24.4 C
Bhopal
Saturday, November 26, 2022
Home Tags कवि जसवंत लाल खटीक

Tag: कवि जसवंत लाल खटीक

सोलह श्रृंगार…

आज सबको बतलाता हूँ , नारी के सोलह श्रृंगार । कोमल शरीर को सँवार के , सज जाती है देखो नार ।। परिवार की समृद्धि बढ़े , इसलिए नारी...

कविता: वेलेंटाइन डे स्पेशल  

अपनी अपनी मोह्हबत में , प्रेम के गीत गाते । आजकल के प्रेम दीवाने ,वेलेंटाइन डे मनाते ।।