Home Bhopal CM Kanyadan Yojana: ये कैसी खातिरदारी! बारातियों को पूड़ी,आचार और VIP को...

CM Kanyadan Yojana: ये कैसी खातिरदारी! बारातियों को पूड़ी,आचार और VIP को परोसे काजू बदाम | Madhya Pradesh CM kanyadan marriage scheme Poori pickle was served to the baraatis and cashew-almonds were served to the VIPs; people protested

5
0
CM Kanyadan Yojana: ये कैसी खातिरदारी! बारातियों को पूड़ी,आचार और VIP को परोसे काजू-बदाम

शुजालपुर में मुख्यमंत्री कन्यादान विवाह योजना विवादों की भेंट चढ़ती दिखाई दे रही है. पहले सभी जोड़ों के वर पक्ष की सामूहिक बारात निकालने की अव्यवथा को लेकर मंत्री इंदर सिंह परमार ने नाराजगी जताई.

बारातियों का स्वागत करने के लिए मालवा में तरह-तरह के जतन करने की परंपरा है, लेकिन ठीक इसके विपरीत आज शुजालपुर में हुए मुख्यमंत्री कन्यादान विवाह योजना में बारातियों को पूरी, अचार और सेव खिलाई गई. जबकि व्यवस्था देख रहे घरातियों, वीआईपी को काजू, समोसा, मिठाई और अंगूर परोसे गए. लोगों द्वारा आपत्ति करने पर जिम्मेदारों से जवाब मांगा गया, तो वे संतोषजनक जवाब नहीं दे पाए.

शुजालपुर में मुख्यमंत्री कन्यादान विवाह योजना विवादों की भेंट चढ़ती दिखाई दे रही है. पहले सभी जोड़ों के वर पक्ष की सामूहिक बारात निकालने की अव्यवथा को लेकर मंत्री इंदर सिंह परमार ने नाराजगी जताई, तो अफसर आनन-फानन में सरकारी बस और अपने वाहनों से दूल्हे राजाओं को लेकर सामूहिक बारात स्थल पर लेकर पहुंचे. बारात जब आयोजन स्थल पर पहुंची तो यहां खाने को लेकर विवाद सामने आया है.

जूनियर अधिकारियों ने को नहीं थी जानकारी

जनपद पंचायत सहित विभिन्न विभागों का जमीनी कर्मचारी अमला जो व्यवस्थाओं को देखने में लगा हुआ है, उनके साथ ही आयोजन में पहुंचे करीब 12000 लोगों को अचार पूड़ी सेव के पैकेट खाने के तौर पर दिए गए. उधर कृषि उपज मंडी प्रांगण क्रमांक 3 में ही बने विश्रामगृह के प्रथम तल पर वीआईपी बैठक व्यवस्था कर जनपद पंचायत अध्यक्ष सहित भाजपा नेताओं व कर्मचारियों को अंगूर, काजू, मिठाई सहित अन्य सामग्री का वीआईपी पैकेट परोसा गया. इस बारे में आयोजन स्थल पर भोजन व्यवस्था देख रहे कनिष्ठ खाद्य अधिकारी रविंद्र राठौर ने कहा कि उन्हें दो तरह के पैकेट वितरण की जानकारी नहीं है.

वरिष्ठ अधिकारी बोले-इतने ज्यादा लोगों को वीआईपी पैकेट देना संभव नहीं

जनपद पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि रामचंद्र पाटोदिया ने कहा कि इतने अधिक लोगों के लिए वीआईपी पैकेट की व्यवस्था करना संभव नहीं था. विशेष अतिथियों के लिए वीआईपी पैकेट मंगाए गए थे, और बाकी सभी को सामान्य भोजन एक जैसा दिया गया है. वहीं कार्यक्रम में राज्य शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार भी मौजूद रहे, लेकिन यह भेदभाव देख कोई कुछ नहीं बोला.

ये भी पढ़ें- MP: शाजापुर जिला पंचायत कार्यालय में पसरा सन्नाटा, कर्मचारी नदारद, पेंशन विभाग का नहीं खुला ताला

एक तरफ सरकार भेदभाव खत्म करने की बात कर रही है तो दूसरी ओर मंत्री जी के मौजूद रहते हुए कार्यक्रम में इस प्रकार की चीजें सामने आ रही हैंं. बारातियों को पूरी सेव और अचार दिया जा रहा है तो दूसरी ओर वीआइपीओ को काजू बादाम अंगूर खिलाया जा रहे हैं.

भेदभाव खत्म करने के खोखले वादे!

अब सोचने वाली बात यह है कि सरकार बड़े-बड़े वादे कर रही है, भेदभाव खत्म करने की बात कर रही है और दूसरी ओर इस विवाह सम्मेलन में जो चीजें निकल के सामने आई है वह हैरान करने वाली हैंं. मंत्री जी के मौजूद रहते हुए गरीबों को सेव पूरी आचार दिया जा रहा है तो वही वीआइपीओ को काजू, बदाम, अंगूर दिया जा रहा है.

ये भी पढ़ें- MP: परमिट लेकर पोल पर चढ़ा कर्मचारी विभाग ने चालू कर दी बिजली, करंट से मौत के बाद घंटों लटका रहा