19.5 C
Bhopal
Wednesday, October 27, 2021
Home Tags Swadesh Kumar Senior Journalist Lucknow

Tag: Swadesh Kumar Senior Journalist Lucknow

  यूपी पुलिस के हत्थे चढ़े धर्मांतरण के बड़े खिलाड़ी 

लखनऊ।  उत्तर प्रदेश की योगी सरकार की सख्ती के बाद भी लव-जेहाद और धर्मांतरण की घटनाएं कम होने का नाम नहीं ले रही हैं।...

अभिव्यक्ति : यूपी में ‘माइंड गेम’ के सहारे सत्ता हासिल करने...

लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव जीतने और विरोधियों पर बढ़त बनाने के लिए तमाम राजनैतिक दलों ने ‘माइंड गेम’ शुरू कर दिया है,ताकि जनता के बीच उनकी पार्टी की लोकप्रियता का ग्राफ ऊपर और विरोधी दलों का नीचे की ओर खिसकता दिखाई दे। इसके लिए तमाम ‘टोने-टुटकों’ का सहारा लिया जा रहा है। दूसरों की खामियां तो अपनी खूबिया बढ़-चढ़कर गिनाई जा रही हैं। काले को सफेद और सफेद को काला दिखाया जा रहा है। रूठों को मनाया तो तमाम दलों के ठुकराए गए या फिर हासिए पर पड़े नेताओं को गले लगाया जा रहा है। सियासत के बाजार के पुराने चलन के अनुसार बड़ी मछलियां,छोटी मछलियों को खा जाती है की तर्ज कई बड़े दल, छोटे दलों का अपनी पार्टी में विलय की कोशिशों को भी धार देने में लगे हैं।

योगी के दिल्ली दौरे से छंटे आशंकाओं के ‘बादल’

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी चुनावी मोड में आ गई है। राज्य में हुए पिछले दो लोकसभा और 2017 के विधान सभा चुनाव में बीजेपी को शानदार जीत दिलाने के रणनीतिकार और तब के पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के कंधों पर इस बार भी यूपी में भाजपा का बेड़ा पार करने की जिम्मेदारी डाली गई है। इसी लिए चार साल तक जो कुछ यूपी में चलता रहा,उससे आगे बढ़कर पार्टी आलाकमान ने सोचना शुरू कर दिया है। चुनावी साल में वोट बैंक मजबूत करने के लिए पुराने साथियों को मनाया जा रहा है तो पार्टी के नाराज नेताओं/कार्यकर्ताओं को भी उनकी ‘हैसियत’ के हिसाब से ‘ईनाम’ देने की तैयारी कर ली गई है।

अभिव्यक्ति : दर्द-ए-कोरोनाःकोई जिंदगी से हारा, किसी को ‘सरकार ने...

लखनऊ। कोरोना महामारी के प्रकोप से शायद ही कोई परिवार बच पाया हो। किसी ने अपनों का खो दिया तो किसी के परिवार पर...

अभिव्यक्ति: विपक्ष के तीखे तेवरों को ‘कुंद’ करने के लिए बीजेपी...

भारतीय जनता पार्टी के शीर्ष नेतृत्व ने उत्तर प्रदेश की सत्ता में पुनः वापसी के लिए ‘मिशन-2022’ पर काम शुरू कर दिया है। एक तरह से अगले वर्ष होने वाले विधान सभा चुनाव के लिए केन्द्र ने कमान अपने हाथों में ले ली है। आलाकमान के  के कई बड़े नेता यूपी आकर संगठन और सरकार की ऊपर से नीचे तक नब्ज टटोल रहे हैं, लेकिन इस बात का भी ध्यान रखा जा रहा है कि नब्ज टटोलते समय सरकार या संगठन की कोई कमजोरी विरोधियों के हाथ नहीं लग जाए।