Home Bhopal 18 लाख से ज्यादा दीयों की रोशनी में नहाए उज्जैन के घाट,...

18 लाख से ज्यादा दीयों की रोशनी में नहाए उज्जैन के घाट, तोड़ दिया अयोध्या का रिकॉर्ड | Ghats of Ujjain bathed in light of more than 18 lakh lamps broke Ayodhya record

14
0
18 लाख से ज्यादा दीयों की रोशनी में नहाए उज्जैन के घाट, तोड़ दिया अयोध्या का रिकॉर्ड | Ghats of Ujjain bathed in light of more than 18 lakh lamps broke Ayodhya record

उज्जैन में शिव ज्योति अर्पणम कार्यक्रम के तहत रामघाट सहित अन्य घाटों पर जले 18 लाख 82 हजार दीपकों ने वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया है. गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड की टीम ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को रिकॉर्ड का प्रमाण पत्र सौंपा है.

मध्य प्रदेश में बाबा महाकाल की नगरी उज्जैन में एक साथ सबसे ज्यादा दीपक जलाने का विश्व रिकार्ड महाशिवरात्रि पर बन गया है. इसके बाद रामघाट पर आतिशबाजी हुई. दरअसल, अयोध्या की तर्ज पर यह कार्यक्रम आयोजित किया गया. जहां मोक्षदायिनी शिप्रा के घाटों पर भी आज इतिहास रचा गया. यहां पर एक साथ 18 लाख 82 हजार 229 दीए जलाए गए. वहीं, पूरे शहर मे 21 लाख दीपक लगाए गए हैं. इस दौरान स्वयंसेवक ने दीयों में तेल बाती लगाने का काम किया. वहीं, सूबे के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने पत्नी साधना सिंह के साथ 11 दीपक जलाकर शिव ज्योति अर्पणम महोत्सव की शुरूआत की.

इसके बाद सायरन बज गया और स्वयंसेवकों ने दीपक जलाना शुरू कर दिया. यहां गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड की 5 सदस्यीय टीम भी मौजूद रही. जिन्होंने 5 ड्रोन से निगरानी की है. जहां आज केदारेश्वर घाट, सुनहरी घाट, दत्त अखाड़ा घाट, रामघाट, भूखी माता घाट तक लोगों की भीड़ जमा रही. इस अलौकिक और विहंगम नजारे को देखने के लिए सीएम शिवराज सिंह, उनकी पत्नी साधना सिंह और मंत्री मोहन यादव ने नौका विहार किया.

सायरन बजते ही जल उठे दीये

इस दौरान आतिशबाजी भी की गई, जिसके बाद 6.35 मिनट पर सीएम ने पहला दीया जलाने के साथ ही पूरे घाट पर स्वयंसेवको ने 18 लाख 82 हजार 229 दीए प्रज्जवलित किए. वहीं, शाम 7 बजे घाट क्षेत्र की लाइट बंद कर दी गई. इसके बाद ड्रोन कैमरे से वीडियो शूटिंग की गई, जिसके बाद विश्व रिकार्ड की घोषणा हुई.जहां सीएम को विश्व रिकार्ड का प्रमाण पत्र सौंपा गया. इस मौके पर सीएम शिवराज सिंह चौहान ने पूरे नगर वासियों को बधाई देते हुए आभार भी प्रकट किया. इस दौरान कार्यक्रम में सभी दीपक एक साथ शाम सात बजे जलाए गए. हालांकि, इससे पहले सायरन बजा और वॉलंटियरों ने दीपक जलाना शुरू कर दिए. ऐसे में सभी दीपक करीब एक घंटे तक जले.

ड्रोन से रात 8 बजे तक होगी रिकॉर्ड की घोषणा

बताया जा रहा है कि, शिप्रा तट पर दीपक प्रज्जलवन के लिए 10 मिनट का समय रहा, जिसमें दीपक प्रज्जवलित होते ही वर्ल्ड रिकॉर्ड की टीम ड्रोन से वीडियोग्राफी कर दीयों की गिनती की गई. जहां रात 8 बजे 18 लाख 82 हजार 229 दीपकों के जलने और वर्ल्ड रिकॉर्ड बनने की घोषणा कर दी गई.

ये भी पढ़ें



महाशिवरात्रि के मौके पर टूटा अयोध्या का रिकॉर्ड

बता दें कि, महाशिवरात्रि के मौके पर नया विश्व रिकॉर्ड टूटा है. दरअसल, अयोध्या में दीपावली की पूर्व संध्या पर 23 अक्टूबर को दीपोत्सव मनाकर सरयू घाट पर 15 लाख दीप जलाए गए थे. इसे गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज किया गया था. वहीं, आज उज्जैन में 18 लाख 82 हजार 229 दियों का रिकॉर्ड को तोड़ा गया है.