठौड़ ,वसीम सैयद ,भारू मावी ,आलोक रावत, ,अमरा डामोर, अनसिंह डामोर, कपिल पडियार, तोल सिंह भाबर, प्रमोद मुंशी, आदि कई कांग्रेस जन उपस्थित थे ।