Home Bhopal ‘घर में सोया था बहनोई…’ साले ने पत्थर से कुचलकर मार डाला...

‘घर में सोया था बहनोई…’ साले ने पत्थर से कुचलकर मार डाला | Bhopal News Brother-in-law had illicit relations crushed to death with stone

5
0
'घर में सोया था बहनोई...' साले ने पत्थर से कुचलकर मार डाला | Bhopal News Brother-in-law had illicit relations crushed to death with stone

भोपाल न्यूज: अवैध संबंधों के चलते मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में एक युवक की हत्या हुई है. यह वारदात उसके अपने साले ने अंजाम दिया है. पुलिस ने मामले की जांच करते हुए आरोपी को अरेस्ट कर लिया है.

भोपाल: मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में अवैध संबंधों के चलते हत्या का मामला सामने आया है. यह वारदात मृतक के साले ने अंजाम दिया है. उसने रात में सोते समय पत्थर से कुचलकर हत्या कर दी और मामले को ब्रेन हैमरेज करार देने का प्रयास किया. हालांकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मामला साफ होने के बाद पुलिस ने मामले की जांच करते हुए आरोपी को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने आरोपी की निशानदेही पर वारदात में इस्तेमाल पत्थर बरामद किया है.

पुलिस के मुताबिक मृतक के आरोपी की पत्नी के साथ अवैध संबंध थे. भोपाल पुलिस के मुताबिक यह वारदात दो दिन पहले गांधीनगर क्षेत्र की है. मृतक की पहचान खूबीलाल अहिरवार (42) के रूप में हुई है. कटारा हिल्स क्षेत्र में रहने वाला खूबीलाल एक कांट्रेक्टर के फर्म में सिक्योरिटी गार्ड था. वारदात के अगले दिन सुबह खूबीलाल के परिजनों ने उसे कई बार फोन किया, लेकिन जब उसका फोन नहीं उठा तो वह मौके पर पहुंचे.

ये भी पढ़ें:MP: स्कूल में पढ़ाते समय महिला टीचर को आया हार्ट अटैक, सैलरी कटने से थी परेशान

पता चला कि वह सो रहा है, लेकिन जब परिजनों ने उसके चेहरे से चादर हटाई तो मुंह और नाक से खून निकला दिखा. परिजनों को लगा कि ब्रेन हैमरेज हुआ है. लेकिन जब पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराया तो पता चला कि उसके सिर पर पीछे से किसी भारी चीज से वार किया गया है. मामले में हत्या का एंगल सामने आने के बाद पुलिस ने गंभीरता से जांच शुरू की और आरोपी को गिरफ्तार किया है.
पुलिस के मुताबिक बुधवार को खूबीलाल की 12वीं कक्षा में पढ़ने वाली बेटी का इग्जाम था.

ये भी पढ़ें:बाबा बवाल और दिव्य दरबार! धीरेंद्र शास्त्री के खिलाफ शिकायत दर्ज, मिली 30 लाख की चुनौती

ऐसे में खूबीलाल उसे परीक्षा केंद्र छोड़ने गया था, लेकिन वापसी में वह घर आने के बजाय सीधे गांधीनगर के शांतिनगर स्थित अपने साले के घर चला गया. उसे वापस अपनी बेटी को दोपहर 12 बजे स्कूल से लेकर घर पहुंचाना था, लेकिन वह खुद परीक्षा केंद्र नहीं पहुंचा. उसकी बेटी ने कई बार फोन किया, लेकिन कोई जवाब नहीं मिला. इसके बाद वह पैदल अपने घर पहुंची और अपनी मां को बताया. काफी प्रयास के बाद उसका फोन आरोपी की पत्नी ने उठाया. इसके बाद परिजन उसके घर पहुंचे तो पता चला कि उसकी मौत हो चुकी है.