Home Bhopal भोपाल गांधी मेडिकल कॉलेज की महिला डॉक्टर ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट...

भोपाल गांधी मेडिकल कॉलेज की महिला डॉक्टर ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में लिखा नहीं झेल पा रही हूं तनाव | female doctor commits suicide in gandhi medical college bhopal

38
0
भोपाल गांधी मेडिकल कॉलेज की महिला डॉक्टर ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में लिखा- नहीं झेल पा रही हूं तनाव

भोपाल में सरकारी गांधी मेडिकल कॉलेज से शिशु रोग में स्नातकोत्तर कर रही महिला चिकित्सक आकांक्षा माहेश्वरी ने छात्रावास में खुद को बेहोशी के इंजेक्शन लगाकर कथित रूप से आत्महत्या कर ली.

कॉन्सेप्ट इमेज.

Image Credit source: social media

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में सरकारी गांधी मेडिकल कॉलेज से शिशु रोग में स्नातकोत्तर कर रही महिला चिकित्सक आकांक्षा माहेश्वरी ने छात्रावास में खुद को बेहोशी के इंजेक्शन लगाकर कथित रूप से आत्महत्या कर ली. यह जानकारी एक पुलिस अधिकारी ने गुरुवार को दी. उन्होंने बताया कि आकांक्षा का शव बुधवार की शाम को हमीदिया अस्पताल स्थित गांधी मेडिकल कॉलेज के छात्रावास में उसके कमरे से बरामद किया गया. कोहेफिजा पुलिस थाना के प्रभारी विजय सिसौदिया ने बताया कि आकांक्षा ने बेहोशी की दवा के ढाई मिलीलीटर के चार इंजेक्शन लगा कर आत्महत्या कर ली है.

उन्होंने कहा कि पुलिस को मौके से दवा की खाली शीशी और सीरिंज मिली हैं. उन्होंने बताया कि आकांक्षा गांधी मेडिकल कॉलेज, हमीदिया में शिशु रोग में स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम की प्रथम वर्ष की छात्रा थी. उन्होंने बताया कि आकांक्षा मध्यप्रदेश के ग्वालियर की रहने वाली थी और एक महीने पहले ही संस्थान में पीजी करने आई थी.

‘तनाव बर्दाश्त नहीं कर पा रही हूं, माफ करना मां-पापा’

सिसौदिया ने कहा कि पुलिस को मौके से एक सुसाइड नोट मिला है, जिसमें उसने लिखा है कि वह मानसिक रूप से मजबूत नहीं है और तनाव बर्दाश्त नहीं कर पा रही है. उसने व्यक्तिगत कारणों का हवाला दिया है तथा यह कदम उठाने को लेकर अपने अभिभावकों से माफी मांगी है. उन्होंने कहा कि आकांक्षा ने बुधवार को सुबह करीब सात बजे अपने घर वालों को भी फोन किया था. सिसौदिया ने कहा कि छात्रावास में रहने वाली अन्य छात्राओं ने पुलिस को बताया कि आकांक्षा के कमरे का दरवाजा बुधवार को सुबह से बंद था.

पुलिस कर रही है मामले की जांच

शाम को जब उसकी साथी छात्राएं छात्रावास पहुंचीं तो दरवाजा बंद होने पर सुरक्षा गार्ड को उन्होंने इसकी जानकारी दी. गार्ड ने अस्पताल प्रबंधन को सूचित किया. सिसौदिया ने बताया कि सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने उसके कमरे का दरवाजा खुलवाया और उसे मृत पाया. उन्होंने कहा कि पुलिस मामले की विस्तृत जांच कर रही है.

ये भी पढ़ें

(इनपुट भाषा)