Home Crime उज्जैन में मोहर्रम पर ताजिए उठने के दौरान जुटी थी भीड़; पाकिस्तान...

उज्जैन में मोहर्रम पर ताजिए उठने के दौरान जुटी थी भीड़; पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे भी लगाए; CM बोले- तालिबानी मानसिकता बर्दाश्त नहीं…अब तक 10 गिरफ्तार, सभी पर देशद्रोह का केस दर्ज

78
0

उज्जैन में मोहर्रम के लिए जुटी भीड़ द्वारा देश विरोधी नारे लगाने का मामला सामने आया है। भीड़ में से कुछ युवकों ने पहले देश विरोधी नारे लगाए और फिर पाकिस्तान जिंदाबाद के भी नारे लगाए। इसकी सूचना लगते ही पुलिस सक्रिय हो गई। पुलिस ने इस मामले में अब तक 4 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। एएसपी अमरेंद्र सिंह ने घटना की पुष्टि करते हुए कहा कि इस मामले में कार्रवाई की जा रही है। युवकों से पूछताछ के बाद और खुलासा होगा।

घटना मोहर्रम पर 19 अगस्त गुरुवार देर रात की है। शहर के गीता कॉलोनी में मोहर्रम का ताजिया उठ रहा था। इस दौरान भारी भीड़ जुटी थी। सैकड़ों लोग इकट्‌ठा हो गए। नारेबाजी करने लगे। युवकों ने देशविरोधी नारेबाजी की थी। देश विरोधी और पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगने के बाद पुलिस फोर्स के आते ही भीड़ तितर-बितर हो गई। इस घटना के बाद पुलिस ने वीडियो के आधार पर आरोपी युवकों की पहचान कर गिरफ्तारियां कर रही है। युवकों से खारा कुआं पुलिस थाने में पूछताछ की जा रही है।

उज्जैन IG योगेश देशमुख और SP सतेंद्र शुक्ला मामले की लगातार जांच कर रहे हैं।

15 लोगों के खिलाफ राजद्रोह का मामला दर्ज
नारेबाजी की सूचना मिलते ही एएसपी अमरेंद्रसिंह और एडीएम नरेंद्र सूर्यवंशी मौके पर पहुंचे और देश विरोधी नारे लगा रहे लोगों को वहां से तितर-बितर किया। इस दौरान पुलिस ने वीडियो रिकार्डिंग और क्षेत्र में लगे CCTV फुटेज के आधार पर 15 लोगों के खिलाफ राजद्रोह का मामला दर्ज किया है जिसमें से चार पर नामजद प्रकरण दर्ज किया गया है। इन चारों लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

मोहर्रम की रात उज्जैन में देशद्रोही नारेबाजी करने वालों की धरपकड़ जारी है। पुलिस ने अब तक 10 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। सभी पर देशद्रोह की धारा 124 ए व बी के तहत केस दर्ज कर लिया गया है। पुलिस अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के साथ यह पता लगा रही है कि यह नारेबाजी पूर्वनियोजित थी या एकाएक हुई। इसके लिए आरोपियों के सोशल मीडिया अकाउंट को भी खंगाले जा रहे हैं।

यह भी पता लगाया जा रहा है कि आरोपियों के किसी प्रतिबंधित संगठन से संबंध तो नहीं है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस संबंध में आईजी योगेश देशमुख से चर्चा की है। गिरफ्तार किए गए 10 लोगों में से अधिकांश जांसापुरा इलाके के रहने वाले हैं। यह मुस्लिम बहुल इलाका है।

आरोपियों के खिलाफ संतों ने भी मोर्चा खोल दिया है और कार्रवाई की मांग की है।
आरोपियों के खिलाफ संतों ने भी मोर्चा खोल दिया है और कार्रवाई की मांग की है।

इधर, देशविरोधी नारेबाजी करने वालों के खिलाफ हिंदू संगठनों ने शनिवार को नारेबाजी की और पुतला दहन किया। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के नेताओं ने पुलिस कंट्रोल रूम के बाहर प्रदर्शन किया। हिंदू सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष अवधेशपुरी महाराज के नेतृत्व में टावर चौक पर शनिवार को पाकिस्तान का पुतला फूंका। दोनों संगठनों ने देश विरोधी नारेबाजी करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

इंदौर में भी लग चुके हैं नारे
15 अगस्त को झंडावंदन के दौरान भी ऐसी ही घटना सामने आई थी। दरअसल, तेजाजी नगर थाना क्षेत्र के नायता मुंडला स्थित कावेरी बिल्डिंग में 15 अगस्त को झंडा फहराने का कार्यक्रम चल रहा था। झंडा फहराने के दौरान लोगों ने ‘भारत माता की जय’ के नारे लगाए। इस पर दूसरे पक्ष ने भारत विरोधी नारे लगाए थे। इस दौरान लोगों ने पत्थर बरसाने शुरू कर दिए और भगदड़ मच गई।

मामले में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि घटना पर हमने कठोर कार्रवाई की है। आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। तालिबानी मानसिकता को कतई बर्दाश्त नहीं की जाएगी।