Home National सोनभद्र से सोनू अंसारी और कानपुर से शहंशाह आलम गिरफ्तार

सोनभद्र से सोनू अंसारी और कानपुर से शहंशाह आलम गिरफ्तार

4
0

उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले के ओबारा में लव जिहाद का मामला सामने आया है। पुलिस ने एक मुस्लिम शख्स को नाम बदलकर हिंन्दू युवती के शारीरिक शोषण के आरोप में गिरफ्तार किया है। प्राथमिकी पीड़िता के पिता ने दर्ज कराई है जिसमें आरोप लगाया गया है कि मुस्लिम लड़के ने अपना नाम एस.के. सोनू बताकर लड़की से जान-पहचान बनाई और उसके बाद शादी का झाँसा देकर उसके साथ दुष्कर्म किया।

शारीरिक शोषण के बाद दी अपने असली मजहब की जानकारी

पुलिस सूत्रों के अनुसार, लड़की का शारीरिक शोषण करने के लिए सोनू खुद को हिन्दू बताता रहा। इसके बाद 20 नवंबर 2022 की रात वह लड़की के घर पहुंच गया। लड़की को अकेला पाकर उसने उसके साथ दुष्कर्म किया, जिसका विरोध करने पर सोनू अंसारी लड़की को शादी का झँसा देने लगा। लड़की के दबाव में सोनू ने उसके परिजनों के सामने शादी का प्रस्ताव रखा।

इस दौरान उसने अपना नाम ‘सोनू अंसारी’ और पिता का नाम ‘शफीक’ बताया। युवक का असली नाम जानकर युवती रोने लगी और उसने अपने परिजनों को बताया कि सोनू ने खुद को हिन्दू बताते हुए अपना नाम एस.के.सोनू बताया था। लड़की के पिता की शिकायत पर पुलिस ने आरोपित सोनू अंसारी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी। मंगलवार (22 नवंबर, 2022) को आरोपी सोनू अपने घर के पास से गिरफ्तार कर लिया गया। उस पर सुसंगत धाराओं में कार्रवाई की जा रही है।

सचिन बने शहंशाह आलम ने लड़की के साथ की जबरदस्ती की कोशिश

उधर बिहार की लड़की को कानपुर के शहंशाह आलम ने ‘लव जिहाद’ में फँसाने की कोशिश की। शहंशाह की उम्र 45 साल है और उसने फेसबुक पर सचिन नाम से फेक आईडी बनाई हुई थी। इस आईडी से वह हिन्दू लड़कियों से दोस्ती करता था। बिहार के मोतिहारी की एक लड़की से भी इस शख़्स ने दोस्ती की थी। लड़की को नौकरी देने के बहाने शहंशाह आलम ने उसे कानपुर बुला लिया। कानपुर आई लड़की को शहंशाह कानपुर के होटल में ले गया, होटल में उसने लड़की के साथ जबरदस्ती करने की कोशिश की लेकिन लड़की ने इसका विरोध किया और किसी तरह होटल के रिसेप्शन तक पहुँच गई।

लड़की ने तुरन्त पुलिस को बुला लिया। पुलिस के आने के बाद सचिन बने शहंशाह आलम की असलियत सबके सामने आई। पुलिस सूत्रों का कहना है कि उसकी फेसबुक आईडी पर आधा दर्जन से ज्यादा लड़कियों की बातचीत मिली है। लड़कियों के पर्सनल डिटेल भी मिली है। अब पुलिस यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि आरोपित ने पहले भी फर्जी नाम की मदद से किसी लड़की के साथ कोई हरकत की है या नहीं।