Home National माओवादियों ने छत्तीसगढ़ में भाजपा जिला उपाध्यक्ष की हत्या की, AK-47 से...

माओवादियों ने छत्तीसगढ़ में भाजपा जिला उपाध्यक्ष की हत्या की, AK-47 से सिर में मारी गोली: 5 दिन पहले BJP मंडलाध्यक्ष को कुल्हाड़ी से काट दिया था

21
0

छत्तीसगढ़ में माओवादी फिर से सिर उठाने लगे हैं। नारायणपुर जिले के भाजपा उपाध्यक्ष सागर साहू की माओवादियों ने गोली मारकर हत्या कर दी। शुक्रवार (10 फरवरी 2023) को बाइक पर सवार होकर आए माओवादियों ने जबरन घर में घुसकर गोली मार दी। बीते 5 दिनों में यह भाजपा के दूसरे नेता की हत्या है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, शुक्रवार (10 फरवरी 2023) की रात 8 बजे भाजपा जिला उपाध्यक्ष सागर साहू नारायणपुर जिले के छोटे डोंगर गाँव में स्थित अपने घर में टीवी देख रहे थे। इसी दौरान बाइक से दो माओवादी आए और उनके घर का दरवाजा खटखटाया। सागर साहू ने जैसे ही घर का दरवाजा खोला, माओवादी जबरदस्ती करते हुए उनके घर के अंदर घुस गए।

घर में घुसने के बाद माओवादियों ने उनके सिर में 2 गोली मार दी। गोली लगते ही भाजपा नेता गिर गए। घटना को अंजाम देकर माओवादी बाइक पर सवार होकर जंगल की ओर भाग निकले। आनन फानन में उन्हें को स्थानीय हॉस्पिटल में ले जाया गया, जहाँ से उन्हें नारायणपुर जिला चिकित्सालय रेफर किया गया। यहाँ इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई।

इस हत्याकांड के बाद छत्तीसगढ़ पुलिस घटनास्थल पर पहुँची। पुलिस को सागर साहू के घर से गोली के 2 खोखे मिले हैं। गोली के खोखे को देखकर पुलिस ने भाजपा नेता सागर साहू की हत्या में AK-47 का इस्तेमाल होने की आशंका जताई है।

रिपोर्ट के अनुसार, पहले माओवादियों ने सागर साहू को लौह अयस्क संयंत्र की स्थापना का समर्थन न करने की चेतावनी दी थी। इस हत्या को लेकर नारायणपुर के एएसपी हेमसागर सिदार ने कहा है कि मामले की जाँच चल रही है। शुरुआती जाँच में सामने आया है कि नक्सलियों की स्मॉल एक्शन टीम ने हत्या को अंजाम दिया है।

इस हत्या के बाद छत्तीसगढ़ राज्य की शासन व्यवस्था और पुलिस प्रशासन पर सवाल खड़े हो रहे हैं। बताया जा रहा है कि मृत भाजपा नेता सागर साहू के घर से महज 100 मीटर दूर एक पुलिस स्टेशन है। हालाँकि इसके बाद भी माओवादियों ने हत्या को अंजाम दे दिया और छत्तीसगढ़ पुलिस गहरी नींद में सोती रही।

बता दें कि इससे पहले माओवादियों ने रविवार (5 फरवरी 2023) को बीजापुर जिले में बीजेपी नेता नीलकंठ कक्केम की चाकू और कुल्हाड़ी मारकर हत्या कर दी थी। वह बीते 15 वर्षों से उसूर के भाजपा मंडल अध्यक्ष थे। नीलकंठ कक्केम साली की शादी की तैयारी करने के लिए अपने गाँव गए थे। इसी दौरान माओवादियों ने परिजनों के सामने उनकी हत्या कर दी थी।