Home National शांति की असली ताकत थे, मुशर्रफ के निधन पर थरूर के बयान...

शांति की असली ताकत थे, मुशर्रफ के निधन पर थरूर के बयान से बवाल | controversy over Congress leader Shashi Tharoor s tweet on Pervez Musharraf s death BJP attack

29
0

परवेज मुशर्फ को कारगिल युद्ध का सूत्रधार माना जाता है.पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति जनरल परवेज मुशर्रफ ने 1999 में सैन्य तख्तापलट कर लोकतांत्रिक रूप से चुनी हुई सरकार को गिरा दिया थआ और नौ साल तक देश पर शासन किया.

पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति और तानाशाह जनरल परवेज मुशर्रफ का निधन हो गया है. वह 79 वर्ष के थे. मुशर्रफ का दुबई में एक अस्पताल में इलाज चल रहा था. मुशर्रफ के निधन के बाद कांग्रेस नेता शशि थरूर के एक ट्वीट पर बवाल खड़ा हो गया है. थरूर ने मुशर्रफ को शांति केलिए असली ताकत बताया है. थरूर के इस ट्वीट को लेकर बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता शहजाद पूनावाला ने उन पर निशाना साधा है.

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर ने पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति जनरल (सेवानिवृत्त) परवेज मुशर्रफ के निधन पर रविवार को शोक जताते हुए कहा, ‘कभी भारत के कट्टर दुश्मन रहे मुशर्रफ 2002 से 2007 के बीच शांति के लिए असली ताकत बन गए थे. पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ का एक दुर्लभ बीमारी के कारण निधन हो गया: कभी भारत के कट्टर शत्रु रहे वह 2002-2007 के बीच शांति के लिए असली ताकत बन गए थे।’

पूर्व विदेश राज्य मंत्री थरूर ने कहा, मैंने संयुक्त राष्ट्र में उन दिनों उनसे हर साल मुलाकात की थी और उन्हें चतुर तथा अपने कूटनीतिक विचारों में स्पष्ट पाया था। ईश्वर दिवंगत आत्मा को शांति दें। थरूर की ओर से किए गए इसी ट्वीट पर अब हंगामा खड़ा हो गया है. उनके इस बयान को लेकर बीजेपी ने उनपर निशाना साधा है.

थरूर के ट्वीट पर बीजेपी ने जताई हैरानी

बीजेपी नेता शहजाद पूनावाला ने ट्वीट कर कहा, ‘परवेज मुशर्रफ, कारगिर का वास्तुकार, तानाशाह, जघन्य अपराधों का आरोपी, जिसने तालिबान और ओसामा को भाई और नायक माना, जिसने अपने ही शहीद सैनिकों के शवों को वापस लेने से इनकर कर दिया था, उसकी कांग्रेस की ओर से तारीफ की जा रही है. आश्चर्य हो रहा है? एक बार फिर कांग्रेस की पाक परस्ती.’ पूनावाला ने अपने ट्वीट के साथ में कुछ खबरों की स्क्रीन शॉट भी शेयर की है.

ये भी पढ़ें



‘पहले बालाकोट पर संदेह, अब मुशर्रफ की जय’

पूनावाला ने दूसरे ट्वीट में कहा, परवेज मुशर्रफ जिन्होंने ओसामा बिन लादेन और तालिबान की प्रशंसा की थी, उन्होंने राहुल गांधी की भी प्रशांस की थी. राहुल को उन्होंने जेंटलमैन कहा था और उन्हें समर्थन देने का वादा किया था. शायद यही वजह है कि शशि थरूर कारगिल के वास्तुकार और आंतकवाद के समर्थक की प्रशंसा कर रहे हैं. पूनावाला ने कांग्रेस निशाना साधते हुए ट्वीट किया, 370 से लेकर सर्जिकल स्ट्राइक तक बालाकोट पर संदेह करने वाली कांग्रेस मुशर्रफ की जय कर रही है जबकि हमारे अपने प्रमुख को सड़क का गुंडा कहा था.