Home Jhabua जनजाति योजनाएं बंद कर 13 करोड़ की राशि जनजातीय कार्यक्रम में खर्च...

जनजाति योजनाएं बंद कर 13 करोड़ की राशि जनजातीय कार्यक्रम में खर्च करने का कांग्रेस ने लगाया आरोप’

41
0

झाबुआ। राकेश पोद्दार। नगर संवाददाता। मध्य प्रदेश के जनजातीय क्षेत्रों में रोजगार, सड़के, पीने की पानी की किल्लत महंगाई जैसी समस्याओ को नजरअंदाज कर भाजपा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में राजधानी भोपाल में 15 नवंबर को जनजाति सम्मेलन आयोजित कर 13 करोड़ की राशि फूंक कर जनता जनार्दन की राशि का खुले रूप से दुरुपयोग कर रही है।
उक्त आरोप लगाते हुए झाबुआ विधायक एवं पूर्व सांसद कांतिलाल भूरिया एवं संभागीय कांग्रेस प्रवक्ता साबिर फिटवेल ने आरोप लगाते हुए कहा कि मध्य प्रदेश सरकार को जनजातीय क्षेत्रों में विकास के कार्य करना चाहिए जो राशि जनजाति समाज के विकास कार्यों में लगना चाहिए उस राशि को जनजाति सम्मेलन के नाम पर खर्च किया जा रहा है जिससे कोई फायदा नहीं उन्होंने बताया कि मध्य प्रदेश सरकार को जनजाति विकास के लिए 13 करोड़ आवंटित हुआ है। प्रदेश के हर जनजातीय जिलों में वर्तमान में रोजगार की समस्या है ग्रामीण जन हजारों की संख्या में प्रतिदिन मजदूरी हेतु अन्य राज्यों में पलायन कर रहे हैं सड़कों की हालत जीर्ण शिर्ण हो रही है वर्तमान में फसलें बारिश के कारण खराब हुई है किसानों को राहत नहीं दी जा रही जनजातीय युवाओं के भविष्य के प्रति कोई कार्य योजना नहीं बनाई गई आयोजित कार्यक्रम का शासकीय क रण कर जिला प्रशासन को प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र से पाच पाच हजार लोगो को भोपाल पहुंचाने का लक्ष्य दिया गया है 52 लाख रुपए की राशि प्रत्येक जिले को दी गई है जो सीधे जनता जनार्दन की राशि का दुरुपयोग करना दर्शाता है।
वहीं जनजाति क्षेत्रों मे कई नामांतरण प्रकरण लंबित पड़े हैं सीएम हेल्पलाइन के प्रक रणो का निराकरण नहीं हो पा रहा है जनसुनवाई के आवेदन भी ज्यों के त्यों रखे हुए हैं जिनकी कोई सुनवाई नहीं हो पा रही है जिला प्रशासन 15 नवंबर के जनजाति कार्यक्रम को सफल बनाने में लगा हुआ हैं जिसका कांग्रेस और पुर जोर से विरोध करती है। कांग्रेस द्वारा भोपाल अस्पताल में हुई बच्चों की मृत्यु पर उन्हें श्रद्धांजलि भी अर्पित की गई कांग्रेस नेताओं ने बच्चों की मौतों के आंकड़ों को छुपाने का आरोप सरकार पर लगाया है और सरकार की लापरवाही से उक्त घटना घटित हुई है स्वास्थ्य मंत्री को तत्काल इस्तीफा देने व दोषी अधिकारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाने की मांग की है।
जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष निर्मल मेहता कार्यवाहक अध्यक्ष हेमचंद डामोर रूप सिंह डामोर विधायक वीर सिंह भूरिया वॉल सिंह मेडा जिला पंचायत अध्यक्ष शांति राजेश डामोर पूर्व विधायक जेवियर मेडा जनपद अध्यक्ष शंकर सिंह भूरिया शहर कांग्रेस अध्यक्ष गौरव सक्सेना संभागीय प्रवक्ता साबिर फिटवेल बंटू अग्निहोत्री युवा नेता आशीष भूरिया युवा कांग्रेस अध्यक्ष विजय भाबर एनएसयूआई अध्यक्ष विनय भाभर कैलाश डामोर यामीन शेख अग्नि नारायण सिंह सुरेश मोथा फतेह सिंह विधानसभा युवा कांग्रेस अध्यक्ष हेमेंद्र बबलू कटारा आदि ने भी उक्त सरकारी खाते से 13 करोड़ की राशि खर्च करने की निंदा की है।