Home National गृह मंत्री अमित शाह जाएंगे बंगाल, नड्डा पर हमलों को लेकर राज्यपाल...

गृह मंत्री अमित शाह जाएंगे बंगाल, नड्डा पर हमलों को लेकर राज्यपाल से मांगी रिपोर्ट

140
0

नई दिल्ली । पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव जैसे जैसे नजदीक आ रही है। राज्य में भाजपा और टीएमसी के बीच सत्ता की लड़ाई भी बढ़ती जा रही है। भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा पर हमले के बाद अब केंद्रीय मंत्री अमित शाह भी 19 तारीख को दो दिवसीय बंगाल दौरे पर जाएंगे। अमित शाह पश्चिम बंगाल में तीन अलग-अलग राजनीतिक कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे। नड्डा पर हमले के बाद केंद्रीय मंत्री अमित शाह में पश्चिम बंगाल में सक्रिय हो गए हैं। इस बीच बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा के काफिले पर हुए हमले के बाद भाजपा और टीएमसी में आरोप प्रत्यारोप का दौर चल निकला है। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने भी राज्यपाल ओपी धनखड़ से हमले को लेकर रिपोर्ट मांगी है।

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने ट्वीट कर कहा, ‘‘बंगाल में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री जेपी नड्डा जी के ऊपर हुआ हमला बहुत ही निंदनीय है, उसकी जितनी भी निंदा की जाए वो कम है. केंद्र सरकार इस हमले को पूरी गंभीरता से ले रही है. बंगाल सरकार को इस प्रायोजित हिंसा के लिए प्रदेश की शांतिप्रिय जनता को जवाब देना होगा.’’

गौरतलब है कि इस हमले में भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय समेत कई नेता घायल हुए हैं। भाजपा नेताओं ने हमले के लिए टीएमसी कार्यकर्ताओं को जिम्‍मेदार ठहराया है जबकि पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी ने इसे ‘भाजपा की नौटंकी’ करार दिया है।

हमले के बाद ये बोले जेपी नड्डा

भाजपा अध्‍यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी हमेशा सच्चाई को छिपाने की कोशिश करती हैं। बंगाल में अराजकता पराकाष्ठा पर है। राज्य प्रशासन ध्‍वस्‍त हो गया है और ये सब ममता जी के आशीर्वाद से हो रहा है। बंगाल की जनता जागृत जनता है वो जवाब देना जानती है। ममता जी की ज़मीन खिसक चुकी है जिस वजह से उनको बौखलाहट है। हमारी लड़ाई लोकतांत्रिक तरीके से होगी। हम जनता के बीच जाएंगे और सारी बातें रखेंगे। ममता जी ने जिस तरह से झूठ फैलाया है और लोगों को गुमराह किया है, लोगों के विकास के काम रोके हैं वो जनता तक पहुंचाएंगे। नड्डा ने कहा कि मैं इसलिए सुरक्षित हूं क्योंकि मेरे पास बुलेट प्रूफ गाड़ी थी। आज कोई ऐसी गाड़ी नहीं थी जिस पर हमला न हुआ हो। हमें इस गुंडाराज को खत्म करके प्रजातंत्र को यहां आगे बढ़ाना है।

केंद्र ने बंगाल सरकार से मांगी रिपोर्ट

इधर गृह मंत्रालय हरकत में आ गया है। गंभीर सुरक्षा खामियों को लेकर पश्चिम बंगाल सरकार से रिपोर्ट मांगी है। वहीं बंगाल प्रदेश इकाई के अध्यक्ष दिलीप घोष ने दावा किया है कि कोलकाता में नड्डा के कार्यक्रमों के दौरान यह देखा गया कि सुरक्षा इंतजामों में गंभीर खामियां थीं। ऐसा पुलिस विभाग की लापरवाही की वजह से था। नड्डा के काफि‍ले पर उस वक्‍त हमला हुआ जब वह डायमंड हार्बर में कार्यकार्ताओं से मिलने जा रहे थे।

ममता बोलीं- भाजपा के पास कोई काम नहीं

आरोपों से तिलमिलाई ममता बनर्जी ने कहा कि भाजपा के पास कोई काम नहीं है। कभी यहां गृह मंत्री अमित शाह होते हैं तो कभी चड्ढ़ा, नड्डा, फड्डा, भड्डा होते हैं। जब उन्‍हें यहां लोगों का समर्थन नहीं मिलता है तो वे अपने कार्यकर्ताओं से नौटंकी कराते हैं। आपके साथ सुरक्षाकर्मी हैं। कोई आप पर हमला कैसे कर सकता है?

नेताओं को निशाना बनाना चिंताजनक : राजनाथ

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि यह घटना पश्चिम बंगाल राज्य की गिरती कानून व्यवस्था का परिचायक है। लोकतंत्र में राजनीतिक नेताओं को इस तरह से निशाना बनाना बेहद चिंताजनक है। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष के काफि‍ले पर हुए हमले की गंभीरता को देखते हुए इसकी पूरी जांच की जानी चाहिए और इस घटना की जि‍म्मेदारी तय की जानी चाहिए।

नड्डा को अपेक्षित सुरक्षा नहीं दी : तोमर

केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर ने कहा कि बुधवार को भी समाचार आया था कि जैसी सुरक्षा नड्डा जी को अपेक्षित थी वो उन्हें नहीं दी गई। सामान्यतः मतभिन्नता लोकतंत्र में स्वाभाविक है लेकिन ऐसी घटनाएं देखने को नहीं मिलती थी। इस घटना पर ममता बनर्जी सरकार की अनदेखी घोर निंदनीय है। मैं संबंधित लोगों पर कार्रवाई की मांग करता हूं।

मुकुल रॉय बोले, जल्द लगाया जाए राष्ट्रपति शासन

इधर भाजपा उपाध्यक्ष मुकुल रॉय ने कहा कि पश्चिम बंगाल की वर्तमान स्थिति को देखते हुए पश्चिम बंगाल में तुरंत राष्ट्रपति शासन लगाया जाना चाहिए। हरियाणा के मुख्‍यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि यह घटना बहुत निंदनीय है। पश्चिम बंगाल में पिछले कुछ महीनों से हिंसात्मक गतिविधियां, खासकर राजनीतिक तौर पर जो सहनशीलता समाप्त हो रही है।