Home National 16 फरवरी तक न्यायिक हिरासत में मुख़्तार अंसारी के बेटे की बेगम:...

16 फरवरी तक न्यायिक हिरासत में मुख़्तार अंसारी के बेटे की बेगम: शौहर को जेल से भगाने की रच रही थी साजिश, पुलिस को धमकाया – अच्छा नहीं होगा…

15
0

अब्बास अंसारी को जेल से भगाने की साजिश रचने के आरोप में गिरफ्तार उनकी पत्नी निकहत अंसारी को 16 फरवरी तक रिमांड पर भेज दिया गया है। आज ही चित्रकूट के रगौली जिला जेल से उन्हें गिरफ्तार किया गया था। गिरफ्तारी के बाद निकहत को रिमांड मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया।

मुख्तार अंसारी की बहू निकहत की गिरफ्तारी के बाद से ही कई चौंकाने वाले खुलासे हो रहे हैं। बताया जा रहा है कि जेल के अंदर अब्बास अंसारी को स्पेशल ट्रीटमेंट दिया जा रहा है। पता चला है कि निकहत चोरी छुपे हर रोज जेल जाती थी। जेल में निकहत और शौहर अब्बास जेलर के कमरे में घंटो मुलाकात किया करते थे। इसी बीच शनिवार (11 फरवरी, 2023) को अचानक पड़े छापे में निकहत पकड़ी गई।

मामले में जेलर समेत कई अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया गया है। मामले में कुल 7 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई है। मामले में गिरफ्तार जेल अधिकारियों ने शुरुआती पूछताछ में कई खुलासे किए हैं। जानकारी है कि अब्बास मोबाइल फोन से मुकदमे से जुड़े गवाहों और अधिकारियों को धमकाता था। अब्बास की बात न मानने वालों की हत्या करवाने की साजिश रची जा रही थी। मामले में दर्ज एफआईआर के मुताबिक निकहत अंसारी अपने ड्राइवर नियाज के साथ मिलकर अब्बास को भगाने की साजिश रच रही थी। पुलिस ने ड्राइवर नियाज को भी गिरफ्तार किया है।

रिपोर्टों के मुताबिक छापे के दौरान जब महिला पुलिसकर्मियों ने निकहत को पकड़ा तो उन्होंने पुलिसकर्मियों का हाथ झटक दिया। निकहत ने हाथ पकड़ने वाली महिला पुलिसकर्मी को धमकाते हुए कहा कि मैं खुद चल रही हूँ, घसीटने की कोशिश की तो अंजाम अच्छा नहीं होगा। अधिकारियों को मुखबिर ने सूचना दी थी कि अब्बास की पत्नी निकहत हर रोज ड्राइवर नियाज के साथ जेल आती है। कई दिनों से हर रोज सुबह 11 बजे जेल आने के बाद वह 3-4 घंटे अब्बास के साथ बिताती है। दर्ज किए गए एफआईआर के मुताबिक निकहत को अब्बास से मिलने के लिए न किसी पर्ची की जरूरत होती थी न कोई रोकता टोकता था।

हो सकता है बड़ा खुलासा

डिप्टी जेलर के कमरे में पकड़ी गई निकहत के पास 2 मोबाइल फोन मिले हैं। निकहत के पास सऊदी अरब की मुदाएँ भी बरामद हुई हैं। निकहत की फोन की जाँच से पता चल सकता है कि जेल में बैठा अब्बास किन लोगों के संपर्क में था। इस बात का भी पता चल सकता है कि क्या अब्बास को मोबाइल के माध्यम से कहीं से रुपए भेजे जा रहे थे। बता दें मनी लॉन्ड्रिंग मामले में बी अब्बास और उसके पिता मुख्तार अंसारी जेल में बंद हैं। अब निखत के पास भी विदेशी करेंसी मिलने के बाद किसी बड़े खुलासे की आशंका जताई जा रही है।

डीआईजी जेल शैलेंद्र कुमार मैत्रेय ने मीडिया को जानकारी दी है कि जेल परिसर के सीसीटीवी कैमरों की फुटेज की जाँच की जा रही है। उन्होंने कहा है कि एक हफ्ते का रिकॉर्ड देखा जाएगा जिससे मामले कई जानकारी मिलने की उम्मीद है। उधर मुख्तार अंसारी के दूसरे बेटे और अब्बास के भाई उमर अंसारी ने साजिश की बात कही है। उमर अंसारी ने कहा कि पहले उनके भाई को और अब उनकी भाभी को फँसाया जा रहा है।