Home Bhopal Bageshwar Dham: साईं बाबा पर विवादित टिप्पणी के बाद बैकफुट पर धीरेंद्र...

Bageshwar Dham: साईं बाबा पर विवादित टिप्पणी के बाद बैकफुट पर धीरेंद्र शास्त्री, ट्वीट कर मांगी माफी | bageshwar dham dhirendra krishna shastri apologize on sai baba controversial statement

4
0
Bageshwar Dham: साईं बाबा पर विवादित टिप्पणी के बाद बैकफुट पर धीरेंद्र शास्त्री, ट्वीट कर मांगी माफी

Dhirendra Krishna Shastri: धीरेंद्र शास्त्री ने साईं बाबा को लेकर विवादित बयान दिया था, जिसके बाद देशभर में जमकर बवाल मचा, उनके खिलाफ केस भी दर्ज कर लिया गया. अपने खिलाफ बढ़ते विवाद को देखते हुए अब उन्होंने अपने दिए हुए बयान पर माफी मांग ली है.

Dhirendra Krishna Shastri: मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले में स्थित बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री हर दिन अपने बयानबाजी के चलते सुर्खियों में बने रहते हैं. एक बार फिर धीरेंद्र शास्त्री चर्चा में आ गए हैं. दरअसल धीरेंद्र शास्त्री ने साईं बाबा को लेकर विवादित बयान दिया था, जिसके बाद देशभर में जमकर बवाल मचा, उनके खिलाफ केस भी दर्ज कर लिया गया. अपने खिलाफ बढ़ते विवाद को देखते हुए अब उन्होंने अपने दिए हुए बयान पर माफी मांग ली है. उन्होंने कहा है कि किसी की भावना को ठेस पहुंचाना उनका मकसद नहीं था.

धीरेंद्र शास्त्री ने अपने बयान पर ट्वीट कर माफी मांगते हुए कहा है कि ‘मेरा हमेशा संतों के प्रति महापुरुषों के प्रति सम्मान है और रहेगा मैंने कोई एक कहावत बोली जो हम अपने संदर्भ में बोल रहे थे कि अगर हम छतरी पीछे लगाकर कहें कि हम शंकराचार्य हैं तो ये कैसे हो सकता है, हमारे शंकराचार्य ने जो कहा वो हमने दोहराया कि साईं बाबा संत फक़ीर हो सकते हैं और उन में लोगों की निजी आस्था है. अगर कोई व्यक्ति किसी संत गुरु को निजी आस्था से भगवान मानता है वह उसकी निजी आस्था है, हमारा इसमें कोई विरोध नहीं. हमारे किसी शब्द से किसी के हृदय को ठेस पहुंची उसका हमें दिल की गहराइयों से दुख है और खेद है.’

‘गीदड़ की खाल पहनकर कोई शेर नहीं बन सकता’

गौरतलब है कि 3 दिन पहले जबलपुर के पनागर में श्रीमद्भागवत कथा के दौरान एक शख्स द्वारा साईं बाबा को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में धीरेंद्र शास्त्री ने कहा था कि हमारे धर्म में शंकाराचार्य ने साईं बाबा को देवता का स्थान नहीं दिया है. उन्होंने कहा कि शंकराचार्य की बात का पालन करना हर सनातनी हिंदू का कर्तव्य है.

ये भी पढ़ें- Ujjain Temple: 4000 साल पुराना अष्ट चिरंजीवी हनुमान मंदिर, दर्शन करने से दूर भाग जाते हैं भूत-प्रेत!

उन्होंने आगे कहा कि देश में बहुत से लोगों की साईंबाबा में आस्था है, मैं उनकी भावनाओं को ठेस नहीं पहुंचाना चाहता, लेकिन साईंबाबा संत या फकीर हो सकते हैं, लेकिन भगवान नहीं, उन्होंने विवादिता टिप्पणी करते हुए कहा कि गीदड़ की खाल पहनकर कोई शेर नहीं बन सकता. उनके इस बयान के बाद साईं भक्तों की भावना आहत हुई, और पूरे देश में उनकी कड़ी आलोचना हुई. जिसके बाद अब धीरेंद्र शास्त्री ने माफी मांगी है.

ये भी पढ़ें- Hanuman Jayanti 2023: यहां एक ही मूर्ति में दिखते हैं पवनपुत्र और गणेश, बजरंगबली बताते हैं भविष्य