Home National गवर्नर के मुद्दे पर एमके स्टालिन के सपोर्ट में उतरीं ममता बनर्जी,...

गवर्नर के मुद्दे पर एमके स्टालिन के सपोर्ट में उतरीं ममता बनर्जी, फोन कर तमिलनाडु CM को दिया ये सुझाव | Mamata Banerjee dials Stalin suggests meeting of Oppn CMs on functioning of governors

3
0

Mamata Banerjee Calls MK Stalin: तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन राज्यपाल से गतिरोध को लेकर गैर बीजेपी शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों से समर्थन जुटा रहे हैं. इसके लिए उन्होंने हाल ही में सभी मुख्यमंत्रियों को चिट्ठी लिखी थी.

ममता बनर्जी ने CM स्टालिन को किया फोन

Image Credit source: PTI

Mamata Banerjee Calls MK Stalin: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन को फोन किया. इस दौरान उन्होंने सीएम स्टालिन से गैर-बीजेपी शासित राज्यों के राज्यपालों के कामकाज पर विपक्षी दलों के मुख्यमंत्रियों की बैठक बुलाने लिए कहा. तमिलनाडु के सीएम ने खुद ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी.

स्टालिन ने कहा कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मुझे फोन किया था. इस दौरान उन्होंने गैर-बीजेपी शासित राज्यों में राज्यपालों के अलोकतांत्रिक तरीके के कामकाज के खिलाफ हमारी पहल के लिए अपनी एकजुटता दिखाई और इसकी प्रशंसा की. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि इस मसले पर विपक्षी राज्यों के मुख्यमंत्रियों की एक बैठक बुलाई जाए, जिससे आगे की कार्रवाई तय की जा सके.

‘गवर्नर के लिए बिल मंजूरी की तय हो समय सीमा’

हाल ही में तमिलनाडु विधानसभा ने एक प्रस्ताव पारित किया था, जिसमें गवर्नर के लिए बिल मंजूरी की एक समय सीमा तय करने की मांग की गई थी. इसको लेकर मुख्यमंत्री स्टालिन ने गैर-बीजेपी राज्यों के मुख्यमंत्रियों कोएक पत्र भी लिखा था. राज्यपाल के लिए तय समय सीमा को लेकर केरल और दिल्ली के मुख्यमंत्रियों ने अपनी सहमति भी जताई थी.

भारतीय लोकतंत्र आज चौराहे पर खड़ा है- स्टालिन

एमके स्टालिन ने 10 अप्रैल को विधानसभा में यह प्रस्ताव पारित किया था. इसमें कहा गया था कि राज्यपाल काफी लंबे समय तक बिल को रोककर रखते हैं, इससे राज्य सरकारों के कामकाज पर असर पड़ता है. उन्होंने इस प्रस्ताव में राज्यपालों के लिए बिल मंजूरी की समय सीमा तय करने की मांग की. गैर बीजेपी शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों को लिखे पत्र में स्टालिन ने कहा कि भारतीय लोकतंत्र आज चौराहे पर खड़ा है. हम इसमें लुप्त होते दिखाई पड़ रहे हैं.